Detect your location
Select Your location
Clear
  • Pune
  • Bangalore
  • Mumbai
  • Hyderabad
  • Chennai
Popular Cities
Pune
Bangalore
Mumbai
Hyderabad
Chennai
jaipur
Bajaj Etec RE 9.0
सौरजेश कुमार
19 जून 2024

नेशनल हाईवे पर ग्रीनरी बढ़ाएगी एनएचएआई, लगाएगी ये खास पौधे

By सौरजेश कुमार News Date 19 Jun 2024

नेशनल हाईवे पर ग्रीनरी बढ़ाएगी एनएचएआई, लगाएगी ये खास पौधे

हाईवे का सफर होगा खूबसूरत, मियावाकी वृक्षारोपण से बढ़ेगी ग्रीनरी

सड़कों के सफर को खूबसूरत बनाने और उसके व्यू को सुधारने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। सरकार नेशनल हाईवे के सफर के दौरान लोगों को अच्छा व्यू देने के लिए इंफ्रा सुधार के साथ साथ वृक्षारोपण पर भी ध्यान दे रही है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने मंगलवार को बताया कि वो दिल्ली-एनसीआर और इसके आसपास के नेशनल हाईवे पर मियावाकी वृक्षारोपण करेगा। मियावाकी वृक्षारोपण, एक जापानी पद्धति है जिससे हाईवे के डिवाइडर पर घने और अच्छे सुंदर लुक वाले वन विकसित हो जाते हैं। एनएचएआई राष्ट्रीय राजमार्गों को ग्रीनरी देने के लिए राजमार्गों से सटे भूमि पर मियावाकी वृक्षारोपण शुरू करने की अनूठी पहल शुरू करेगा।

क्या होगा फायदा?

इस वृक्षारोपण अभियान से एनएचएआई हाईवे पर ग्रीनरी को बढ़ाएगी। जिससे आने जाने वाले यात्रियों का सफर आसान और खूबसूरत होगा। इससे यात्रा के दौरान सफर में आनंद और सौंदर्य में बढ़ोतरी होगी। गौरतलब है कि बढ़ते इन्फ्रा निर्माण के साथ देश में टोल टैक्स प्लाजा की भी संख्या बढ़ रही है जो सफर के बदले टोल शुल्क लेती है। एनएचएआई के इस कदम से लोगों का सफर ज्यादा खूबसूरत होगा और लोग टोल का भुगतान करते हुए सड़क के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित होंगे।

मियावाकी पद्धति का उपयोग करने से न केवल ग्रीनरी बढ़ेगा बल्कि राष्ट्रीय राजमार्गों के किनारे रहने वाले नागरिकों के स्वास्थ्य और कल्याण में भी बढ़ोतरी होगी। साथ ही एनसीआर में राष्ट्रीय राजमार्गों पर यात्रा के सौंदर्य में बढ़ोतरी होगी। 

53 एकड़ से ज्यादा भूमि की हो चुकी है पहचान

मियावाकी वृक्षारोपण शुरू करने के लिए विभिन्न स्थानों पर 53 एकड़ से ज्यादा भूमि क्षेत्र की पहचान की गई है। जैव वन स्थापित करने के लिए दिल्ली-एनसीआर और उसके आसपास जगहों को चिन्हित कर लिया गया है।

बयान के अनुसार, राष्ट्रीय राजमार्गों के साथ मियावाकी वृक्षारोपण के विकास के लिए प्रस्तावित कुछ स्थलों में द्वारका एक्सप्रेसवे के हरियाणा खंड के साथ 4.7 एकड़ भूमि की पहचान की गई। इसके अलावा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के दिल्ली-वडोदरा खंड पर सोहना के पास 4.1 एकड़ की भी पहचान कर ली गई है। साथ ही हरियाणा में अंबाला-कोटपूतली कॉरिडोर के एनएच 152 डी पर चाबरी और खरखरा इंटरचेंज पर लगभग 5 एकड़ जमीन का चिन्हित किया जाना शामिल है। बता दें कि राष्ट्रीय राजमार्ग 709 बी पर और शामली बाईपास पर 12 एकड़ से अधिक जमीन पर पौधा रोपण किया गया है।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

 Facebook - https://bit.ly/TruckFB

☞  Instagram - https://bit.ly/TruckInsta

 YouTube   - https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Call Back Button Call Us