नए ट्रकों की कीमतों में वृद्धि से पुराने ट्रकों की कीमतों में 30% का इजाफा

News Date 01 Feb 2022

नए ट्रकों की कीमतों में वृद्धि से पुराने ट्रकों की कीमतों में 30% का इजाफा

जानें कैसे पुराने ट्रकों की कीमतों में 20 से 30 प्रतिशत तक हुई वृद्धि 

ट्रक बाजार में पिछले करीब दो साल से अजब संयोग चल रहा है। जैसे ही नये ट्रकों की कीमत बढ़ती है तो पुराने ट्रकों की कीमतों में भी स्वत: ही उछाल आ जाता है। यहां बता दें कि इन दिनों पुराने ट्रकों की मांग काफी बढ़ रही है। यहां तक की पुराने ट्रकों की कीमतों में 20 से 30 प्रतिशत तक की वृद्धि आम बात है। ट्रक बाजार में चल रहे इस गणित ने नये ट्रकों को एक तरह से अफोर्डेबल बना दिया है। आइए, जानते हैं पुराने ट्रकों की रेट बढऩे के पीछे क्या हैं मुख्य कारण और कैसे नये ट्रक खरीदने से कतरा रहे हैं अनेक ट्रक व्यवसायी? 

क्यों बढ़ जाती हैं पुराने ट्रकों की कीमत

यहां आपको बता दें कि नये ट्रकों की कीमतें बढऩे के साथ इस्तेमाल किए गए पुराने ट्रकों की कीमतों में इजाफा हो जाता है। इस संबंध में सेगमेंट के फाइनेंसरों और खुदरा विक्रेताओं के अनुसार पिछले 12 महीनों में इस्तेमाल किए गए ट्रक की कीमतों में 18 से 20 और कई श्रेणियों में तो 30 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है। वहीं वर्ष के माह फरवरी 2021 से अब तक इस क्षेत्र में 20 प्रतिशत वितरण बढ़ा है। ऐसे में इस्तेमाल किए गए वाहनों की कीमत एलसीवी (LCV) और एचसीवी सहित सभी खंडों में दो कारणों से बढ़ रही है। इनमें पहला बीएस-6 की शुरूआत ने सभी खंडों में कीमतों में 12 से 20 प्रतिशत की वृद्धि की है। वहीं अब स्टील की कीमतों में 50 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि के साथ ओआईएम ने कीमतों में बढ़ोतरी की है। इसके अलावा फाइनेंसरों का यह भी मानना है कि अर्थव्यवस्था में सुधार के साथ ट्रक बेड़ा संचालक नया वाहन खरीदने के लिए पर्याप्त रूप से सक्षम नहीं हैं। यही कारण है कि वे पुराने ट्रकों की तलाश में रहते हैं। 

इस्तेमाल किए गए ट्रकों में बीएस-4 की ज्यादा मांग 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हालांकि नये परिवहन अनुबंध बीएस-6 वाहनों को अनिवार्य करते हैं लेकिन इस्तेमाल किए गए पुराने ट्रकों में बीएस-4 वाहन काफी तादाद में मिलते हैं। इधर महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंसियल सर्विसेज के एमडी रमेश अय्यर ने कहा है कि पुराने बीएस-4 ट्रकों की खासियत यह है कि इनके इंजन ईंधन कुशल और अपेक्षाकृत नये हैं।

महिंद्रा फस्र्ट चॉइस व्हील्स करता है ट्रकों की नीलामी 

इस्तेमाल किए गए या पुराने ट्रकों का भी बड़ा कारोबार है जो खासा फल-फूल रहा है। बता दें कि ट्रकों की बढ़ी हुई मांग में इस्तेमाल किए गए ट्रकों की नीलामी भी बड़ा कारण है। महिंद्रा कंपनी की फस्र्ट चॉइस व्हील्स इस दिशा में इस्तेमाल किए गए वाहनों का करीब 50 प्रतिशत हिस्सा बेचता है। यहां बता दें कि औसतन पुराने ट्रकों की कीमतों में पिछले एक साल में 18 प्रतिशत से भी अधिक वृद्धि देखी गई है। वर्तमान में यह वृद्धि 25 से 30 प्रतिशत तक हो गई है। 

ट्रक खरीदते समय रखें इन बातों का विशेष ध्यान 

यदि आप ट्रक व्यवसाय करते हैं तो जाहिर है आपके पास एक या इससे अधिक ट्रकों का होना बहुत जरूरी है। वहीं आप ट्रक खरीदने के लिए पहले अपने आपको तैयार कर लें। ट्रक नया खरीदें या पुराना लेकिन कुछ ऐसी बातें हैं जो आपको ट्रक का चुनाव करने में खासी मदद कर सकती हैं। यहां ये मुख्य बातें बताई जा रही हैं जो इस प्रकार हैं-: 

1. लोन स्वीकृत करवाना : ट्रक खरीदने के लिए आपको धन की व्यवस्था करनी होती है। यह धन कहां से आएगा? सभी के पास इतना पैसा नहीं होता कि वे एकमुश्त राशि का भुगतान स्वयं के स्तर पर कर सकें। इसके लिए आपको सबसे पहले बैंक या किसी फाइनेंस कंपनी से संपर्क साध कर ट्रक के लिए लोन मंजूर करवना होगा। 

2.  नया या पुराना ट्रक : ट्रक व्यवसाय के अंतर्गत दूसरी खास बात यह है कि आपके पास कितना बजट है। इस 
बजट के अनुकूल ही आपको यह तय करना होगा कि आप नया ट्रक खरीद सकते हैं या पुराना ट्रक खरीदेंगे। करीब 10 लाख रुपये के बजट से आप पुराना ट्रक ही खरीद सकोगे। 

3. ट्रक खरीदने का केंद्र : आप ट्रक कारोबार करने के लिए  नया या पुराना ट्रक खरीदने का निर्णय कर लेते हैं इसके बाद आपको यह देखना है कि ट्रक कहां से खरीदना है। आजकल ऑनलाइन भी ट्रक खरीदा जा सकता है। वहीं ऑफ लाइन में आप अपने किसी परिचित ट्रांसपोर्टर या रिश्तेदार से भी पुराना ट्रक खरीद सकते हैं। 

4. ट्रक की कंडीशन : ट्रक खरीदने के लिए आपको वाहन की कंडीशन भली प्रकार से देखनी चाहिए। अगर पुराना ट्रक खरीद रहे हैं तो इसमें और अधिक ध्यान देने की जरूरत है। इसके लिए बॉडी, इंजन, टायर, विंडो आदि की जांच करवा लेनी चाहिए। 

5. फ्यूल एवरेज : ट्रक की ईंधन आपूर्ति केे लिए उसकी फ्यूल एवरेज का परखना चाहिए। यदि यह कम है तो ईंधन की खपत ज्यादा होगी जिससे आप पर आर्थिक भार पड़ेगा जो लाभदायक नहीं होगा। 

6. माइलेज की परख : इसके तहत यह देखना है कि जो ट्रक आप खरीदने का मानस बना रहे हैं उसकी माइलेज क्या है। यानि वह गाडी कितने किलोमीटर तक चल चुकी है। 

7. कागजातों की जांच-पड़ताल : ट्रक खरीदते समय आपको उस ट्रक के दस्तावेजों की जांच करनी चाहिए। इसमें ट्रक की आरसी की जांच करें, यदि वह एक्सपायर हो गई है तो उनका नवीनीकरण भी करवाया जा सकता है। 

8. दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन कराएं : यहां बता दें कि ट्रक के लिए लोन लेने या फाइनेंस करने के लिए आपको आवश्यक दस्तावेजों के सत्यापन की आवश्यकता होती है। इसके लिए संबंधित आरसी आदि की वैधता का भी पता कर लें। 

9.  प्रमाणीकरण जानें :  परिवहन विभाग से जो दस्तावेज  बनाए जाते हैं उनका प्रमाणीकरण होना जरूरी है। कई बार इन बातों को दरकिनार कर जाते हैं। यदि ऐसा होता है तो आपके साथ धोखाधड़ी भी हो सकती है। 

10. लीगल एडवाइज जरूरी : यहां बता दें कि ट्रक नया हो पुराना लेकिन आपको लीगल एडवाइजर की मदद जरूर लेनी चाहिए। जैसे उस गाडी के नंबर पर दुर्घटना आदि का केस तो पेडिंग नहीं है। 

ट्रक जंक्शन की करें विजिट 

आप नया ट्रक खरीदें या पुराना इन दोनों ही स्थितियों के लिए ट्रक की बॉडी से लेकर सभी पार्टस, टायर, इंजन आदि का प्रारंभिक ज्ञान होना भी जरूरी है। इसके लिए बेहतर होगा कि आप ट्रक जंक्शन की विजिट कर लें यहां आपको हर प्रकार की जानकारी भी मिलेगी और नए एवं पुराने सभी कंपनियों के ट्रक भी आप खरीद सकते हैं।

यहां करें क्लिक 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें। 

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   -  https://bit.ly/TruckYT

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक