Detect your location
Select Your location
Clear
  • Pune
  • Bangalore
  • Mumbai
  • Hyderabad
  • Chennai
Popular Cities
Pune
Bangalore
Mumbai
Hyderabad
Chennai
jaipur
Montra
नई सॉफ्टवेयर तकनीक से लैस ट्रक बनाने के लिए वोल्वो ग्रुप और डेमलर के बीच एग्रीमेंट फाडा कंबाइंड कमर्शियल व्हीकल सेल्स रिपोर्ट अप्रैल 2024 : 261,519 यूनिट्स बेचे गाड़ियों के इंश्योरेंस को लेकर सुप्रीम कोर्ट की बड़ी टिप्पणी, हो जाएं अलर्ट इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर में मिलेंगे लेटेस्ट सॉफ्टवेयर, अल्टीग्रीन यूजर्स को मिलेगा फायदा कमर्शियल वाहनों में होने चाहिए ये 5 फीचर्स, आपका काम करेंगे आसान छोटे कमर्शियल वाहनों पर नए ऑफर के साथ एंट्री लेगी मुरुगप्पा ग्रुप महिंद्रा का नया मेटल बॉडी ट्रेओ प्लस ई-ऑटो हुआ लांच, जानें कीमत सेकेंडों में चार्ज होगी ईवी की बैटरी, कोरियाई वैज्ञानिकों की बड़ी खोज
13 Jun 2022
Automobile

अल्टिग्रीन कंपनी पूर्ण इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी बनने की ओर अग्रसर

By News Date 13 Jun 2022

अल्टिग्रीन कंपनी पूर्ण इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी बनने की ओर अग्रसर

अल्टिग्रीन का लास्ट माइल ट्रांसपोर्टेशन पर रहेगा ध्यान केंद्रित

ऑटोमोबाइल क्षेत्र में रिलायंस समर्थित अल्टिग्रीन स्टार्टअप अब किसी कंपनी के भरोसे नहीं रहेगा। वह एक पूर्ण एकीकृत इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता बनने का संकल्प कर चुका है। यहीं वह भारत की पहली एकमात्र इलेक्ट्रिक लास्ट माइल ट्रांसपोर्टेशन कंपनी बनना चाहता है। अल्टिग्रीन के संस्थापक अभिताभ सरन ने कहा है कि वित्तीय वर्ष 2023 में संगठित तिपहिया उद्योग में इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी 20 प्रतिशत होगी और अगले दो-तीन वर्षों में पूरी तरह से इलेक्ट्रिक बनने की क्षमता होगी। आइए, ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में जानते हैं नौ साल पुराने इस स्टार्टअप को आखिर पूर्ण इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी बनने की प्रेरणा कैसे और कहां से मिली।

जानें, अल्टिग्रीन स्टार्टअप के जन्म की कहानी

ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में यहां आपको बता दें कि अल्टिग्रीन एक पावरट्रेन सप्लायर के रूप में भारत में अपनी खास पहचान बना चुका है लेकिन अब इसके संस्थापक को महसूस हो रहा है कहीं ना कहीं उन्होंने गलती की है। संभवतया यह गलती ईवी निर्माण में अब तक ध्यान नहीं देना और स्वतंत्र रूप से ईवी निर्माता नहीं बनने की रही। सबसे पहले जानते हैं कैसे अल्टिग्रीन का जन्म हुआ।

इस संदर्भ में अभिताभ सरन ने अपने अनुभव एक शीर्ष  समाचार एजेंसी  के साथ साझा करते हुए लिखा है कि वर्ष 2011 में जब वे अपने दोस्तों के साथ गोल्फ खेल रहे थे तो भारत में हाईब्रिड कारों की ऊंची कीमत के चिल्लाया। कुछ महीने पहले ही जापानी ऑटो दिग्गज टोयोटा ने भारत में अपना ग्लोबल हाईब्रिड बेस्टसेलर प्रियस लांच किया था, इसकी कीमत 26.55 - 27.86 लाख थी। इस दौरान सरन के गोल्फ मित्रों में से एक ने उसके अंदर मौजूद टेक्नोफाइल को ललकारा। उसे कुछ कर गुजरने के लिए प्रेरित किया। इसके बाद अमिताभ सरन ने अल्टिग्रीन स्टार्टअप बनाया। बता दें कि अल्टिग्रीन ने हाल ही रिलायंस न्यू एनर्जी, सिक्स्थ सेंस वेंचर्स, एक्सपोनेंटिया कैपिटल, एक्सूरेंट इंटरनेशनल और मोमेंटम वेंचर कैपिटल जैसे निवेशकों द्वारा समर्थित आईएनआर 300 करोड़ की फंडिंग हासिल करने के बाद देश- विदेशों में सुर्खियां बटोरी।

अल्टिग्रीन ने माना अन्य कंपनियों से जुडऩा अनुचित था

यहां बता दें कि भारत की चर्चित स्टार्टअप कंपनी अल्टिग्रीन को अब यह अहसास होने लगा है कि उसने अन्य कंपनियों के साथ जुड़कर भूल की। कंपनी के संस्थापक सरन ने कहा है कि यह हमारे उद्योग का विनाश होने के समान है। कंपनियों द्वारा बाजार में इतनी बड़ी भीड़ ने पर्याप्त शोध नहीं किया है। हमारे लिए अन्य कंपनियों से जुडऩा अनुचित था जो बाजार में उभरी हैं। उन्होंन आगे कहा कि उद्योग में स्टार्टअप की तरह अल्टिग्रीन अपने पोर्टफोलियो को विद्युतकृत करने के लिए विरासत वाहन निर्माताओं की अनिच्छा को भुनाना चाहता है। कारोबार की सबसे बड़ी कंपनी बजाज ऑटो ने अभी तक बाजार में इलेक्ट्रिक पेशकश पेश नहीं की है। वह अंतिम मील परिवहन पर पूरी तरह से ध्यान केंद्रित करना चाहता है।

अल्टिग्रीन का एकमात्र उत्पाद ई- थ्री व्हीलर

यहां बता दें कि अभी तक अल्टिग्रीन कंपनी का एकमात्र इलेक्ट्रिक वाहन थ्री व्हीलर NEEV है। इसकी रेंज के साथ 11 केएच  बैटरी पैक की जो पूरे लोड के साथ भार वहन के लिए उपयुक्त है। यह उद्योग और करीब 118 से 154 घन मीटर की तुलना में 177 घन मीटर की सबसे अच्छी त्वरण एवं उच्च भार वहन क्षमता का दावा किया जाता है। सारन के अनुसार सबसे बड़ा अंतर वाहन और इसे चलाने वाले सॉफ्ट वेयर को विकसित करने के लिए अनुसंधान और विकास का है। सरन ने कम्प्यूटर विज्ञान में पीएचडी की है। तीन दशक के कैरियर में इन्होंने एचपी, नासा, टीसीएस एवं फिलिप्स जैसी कंपनियों में काम किया है।

कोई शॉर्टकट नहीं अपनाना चाहता अल्टिग्रीन

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्टार्टअप फर्म से पूर्ण ईवी निर्माता बनने को उत्सुक अल्टिग्रीन किसी तरह का शार्टकट नहीं अपनाना चाहता। इस संबंध में फर्म संचालक अमिताभ सरन ने कहा है भारत को खराब स्थिति के लिए वाहनों की आवश्कता है। हमारे पास जलभराव, गड्ढ़े वाली सडक़ें, ओवरलोडिंग, धीमा यातायात और अत्यधिक गर्मी एवं धूल भरा वातावरण है। डीजल वाहनों ने इस विषम परिस्थिति में बहुत कुछ किया।

अल्टिग्रीन के उत्पाद थ्री व्हीलर के बारे में

अल्टिग्रीन के उत्पाद ई- थ्री व्हीलर के बारे में बता दें कि केंद्र सरकार की स्न्ररूश्व सब्सिडी के बाद भी इसकी कीमत लगभग आईएनआर 4 लाख है। राज्य सरकार की सब्सिडी कीमत को लगभग 3.7 लाख रुपये तक लाती है। बाजार में तुलनीय डीजल या सीएनजी की कीमत 3.15 लाख रुपये है। पिछले कुछ महीनों में बैटरी की कीमतों में वृद्धि के बावजूद, फर्म को विश्वास है कि मध्यम अवधि में इसकी कीमतों में गिरावट जारी रहेगी। दहन इंजन वाहनों के साथ समानता 3 वर्षों में हासिल की जाएगी। अभी के लिए यह उच्च मूल्य टैग को ऑफसेट करने के लिए ईवीएस के स्वामित्व की कम लागत पर बैंकिंग कर रहा है।

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस, अपना ट्रक चुनें व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर विजिट करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   - https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Call Back Button Call Us