भारत को मिलेगा इलेक्ट्रिक हाईवे : ट्रेन की तरह बिजली से दौड़ेंगे ट्रक और बसे

News Date 19 Oct 2021

भारत को मिलेगा इलेक्ट्रिक हाईवे : ट्रेन की तरह बिजली से दौड़ेंगे ट्रक और बसे

दिल्ली से जयपुर तक का सफर 2 घंटे में होगा पूरा 

ईंधन और समय की बचत के साथ वाहन प्रदूषण से मुक्ति दिलाने  के लिए वर्तमान केंद्र सरकार ने जहां देश में दिल्ली-मुंबई सहित कई एक्सप्रेस की सौगातें दी हैं वहीं अब वे दिन दूर नहीं जब सडक़ों पर भी ट्रेन की तरह ट्रक और अन्य कमर्शियल वाहन तेज गति से दौड़ेंगे। केंद्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत भारत का पहला इलेक्ट्रिक हाइवे का निर्माण दिल्ली और जयपुर के मध्य किया जाएगा। पिछले दिनों राजस्थान के दौसा जिले  में दौरे पर आए केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि राष्ट्रीय राजाधानी दिल्ली से जयपुर तक इलेक्ट्रिक हाइवे का निर्माण करना उनका एक सपना है। इस परियोजना पर जल्द ही काम शुरू होने की उम्मीद है। यहां बता दें कि दिल्ली से जयपुर तक इलेक्ट्रिक हाइवे की प्रस्तावित परियोजना को साकार करने के लिए सरकार ने एक विदेशी कंपनी से बातचीत कर ली है, जल्द ही इस परियोजना के लिए बजट की घोषणा की जा सकती है। जानते हैं, क्या है इलेक्ट्रिक हाइवे की यह परियोजना और कैसे होता है इस पर वाहनों का हाईस्पीड से संचालन?

कैसे काम करता है इलेक्ट्रिक हाइवे 

यहां आपको बता दें कि इलेक्ट्रिक हाइवे की थीम विद्युत से संचालित ट्रेनों पर आधारित होगी। जिस तरह से रेलवे ट्रैक के ऊपर बिजली के तार लगे होते हैं और रेल के इंजन के ऊपर लगे एंटीना इन तारों से जुड़ कर इंजन को पावर प्रदान करते हैं ठीक उसी प्रकार इलेक्ट्रिक हाइवे भी काम करेगा। इलेक्ट्रिक हाइवे ट्रक और बस के हाइब्रिड वर्जन को बिजली की मदद से दौड़ाएगा। दिल्ली से जयपुर तक बनने वाले प्रस्तावित इलेक्ट्रिक हाइवे से दिल्ली से जयपुर तक की दूरी का सफर मात्र दो घंटे में पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है। 

स्वीडन से भी की थी गडकरी ने इलेक्ट्रिक हाइवे की बात

आपको याद दिला दें कि केंद्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को भारत में इलेक्ट्रिक हाइवे बनाने का विचार एकाएक नहीं आया। यह उनका ड्रीम प्रोजेक्ट था जिस पर वे कई वर्षों से मंथन करते आ रहे हैं और अब जल्द ही इसको साकार करने की तैयारी सरकार की ओर से की जा रही है। वर्ष 2016 में भी तत्कालीन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए गए एक साक्षात्कार में कहा था कि भारत में जल्द ही इलेक्ट्रिक हाइवे बन सकता है। उन्होंने इसके लिए स्वीडन के एंटरप्राइस एंड इनोवेशन मंत्री मिकेल डैमबर्ग के साथ वार्ता भी की थी। गडकरी का सपना यह भी है कि देश में डीजल और पेट्रोल आधारित वाहनों का चलन बिल्कुल बंद होना चाहिए। इसी के तहत देश भर में इस समय इलेक्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल और इनके अधिक से अधिक विनिर्माण पर जोर दिया जा रहा है। अब इलेक्ट्रिक हाइवे के निर्माण का काम भी जल्द शुरू होगा। इससे वाहन संचालकों के लिए समय और पैसा इन दोनों की बचत होगी। 

इलेक्ट्रिक हाइवे पर बनेंगे ईवी चार्जिंग स्टेशन 

आपको बता दें कि दिल्ली-जयपुर इलेक्ट्रिक हाइवे के निर्माण के बाद इस हाइवे पर इलेक्ट्रिक वाहनों की बैटरी को चार्ज करने के लिए थोड़ी- थोड़ी दूरी पर चार्जिंग प्वाइंट भी होंगे। वहीं जिस तरह से एक ट्रेन के ऊपर लगी बिजली की लाइन से ट्रेन के इंजन से बिजली के तार एक आर्म के जरिए कनेक्ट होते हैं उसी तरह से इलेक्ट्रिक हाइवे पर भी बिजली के तार लगाए जाएंगे। हाइवे पर चलने वाले वाहनों को इन वायर्स से इलेक्ट्रिीसिटी मिलेगी। इसे ही इलेक्ट्रिक हाइवे कहा जाता है। 

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रैस वे से अटैच होगा इलेक्ट्रिक हाइवे

यहां बता दें कि दिल्ली से जयपुर तक बनने वाले इलेक्ट्रिक हाइवे का निर्माण दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे से अटैच होते हुए तैयार किया जाएगा। केंद्रीय सडक़ एवं परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की है कि देश का पहला ई हाइवे दिल्ली और जयपुर के बीच बनाया जाएगा। 200 किलोमीटर लंबाई वाला यह ई हाइवे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रैसवे के साथ ही नई लेन पर बनाया जाएगा। यह लेन पूरी तरह से इलेक्ट्रिक होगी इस पर केवल इलेक्ट्रिक वाहन ही संचालित किए जा सकेंगे। सरकार की स्वीडन की कंपनियों से इस संदर्भ में बात चल रही है। यदि इलेक्ट्रिक हाइवे का यह प्रोजेक्ट पूरा होने पर दिल्ली से जयपुर तक का यह पहला इलेक्ट्रिक हाइवे कहलाएगा। 

ई हाइवे से ये होंगे फायदे 

दिल्ली-जयपुर इलेक्ट्रिक हाइवे के बनने के बाद कई तरह के फायदे लोगों को मिल पाएंगे। सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि इसमें वाहनों की आवाजाही सस्ती हो जाएगी। वहीं केंद्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने यह भी कहा है कि ई हाइवे से लॉजिस्टिक कॉस्ट में 70 प्रतिशत की कमी आ जाएगी। ई हाइवे से जो प्रमुख फायदे सभी लोगों को होंगे वे इस प्रकार हैं- 

  • वर्तमान में चीजों की कीमतों की बढ़ोतरी का मुख्य कारण ट्रांसपोर्टेशन लागत है। जब इस लागत में कमी होगी तो वस्तुओं की कीमतों में भी गिरावट आएगी। 
  • इलेक्ट्रिक हाइवे पूरी तरह से ईको फेंडली होंगे। वाहनों को चलाने के लिए भी इलेक्ट्रिसिटी का ही इस्तेमाल किया जाएगा। 
  • पेट्रोल-डीजल के मुकाबले इलेक्ट्रिक हाइवे पर यात्रा सस्ती होगी वहीं हादसों की भी कम से कम संभावना है। 

स्वीडन की तकनीक पर ही बनेगा ई हाइवे 

बता दें कि  विश्व के कई देशों में इलेक्ट्रिक हाइवे की टेक्नोलॉजी अलग-अलग है। भारत ने स्वीडन की तकनीक पर आधारित दिल्ली से जयपुर तक के इलेक्ट्रिक हाइवे बनाने का मसौदा तैयार कर लिया है। यहां बता दें कि स्वीडन में पेंटोग्राफ मॉडल इस्तेमाल किया जाता है, जो भारत में ट्रेनों में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसमें सडक़ के ऊपर एक वायर लगाया जाएगा। इस वायर में इलेक्ट्रिसिटी फ्लो होती है। एक पेंटोंग्राफ के जरिए इस बिजली को वाहन में सप्लाई किया जाता है। ये इलेक्ट्रिीसिटी डायरेक्ट इंजन को पावर प्रदान करती है। वहीं आपको बता दें कि स्वीडन और जर्मनी में जो इलेक्ट्रिक वाहन इस्तेमाल  होते हैं उनमें हाइब्रिड इंजन होता है। इसका मतलब यह है कि ये वाहन इलेक्ट्रिीसिटी के साथ पेट्रोल-डीजल से भी चल सकते हैं। 

इलेक्ट्रिक हाइवे पर ये वाहन चल सकते हैं

इलेक्ट्रिक हाइवे का इस्तेमाल अधिकांश तौर पर लॉजिस्टिक ट्रांसपोर्ट के लिए ही किया जा सकता है। यदि जर्मनी और स्वीडन के इलेक्ट्रिक हाइवे की बात की जाए तो यहां इनका इस्तेमाल लॉजिस्टक ट्रांसपोर्ट करने के लिए ही किया जाता है। पर्सनल व्हीकल जैसे कार, जीप बिजली से चलती है तो हैं लेकिन उन्हे बैटरी से ऑपरेट किया जाता है। इनमें डायरेक्ट सप्लाई केवल ट्रक और पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए उपयोग किए जाने वाले वाहनों में ही दी जाती है। अगर आपका पर्सनल व्हीकल इलेक्ट्रिक है तो आप इलेक्ट्रिक हाइवे का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

इलेक्ट्रिक हाइवे निर्माण में हैं बड़ी चुनौतियां 

कहने को इलेक्ट्रिक हाइवे बहुत सुगम और पैसा बचाने वाला है लेकिन इसका निर्माण एक जटिल प्रकिया है। बता दें कि सबसे बड़ी चुनौती इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने की है। इलेक्ट्रिक हाइवे बनाने का खर्च सामान्य सडक़ों के निर्माण के मुकाबले कई गुना ज्यादा होता है। इसके अलावा इसे रिप्लेस करने में भी ज्यादा समय लगता है

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक ट्रक या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates-

FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB

Instagram - https://bit.ly/TruckInsta

Youtube    -  https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक