दिल्ली एक्सप्रेसवे पर ‘इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम’ लॉन्च

News Date 24 Dec 2021

दिल्ली एक्सप्रेसवे पर ‘इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम’ लॉन्च

नितिन गडकरी ने किया दिल्ली एक्सप्रेसवे पर ‘इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम’ लॉन्च

भारत में विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्गों पर आए दिन वाहन दुर्घटनाएं होती रहती हैं। इन सडक़ हादसों में रोजाना कई लोगों की मौत भी हो जाती है। हर साल देश भर में घटित होने वाली करीब 5 लाख सडक़ दुर्घटनाओं में 1.5 लाख लोग अपनी जान गंवा देते हैं। इस तरह की सडक़ दुर्घटनाओं में कमी लाने और यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडक़री ने ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रैस-वे पर एक इंटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम का विधिवत उद्घाटन किया है। आइए, जानते हैं क्या है इंटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम और यात्रियों की सुरक्षा मे इस नये सिस्टम से कैसे मिलती है मदद? 

बुनियादी ढांचे का होगा विकास 

केंद्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर इंटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम का उद्घाटन कर हाइवे पर यात्रियों को सुरक्षा प्रदान करने में महत्वपूर्ण कदम उठाया है। बता दें कि भारत में पहली बार इस सिस्टम को लागू किया गया है। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि भारत को अपनी सडक़ इंजीनियरिंग में सुधार की जरूरत बनी हुई है। यहां हर साल  डेढ़ लाख लोगों की मौत सडक़ हादसों में हो जाती है। ऐसे में इन दुर्घटनाओं पर नियंत्रण के लिए यात्रियों को जागरूक करना बेहद जरूरी है। इसी के तहत डासना, गाजियाबाद में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सपे्रसवे पर पहला इंटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम लांच किया गया है। 

आईटीएस एक अत्याधुनिक तकनीक 

बता दें कि इंटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम अत्याधुनिक ऐसी तकनीक है जिससे यातायात संबंधी कई प्रकार की समस्याओं का समाधान  होता है वहीं यात्रा के समय में भी कमी आती है। इसके साथ ही यात्रियों में जागरूकता आने के कारण उनकी यात्रा सुरक्षित रहती है। सबसे बड़ी बात यह है कि आईटीएस से किसी भी दुर्घटना का पता लगते ही 10 से 15 मिनट के भीतर एंबुलेंस मौके पर पहुंच जाती है। इससे समय रहते घायल व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाया जा सकता है। हाइवे पर गति नियंत्रण के बारे में भी आईटीएस मदद करता है। कारों के लिए आईटीएस 120 किलोमीटर प्रति घंटा की गति तय करता है। 

मेरठ में 8,364 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही मेरठ में 240 किलोमीटर की 6 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इनकी कुल लागत 8,364 करोड़ रुपये है। इन परियोजनाओं के शिलान्यास अवसर पर गडकरी ने कहा कि परियोजनाओं से किसानों को अपनी फसल बाजार तक ले जाना आसान होगा। इससे उनके आर्थिक उत्थान के लिए अवसर मिलेंगे। वहीं उनका कहना था कि उद्योग का एक बड़ा केंद्र होने के कारण ये राजमार्ग मेरठ को विकास के रास्ते पर ले जाएंगे। इसके अलावा मुजफ्फरनगर में 755 करोड़ की 3 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन किया गया। यहां आयोजित सभा को संबोधित करते हुए गडकरी ने ईंधन के नये और किफायती विकल्पों के बारे में बताया कि देश के विकास के लिए इथेनॉल, हाइड्रोजन एवं अन्य जैविक ईंधनों के उपयोग से आत्मनिर्भरता बढ़ेगी।

राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा बोर्ड का होगा गठन 

बता दें कि एक ओर सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय एक्सप्रेस वे और प्रमुख हाइवे पर होने वाली दुर्घटनाओं में कमी लाने लिए इंटेलीजेंस ट्रांसपोर्ट सिस्टम लागू कर रहा है वहीं दूसरी ओर जल्द की राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा बोर्ड का गठन किया जाएगा। इसका मुख्यालय दिल्ली में होगा। वैसे अन्य शहरों में जरूरतों के हिसाब से कार्यालय स्थापित किए जा सकते हैं। वहीं बोर्ड में अध्यक्ष पद पर  भी नियुक्ति की जाएगी। इनकी संख्या कम से कम तीन होगी। 

ये रहेंगे राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा बोर्ड के कार्य 

बता दें कि नेशनल हाइवे पर सडक़ दुर्घटनाओं में कमी लाने और सडक़ सुरक्षा के लिए केंद्रीय परिवहन मंत्रालय की ओर से कई नये कदम उठाए जा रहे हैं। इनमें राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा बोर्ड की स्थापना भी प्रमुख कदम हैं। यहां बोर्ड के कार्यों के बारे में जानकारी दी जा रही है जो इस प्रकार है- 

  • पहाड़ी क्षेत्रों में सडक़ सुरक्षा, यातायात  प्रबंधन और सडक़ों के निर्माण के लिए विशेष मानक तैयार करना। 
  • यातायात पुलिस, अस्पताल प्राधिकरणों एवं राजमार्ग प्राधिकरणों, शैक्षिक और अनुसंधान संगठनों के लिए क्षमता निर्माण और कौशल विकास के लिए दिशा-निर्देश तय करना। 
  • केंद्र सरकार के विचारार्थ ट्रॉमा सुविधाओं और पैरा मेडिकल सुविधाओं की स्थापना और संचालन के लिए दिशा-निर्देश देना। 
  • सडक़ सुरक्षा और यातायात प्रबंधन पर केंद्र सरकार, राज्य सरकारों एवं स्थानीय प्राधिकरणों को तकनीकी सलाह व सहायता प्रदान करना। 
  •  सडक़ पर चलते समय किसी मुसीबत में पडऩे पर मदद के लिए प्रोत्साहित करना। 
  •  सडक़ सुरक्षा और यातायात प्रबंधन में अच्छे तौर-तरीको को प्रोत्साहन देना। 
  •  वाहन इंजीनियरिंग क्षेत्र में नई वाहन तकनीक को बढ़ावा देना। 
  •  सडक़ सुरक्षा, यातायात प्रबंधन, दुर्घटना जांच में सुधार के लिए अनुसंधान करना। 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें। 

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   -  https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक