अशोक लेलैंड का नेट प्रॉफिट 525 फीसदी बढ़ा, एक साल में 131 फीसदी रिटर्न

News Date 26 Jun 2021

अशोक लेलैंड का नेट प्रॉफिट 525 फीसदी बढ़ा, एक साल में 131 फीसदी रिटर्न

मार्च तिमाही का रिजल्ट जारी, फाइनल डिविडेंड की घोषणा

हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लेलैंड ने मार्च तिमाही का शुक्रवार को रिजल्ट जारी किया है। इस तिमाही में कंपनी का शुद्ध मुनाफा 241.1 करोड़ रहा, जबकि मार्च 2020 तिमाही में कंपनी को 57.3 करोड़ का नुकसान हुआ था। इस तरह कंपनी के नेट प्रॉफिट में 525 फीसदी की तेजी आई है। इसके अलावा कंपनी की तरफ से फाइनल डिविडेंड की भी घोषणा की गई है। प्रति शेयर 60 पैसे डिविडेंड होगा। अब 8 सितंबर को एजीएम की बैठक में इस पर मुहर लगने की संभावना है।


एक साल में 131 फीसदी का रिटर्न, प्रमोटर की हिस्सेदारी 51.54 फीसदी

साल 2021 में अब तक अशोक लेलैंड के शेयर 35 फीसदी तक चढ़ गए हैं। कंपनी का मार्केट कैप 36 हजार 224 करोड़ रुपए का है। इस शेयर ने पिछले एक सप्ताह में 6 फीसदी का रिटर्न दिया है। तीन महीने में 12.48 फीसदी कर रिटर्न दिया है। इस साल अब तक 30 फीसदी और पिछले एक साल में 131 फीसदी का शानदार रिटर्न दिया है। इस कंपनी में प्रमोटर की हिस्सेदारी 51.54 फीसदी है। मार्च 2021 तिमाही में कंपनी के स्टैंड अलोन रेवेन्यू में 82 फीसदी की तेजी दर्ज की गई और यह 7000.5 करोड़ रुपए रहा जबकि मार्च 2020 में रेवेन्यू 3838.5 करोड़ रहा था।


रिजल्ट जारी होने के बाद अशोक लेलैंड के शेयरों में तेजी

अशोक लेलैंड के मार्च तिमाही के परिणाम जारी होने के बाद कंपनी के शेयरों में 9 फीसदी तक की तेजी आई। शुक्रवार दोपहर करीब एक बजे एनएसई पर इसका शेयर 4.50 फीसदी की तेजी के साथ 123.50 रुपए के स्तर पर ट्रेड कर रहा था। कारोबार के दौरान यह 129.50 रुपए के स्तर तक पहुंचा था। कंपनी के शेयरों का अभी तक का न्यूनतम स्तर 122.20 रुपए है। इस शेयर ने पिछले एक साल में शानदार रिटर्न दिया है। 52 सप्ताह का इसका उच्चतम स्तर 138.90 रुपए और न्यूनतम स्तर 46.65 रुपए है।


कर पश्चात मुनाफा छह गुना बढ़ा

वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही के दौरान उसका समेकित कर पश्चात मुनाफा छह गुना से अधिक बढक़र 377 करोड़ रुपए हो गया। अशोक लेलैंड ने एक बयान में कहा कि पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के दौरान समेकित आय 8 हजार 142 करोड़ रुपए रही, जबकि इससे एक साल पहले की समान अवधि में यह आंकड़ा 5 हजार 088 करोड़ रुपए था।


ईएसजी का गठन

अशोक लेलैंड ने एक अलग विज्ञप्ति में शुक्रवार को कहा कि उसने अपने स्थिरता एजेंडे के लिए एक पर्यावरण, सामाजिक और प्रशासनिक (ईएसजी) समिति का गठन किया है, जिसकी अध्यक्षता एक स्वतंत्र निदेशक एन वी बालाचंदर करेंगे।

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक