टाटा पावर की योजना : 5 साल में बनेंगे 10 हजार चार्जिंग स्टेशन

News Date 02 Nov 2021

टाटा पावर की योजना : 5 साल में बनेंगे 10 हजार चार्जिंग स्टेशन

जानें, टाटा पावर देश में कहां-कहां बना रहा है ईवी चार्जिंग स्टेशन

भारत में जिस गति से इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड बढ रही है उसी के अनुरूप देश में चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने होंगे तभी इनके इस्तेमाल के प्रति लोगों का उत्साह और अधिक बढ़ेगा। वर्तमान में भारत में 70,000 से अधिक ईंधन पंप है जो देश में गतिशीलता की नींव तैयार करते हैं। अब इलेक्ट्रिक वाहनों का चलन शुरू हो चुका है इसके लिए हर शहर और हाइवे पर ईवी चार्जिंग स्टेशनों की जरूरत बढऩे लगी है। यहां बता दें कि टाटा पावर कंपनी ( Tata Power Company ) ने देश भर में 10,000 चार्जिंग स्टेशन बनाने का बीडा उठाया है। आइए, जानते हैं टाटा पावर देश में कहां-कहां बना रहा है ईवी चार्जिंग स्टेशन। 


अब तक टाटा पावर ने 961 स्टेशन किए स्थापित 

यहां बता दें कि टाटा पावर कंपनी की ओर से अब तक देश के विभिन्न हिस्सों में 961 ईवी चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए जा चुके हैं। इनमें 7 से 11 किलोवाट के 250 स्लो एसी चार्जिंग प्वाइंट, 15 से 30 किलोवाट के 523 फास्ट डीसी चार्जर, 188 उच्च क्षमता वाले चार्जर मिश्रण शामिल हैं। वहीं कंपनी का लक्ष्य है कि चालू वित्त वर्ष में वर्तमान आंकड़ा 961 को दोगुुना से ज्यादा यानि 2000चार्जिंग स्टेशनों में बदल दिया जाएगा। आगामी पांच सालों में टाटा पावर ( Tata Power )देश में 10,000 ईवी चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने में सफल होगा। 


टाटा पावर के एमडी ने यह कहा 

टाटा पावर के एमडी और सीईओ प्रवीन सिन्हा ने कहा है कि हमें आज देश में पेट्रोल पंपों की संख्या का अनुमान नहीं लगाना चाहिए। आंतरिक दहन इंजन के मामलों में निकट भविष्य में पेट्रोल पंपों पर भी उपलब्ध होने वाले चार्जिंग स्टेशनों से बैटरी को रिफिल कराया जा सकेगा। उन्होंने दोहराया कि कंपनी पांच सालों में 10,000 चार्जिंग स्टेशन उपलब्ध कराएगी। 


चार्जिंग स्टेशनों के पास विकसित होगा पर्यावरण केंद्र 

टाटा पावर की ओर से देश में बनाए जा रहे ईवी चार्जिंग स्टेशनों के आसपास पारिस्थितिकी का विकास होगा ओर पर्यावरण केंद्र बनेंगे। कंपनी के सीईओ प्रवीण सिन्हा ने कहा है कि अभी कंपनी को चार्जिंग से होने वाला राजस्व दशमलव बिंदुओं में मिल रहा है और निकट भविष्य में अभी इसके बदलने की संभावना नहीं है। लेकिन कंपनी इस योजना को लंबी अवधि के लिए देख रही है जब कंपनी द्वारा स्थापित किए गए सभी चार्जिंग स्टेशनों के आसपास पारिस्थितिकी तंत्र विकसित होगा। उनका  मानना है कि इलेक्ट्रिक चार पहिया वाहनों में यात्री वाहनों के विकल्प की कमी सबसे ज्यादा अखर रही है। वर्तमान में केवल टाटा मोटर्स के पास ही किफायती नेक्शन ईवी और टिगोर ईवी जैसे उत्पाद हैं। 


देश में वर्तमान में ईवी संचालन की दर मात्र 3 प्रतिशत 

टाटा समूह के एमडी प्रवीण सिन्हा के अनुसार पूरे देश में इलेक्ट्रिक वाहन संचालन की दर का आंकलन किया जाए तो यह 1 से 3 प्रतिशत के करीब है। इसे आगामी दिनों में कम से कम 20 प्रतिशत तक पहुंचाने की जरूरत है। उन्होंनें कहा कि हम बैटरी स्वैपिंग स्टेशनों सहित सभी विकल्पों पर विचार करने के लिए तैयार हैं। इस क्षेत्र को विकसित करने में जो भी सहायता चाहिए वे करने को तैयार हैं। चार्जिंग स्टेशनों को भी वे फास्ट चार्जर से जोडऩे पर विचार कर रहे हैं। वर्तमान में टाटा पावर समूह के पास 50 किलोवाट डीसी फास्ट चार्जर हैं लेकिन हम 200 किलोवाट चार्जर तक ला सकते हैं। यदि इसके लिए ग्राहकों की ओर से मांग और अधिक व्यापक बने। 


हाउसिंग सोसायटियों में चार्जिंग की सुविधा 

टाटा पावर के सीईओ और प्रबंध निदेशक सिन्हा का यह भी कहना है कि बड़े शहरों के बहुमंजिला इमारतों मेंं रेजिडेंस एसोसिएशन की जरूरत के अनुसार कंपनी ऐसे हाउसिंग ग्रुपों में ईवी चार्जिंग की सुविधा प्रदान करने में कोई उदासीनता नहीं बरतती। आजकल नए अपार्टमेंट खुद अपने परिसर में चार्जिंग प्वाइंट चाहते हैं। इससे वे लोग भी इलेक्ट्रिक वाहन खरीदेंगे जो अभी तक इन वाहनों को इसलिए नहीं खरीदना चाहते थे क्योंकि बैटरी चार्जिंग प्वाइंट उपलब्ध नहीं थे।

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक ट्रक या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें। 

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube    -  https://bit.ly/TruckYT

टाटा एस गोल्ड एचटी प्लस

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक