ओमेगा सेकी विजाग ग्रीनफील्ड प्लांट को ELCV का एक्सपोर्ट हब बनाएगी

News Date 10 May 2022

ओमेगा सेकी विजाग ग्रीनफील्ड प्लांट को ELCV का एक्सपोर्ट हब बनाएगी

ओमेगा सेकी मोबिलिटी ने बनाई निर्यात की बड़ी योजना 

भारत में ईवी क्रांति के चलते अब इलेक्ट्रिक व्हीकल्स निर्माता कंपनियां इन वाहनों का उत्पादन बढ़ाने और भारत के अलावा विदेशों को इनका निर्यात करने की योजनाएं बना रही हैं। आपको बता दें कि ईवी निर्माता ओमेगा सेकी मोबिलिटी विजाग ग्रीनफील्ड प्लांट को निर्यात केंद्र बनाएगा और पहले चरण में अफ्रीका एवं खाड़ी देशों सहित आसियान क्षेत्र से आने वाली मांग को पूरी करेगा। इसके बाद अमेरिका और यूरोप देशों के लिए निर्यात करने की योजना है। यहां ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट के माध्यम से आपको ओमेगा सेकी मोबिलिटी कंपनी की इस महत्वाकांक्षी योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है। इसे अवश्य पढि़ए। 

उत्पादन का आधा हिस्सा विदेश भेजने की योजना

यहां बता दें इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी ओमेगा सेकी मोबिलिटी आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में अपनी नई विनिर्माण सुविधा का उपयोग निर्यात केंद्र के रूप में करेगा वहीं  इसमें उत्पादित इलेक्ट्रिक लाइट कमर्शियल वाहनों  की मात्रा का आधा हिस्सा विदेशी बाजार में भेजेगा। कंपनी के एक अधिकारी ने कहा कि पहले चरण में संयंत्र में अफ्रीका, खाड़ी देशों और आसियान क्षेत्र से आने वाली मांग को पूरा किया जाएगा। इसके बाद दूसरे चरण में अमेरिका और यूरोप को एलईसीवी निर्यात करने का लक्ष्य रखा गया है। 

फरीदाबाद स्थित कंपनी में एलसीवी की डिलीवरी शुरू 

यहां बता दें कि ओमेगा सेकी मोबिलिटी कंपनी ने अपने फरीदाबाद स्थित प्लांट में औपचारिक रूप से 3.5 टन के पेलोड के साथ अपने इलेक्ट्रिक चार पहिया हल्के वाणिज्यिक वाहनों एम-1, केएम की डिलीवरी शुरू कर दी है। यह 1 घंटे की फास्ट चार्जिंग के साथ 200 किमी की रेंज का दावा करता है। M1KA  रेंज 1 टन और 6.5 टन में भी उपलब्ध है। इनकी डिलीवरी क्रमश: मध्य जून और अगस्त तक शुरू हो जाएगी। वहीं विशाखापट्टनम में 106 एकड़ का संयंत्र ओमेगा सेकी की पहली सीवी निर्माण सुविधा है जो छोटे हल्के और भारी शुल्क वाले ट्रकों की एक श्रृंखला का उत्पादन करेगी। बता दें कि नई सुविधा की क्षमता 10,000 यूनिट प्रति माह है और अगले साल तक इसे बढ़ा कर 20,000 यूनिट प्रति माह करने की योजना है।

वैश्विक बाजारों के लिए कर रहा ओमेगा सेकी एलसीवी निर्माण

इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता ओमेगा सेकी मोबिलिटी अब भारत में वैश्विक बाजारों के लिए एलसीवी का निर्माण कर रहा है। कंपनी के संस्थापक उदय नारंग ने कहा है कि हम वैश्विक बाजारों के लिए निर्माण करना चाहते हैं। वहीं बंदरगाह के निकट होने के कारण नया विशाखापट्टनम संयंत्र मुख्य रूप से निर्यातोन्मुख होगा। इसके लगभग 50 प्रतिशत उत्पादों का निर्यात किया जाएगा। प्रथम चरण में खाड़ी देशों सहित अफ्रीका और आसियान क्षेत्र की मांग को पूरा किया जाएगा। इसके बाद अमेरिका और यूरोप को इलेक्ट्रिक लाइट कमर्शियल व्हीकल निर्यात किए जाएंगे। 

नये संयंत्र में ओमेगा सेकी ने 200 डॉलर का किया निवेश 

ओमेगा सेकी मोबिलिटी कंपनी ने विशाखापट्टनम में स्थापित अपने नये संयंत्र में 200 अमेरिकी डॉलर का निवेश किया है। वहीं धीरे-धीरे टिपर सेगमेंट में भी भारी ई ट्रकों के निर्माण में जाने की योजना है। कंपनी के संस्थापक उदय नारंग के अनुसार कंपनी के पास वर्तमान में घरेलू, अफ्रीकी और एशियाई बाजारों के लिए 1 और 3.5 टन ईएलसीवी की लगभग 100,000 इकाइयों का संयुक्त आर्डर है। वर्तमान में कंपनी आठ ईवी मॉडल तैयार करती है। इनमें पांच तिपहिया वाहन मॉडल और दो दुपहिया एवं एक ईएलसीवी शामिल है। इसने बैटरी आपूर्ति और फास्ट चार्जिंग एवं बैटरी स्वैपिंग इंफ्रास्ट्रैक्चर के लिए लॉग 9 मैटेरियल्स, अमारा राजा, एस्क्सिकॉम, सन मोबिलिटी एवं अन्य कई खिलाडिय़ों के साथ भागीदारी की है। यह कम लागत पर 50 मिनट की फास्ट चार्जिंग का उत्पादन करने के लिए एक्सपोंनेंट एनर्जी के साथ भी काम कर रहा है। 

ओमेगा सेकी की बैटरी निर्माण में भी प्रवेश की है योजना 

ईवी निर्माता ओमेगा सेकी मोबिलिटी की भावी योजना अमेरिका स्थित बैटरी प्रदाता कंपनी C4V  के साथ साझेदारी से बैटरी निर्माण करने की है। इस संबंध में ओमेगा सेकी मोबिलिटी के संस्थापक उदय नारंग ने कहा है कि बैटरी की सेल अमेरिका से होगी और मुख्यालय एसेंबली फरीदाबाद में होगी जहां हमने लगभग 50 करोड़ रुपये का निवेश किया है।  

ओमेगा सेकी का नया संयंत्र कर्नाटक में होगा स्थापित 

बता दें कि इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता ओमेगा सेकी मोबिलिटी का नया संयंत्र कर्नाटक में स्थापित किया जाएगा। यह नई सुविध तीन चरणों में होगी और इसकी उत्पादन क्षमता 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन प्रति वर्ष होगी। कंपनी ने गत दिनों की गई घोषणा में कहा कि कर्नाटक में एक इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित किया जाएगा। इसके लिए 250 अमरीकी डॉलर का निवेश किया जाएगा। वहीं कंपनी मेगा फैक्ट्री के निर्माण के लिए इक्विटी के साथ ऋण के रूप में धन जुटाएगी। आगामी वित्त वर्ष 2024 तक यह संयंत्र शुरू होगा। 

इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर के बढ़ते वॉल्यूम के लिए उपयुक्त 

यहां बता दें कि कर्नाटक में स्थापित होने जा रहे ओएसएम के नये संयंत्र को लेकर कंपनी का आंकलन है कि दुनिया में इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर्स की कुल वॉल्यूम का 46 प्रतिशत हिस्सा इस संयंत्र से हासिल करने में मदद मिलेगी। कंपनी का यह भी मानना है कि सरकारी निकायों में ईवीएस को अपनाने के लिए भारत सहित पूरी दुनिया में होड़ चल रही है ऐसे में हर कोई इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर के क्षेत्र में लीडर बनना चाहता है। ओमेगा सेकी मोबिलिटी का नया संयंत्र इलेक्ट्रिक व्हीकल की पूरी श्रृंखला की आपूर्ति करने में सफल होगा। 

ओएसएम को 50,000 इकाइयों के मिले अग्रिम ऑर्डर 

इलेक्ट्रिक वाहन निर्माण में अग्रणी कंपनी ओमेगा सेकी मोबिलिटी के पास वर्तमान में 50, 000 से अधिक ऑर्डर बुक हैं। कंपनी का कहना है कि वे अपने उत्पादन को बेहतरीन और सभी प्रकार के मौसम के अनुकूल बनाते हैं। चाहे हिमालय क्षेत्र की कड़ाके की ठंड हो या राजस्थान की प्रचंड गर्मी कैसे भी कठोर मौसम में ओएसएम के ईवी अपनी सेवाओं पर खरे उतरते हैं। भारत के करीब 20 शहरों में इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों के समूह ओमेगा सेकी मोबिलिटी से जुड़े हैं और ये प्रतिमाह अनुमानित 10 लाख किलोमीटर की दूरी तय करते  हैं। कंपनी के कई उद्यम मिश्र, संयुक्त अरब अमीरात और बांग्लादेश में चल रहे हैं। 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस, अपना ट्रक चुनें व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर विजिट करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   - https://bit.ly/TruckYT

टाटा ऐस गोल्ड पेट्रोल सीएक्स

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक