Detect your location
Select Your location
Clear
  • Pune
  • Bangalore
  • Mumbai
  • Hyderabad
  • Chennai
Popular Cities
Pune
Bangalore
Mumbai
Hyderabad
Chennai
jaipur
Montra
1 जून से ट्रैफिक रूल तोड़ने पर होगा 25,000 रुपए तक का चालान, देखें चालान लिस्ट वोल्वो लांच करेगा हाइड्रोजन ट्रक, किफायती होगा कमर्शियल ट्रांसपोर्ट भारत में जल्द खुलेगा इलेक्ट्रिक एक्सप्रेसवे, बिजली से चलेंगे बस और ट्रक जेवो एंड जेन मोबिलिटी ने किया समझौता, पेश करेगी 3000 किफायती माइक्रोपॉड डेमलर इंडिया हेवी ड्यूटी ट्रकों में आएगा ऑटोमेटेड मैनुअल फीचर्स, मिलेगी ज्यादा सेफ्टी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर किन वाहनों को कितना देना पड़ेगा टोल, देखें लिस्ट यूपी में कमर्शियल वाहनों पर बढ़ेगा रोड टैक्स, नया टैक्स सिस्टम लाएगी सरकार भारत में ड्राइविंग लाइसेंस नियमों में हुआ बदलाव, 1 जून से होंगे लागू
Rakesh Khandelwal
22 अप्रैल 2024

बंदरगाह पर काम आने वाले 6500 ट्रकों को इलेक्ट्रिक वाहन में बदला जाएगा

By Rakesh Khandelwal News Date 22 Apr 2024

बंदरगाह पर काम आने वाले 6500 ट्रकों को इलेक्ट्रिक वाहन में बदला जाएगा

जवाहर लाल नेहरू पोर्ट अथॉरिटी पर “जीरो एमिशन ट्रकिंग” की पहल, 5 साल में पूरा होगा लक्ष्य

केद्र सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने की दिशा में लगातार काम कर रही है। अब सरकार ने बंदरगाह व उसके आसपास काम करने वाले 6500 डीजल ट्रकों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने का रणनीति बनाई है। पहले चरण में 15 से अधिक डीजल ट्रकों को बैटरी चलित वाहनों में बदला जाएगा। दूसरे चरण में 400 ट्रकों से अधिक ट्रकों को इलेक्ट्रिक में बदला जाएगा। अंतिम चरण में शेष ट्रकों को ईवी में तब्दील किया जाएगा। 6500 से अधिक डीजल ट्रकों को इलेक्ट्रिक वाहन में बदलने की प्रक्रिया करीब 5 साल में पूरी होगी। सरकार की यह पहल सबसे पहले जवाहर लाल नेहरू पोर्ट अथॉरिटी (जेएनपीए) के लिए शुरू की गई है। आइए, ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में सरकार की इस महत्वपूर्ण योजना के बारे में विस्तार से जानते हैं।

जेएनपीए पर “जीरो एमिशन ट्रकिंग” : बंदरगाह पर कार्बन उत्सर्जन कम करने की पहल

जवाहरलाल नेहरू पोर्ट अथॉरिटी (जेएनपीए) भारत के प्रमुख कंटेनर-हैंडलिंग बंदरगाहों में से एक है। 26 मई, 1989 को अपनी स्थापना के बाद से जेएनपीए ने अपने आपको बल्क कार्गो टर्मिनल से देश के प्रीमियम कंटेनर टर्मिनल में परिवर्तित किया है। यह बंदरगाह 277 हेक्टेयर भूमि पर स्थित है। यहां पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में ट्रक, कंटेनर ट्रक से माल का परिवहन होता है। ये सभी ट्रक डीजल संचालित है और बड़ी मात्रा में कार्बन उर्त्सजन करते हैं। अब जेएनपीए के प्रशासन ने बंदरगाह परिसर के भीतर डीकार्बोनाइजिंग के लिए अपने ट्रक बेड़े को डीजल से इलेक्ट्रिक पावर में बदलने की महत्वाकांक्षी योजना शुरू की है। तीन चरण में इस कार्य को पूरा किया जाएगा।

“जीरो एमिशन ट्रकिंग” की शुरुआत इंटर टर्मिनल रेल परिचालन सेवाओं से

जेएनपीए में “जीरो एमिशन ट्रकिंग” पहल की शुरुआत इंटर टर्मिनल रेल परिचालन सेवाओं से जुड़े ट्रकों से होगी। जेएनपीए के अध्यक्ष उन्मेश शरद वाघ ने बताया कि अगले पांच वर्षों में जीरो एमिशन ट्रकिंग (ZET) का लक्ष्य हासिल करने के लिए बदलाव की प्रक्रिया कई चरणों में संपन्न होगी, जिसकी शुरुआत इंटर टर्मिनल रेल परिचालन में सेवा देने वाले 15 से अधिक ट्रकों को छह महीने में इलेक्ट्रिक में परिवर्तित किया जाएगा। इसके बाद अगले कुछ वर्षों में जहाज और यार्ड संचालन के लिए टर्मिनलों के भीतर चलने वाले 400 से अधिक डीजल ट्रकों को इलेक्ट्रिक में परिवर्तित किया जाएगा। वाघ के अनुसार अंतिम चरण में आने वाले 3-5 वर्षों में टर्मिनलों पर सेंट्रलाइज्ड पार्किंग प्लाजा ट्रकों सहित कंटेनरों से कंटेनर फ्रेट स्टेशनों और इसके विपरीत चलने वाले 6,500 से अधिक ट्रकों को इलेक्ट्रिक में परिवर्तित किया जाएगा।

2030 तक इलेक्ट्रिफाइड पोर्ट बनाने का लक्ष्य

जवाहरलाल नेहरू पोर्ट अथॉरिटी (जेएनपीए) के विशाल परिसर में अधिकांश ट्रक डीजल से संचालित होते हैं जो बड़े पैमाने पर प्रदूषण और कार्बन उत्सर्जन में योगदान देते हैं। बंदरगाह परिसर में डीकार्बोनाइजिंग ट्रक मूवमेंट की भूमिका को पहचानते हुए, जेएनपीए ने ट्रक बेड़े को डीजल से इलेक्ट्रिक पावर में बदलने की महत्वाकांक्षी योजना शुरू की है। जेएनपीए को 2030 तक इलेक्ट्रिफाइड पोर्ट बनाने का लक्ष्य तय किया गया है। वाघ ने बताया कि हरित सागर गाइडलाइन्स और एमआईवी 2024 जैसे राष्ट्रीय स्थिरता लक्ष्यों के साथ जेएनपीए को ZET में परिवर्तन करने का लक्ष्य 2030 तक पूरा कर लिया जाएगा। अधिकारियों के अनुसार 35 साल पुराना जेएनपीए देश का प्रमुख कंटेनर हैंडलिंग बंदरगाह है, जो कुल कंटेनर कार्गो वॉल्यूम का लगभग 50 प्रतिशत हिस्सा है। वर्तमान में, जेएनपीए दुनिया के शीर्ष 100 कंटेनर बंदरगाहों में वैश्विक स्तर पर 26वें स्थान पर है, और दुनिया भर में 200 से अधिक बंदरगाहों से जुड़ा हुआ है।

भारतीय कमर्शियल व्हीकल्स मार्केट से जुड़ी सभी अपडेट ट्रक जंक्शन आप तक पहुंचाता है। भारत में नये मॉडल का ऑटो रिक्शामिनी ट्रक, पिकअप, टेंपो ट्रैवलर, ट्रक, टिपर या ट्रांजिट मिक्सर लॉन्च होते ही हम सबसे पहले आपको उसकी सभी स्पेसिफिकेशन्स, फीचर्स और कीमत समेत पूरी जानकारी उपलब्ध करवाते हैं। देश में लॉन्च होने वाले या लॉन्च हो चुके सभी कमर्शियल व्हीकल्स के मॉडल और ट्रांसपोर्ट से जुड़ी खबरें ट्रक जंक्शन पर रोजाना प्रकाशित की जाती है। ट्रक जंक्शन आप तक ट्रकों की प्रमुख कंपनियां जैसे टाटा मोटर्समहिंद्रा एंड महिंद्राअशोक लेलैंड और वोल्वो सहित कई कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट पहुंचाता है, जिसमें ट्रकों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी शामिल है। यदि आप भी हमसे जुड़ना चाहते हैं, तो हमारी इस ट्रक जंक्शन बेवसाइट के माध्यम से मासिक सदस्य के रूप में आसानी से जुड़ सकते हैं।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

Facebook - https://bit.ly/TruckFB

Instagram - https://bit.ly/TruckInsta

YouTube   - https://bit.ly/TruckYT 

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Call Back Button Call Us