टाटा मोटर्स महाराष्ट्र में वाहन स्क्रैपिंग सेंटर स्थापित करेगा

News Date 18 Dec 2021

टाटा मोटर्स महाराष्ट्र में वाहन स्क्रैपिंग सेंटर स्थापित करेगा

टाटा मोटर्स ने महाराष्ट्र सरकार के साथ किया एमओयू 

भारत की शीर्ष  वाणिज्यिक वाहन निर्माता कंपनी टाटा मोटर्स जल्द ही महाराष्ट्र में पंजीकृत स्क्रैपिंग सेंटर की स्थापना करेगी। इसके लिए हाल ही टाटा मोटर्स ने महाराष्ट्र सरकार के साथ एमओयू किया है। बता दें कि इस समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर के जरिए टाटा मोटर्स को वाणिज्यिक वाहनों के लिए प्रति वर्ष करीब 35,000 वाहनों की रीसाइक्लिंग क्षमता के साथ स्क्रैपेज सेंटर स्थापित करने में मदद मिलेगी। वहीं कंपनी का मानना है कि राज्य के उद्योग, ऊर्जा एवं श्रम विभाग की सुविधा की स्थापना के लिए नियमों एवं विनियमों के अनुसार आवश्यक अनुमोदन की सुविधा में भी सहायता मिल सकेगी। आइए, जानते हैं टाटा मोटर्स का महाराष्ट्र सरकार के साथ हुआ यह एमओयू इस राज्य के वाणिज्यिक वाहन संचालकों के लिए किस तरह से होगा फायदेमंद और कंपनी एवं सरकार को इससे क्या लाभ मिलेगा। 

टाटा मोटर्स कर रही देशभर में स्क्रैपिंग सुविधाओं की पहल 

यहां बता दें कि टाटा मोटर्स ने ना सिर्फ महाराष्ट्र सरकार के साथ पहली बार इस तरह का एमओयू हस्ताक्षर किया है जिसके तहत राज्य में पंजीकृत स्क्रैपिंग की सुविधा मिल पाएगी बल्कि इससे पहले गुजरात के अहमदाबाद में भी टाटा मोटर्स स्क्रैपिंग सेंटर वहां की सरकार के सहयोग से खोलने की पहल कर चुकी है। इस संबंध में टाटा मोटर्स के कार्यकारी निदेशक गिरीश वाघ ने कहा है कि हमें नीति निर्माताओं के साथ साझेदारी करने पर गर्व है। देश भर में टाटा मोटर्स स्क्रैपिंग सुविधाएं स्थापित करने की पहल कर रही है। भारत के परिवहन क्षेत्र में यह सही कदम है। अब महाराष्ट्र सरकार के साथ किए गए एमओयू से प्रस्तावित स्क्रैपेज सेंटर में अवधिपार होने वाले वाणिज्यिक वाहनों के लिए प्रति वर्ष 35,000 वाहनों तक रीसाइक्लिंग की क्षमता होगी। यह  पंजीकृत वाहन स्क्रैपिंग सुविधा  उन  कई सुविधाओं में से एक है जो फ्रैंचाइजी मॉडल के अंतर्गत उसके भागीदारों की मदद से स्थापित की जाएगी। उन्होंने कहा कि जाने-माने लाभों के अलावा इस समझौता ज्ञापन से मोबिलिटी क्षेत्र में उनका नेतृत्व मजबूत होगा और प्रतिबद्धता को दोहराने में मदद मिलेगी। 

यह होगा एमओयू का फायदा 

टाटा मोटर्स का महाराष्ट्र सरकार के साथ किए गए एमओयू से सरकार को स्क्रैप और कच्चे तेल के लिए कम आयात करना होगा, वहीं एमएसएमई के लिए नौकरी के अवसर, ओईएम के लिए नए वाहन की बिक्री में वृद्धि की संभावना, वाहन मालिकों के लिए संचालन लागत, सुरक्षित एवं स्वच्छता जैसे लाभ मिलेेंगे। इसके अलावा उपभोक्ताओं के लिए वाहन और सभी के लिए एक स्थायी वातावरण तैयार होगा। 

ग्राहकों को लोन के लिए बंधन बैंक से भी मिलाया हाथ 

यहां बता दें कि टाटा मोटर्स ने जहां एक ओर गुजरात और महाराष्ट्र में वाहन स्क्रैपेज सेंंटर खोलने के लिए इन राज्यों की सरकारों के साथ समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर किए हैं वहीं अपने ग्राहकों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए कंपनी ने हाल ही बंधन बैंक से भी हाथ मिलाया है। इस तरह से टाटा मोटर्स के ग्राहक कंपनी के अधिकृत डीलर या बंधन बैंक शाखा कार्यालय पर संपर्क कर इस योजना का लाभ ले सकते हैं। बैंक के साथ कंपनी के समझौते के अनुरूप ग्राहकों को 7.50 प्रतिशत से शुरू होने वाली ब्याज दर पर आसानी से ऋण मुहैया हो जाएगा। 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें। 

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   -  https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक