अशोक लेलैंड इलेक्ट्रिकल व्हीकल कारोबार को स्विच इंडिया में बदलेगा

News Date 15 Nov 2021

अशोक लेलैंड इलेक्ट्रिकल व्हीकल कारोबार को स्विच इंडिया में बदलेगा

स्विच मोबिलिटी ऑटोमोटिव लिमिटेड को दी मंजूरी 

भारत की प्रमुख वाणिज्यिक वाहन निर्माता कंपनी अशोक लेलैंड अपने इलेक्ट्रिकल व्हीकल कारोबार को स्विच मोबिलिटी ऑटोमोटिव इंडिया में परिवर्तित करने जा रही है। कंपनी ने कहा है कि उसके बोर्ड ने अपने इलेक्ट्रिक कारोबार को सहायक स्विच मोबिलिटी ऑटोमोटिव लिमिटेड को 240 करोड़ रुपये में बिक्री के आधार पर स्थानांतरित करने की मंजूरी दे दी इसके साथ ही कंपनी बोर्ड की बैठक में हिंदुजा ऑटोमोटिव लिमिटेड, यूके की एक स्टेप डाउन सहायिका, ओम ग्लोबल मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड इंडिया को 65 करोड़ रुपये में अपने एक सेवा के रूप में ई मोबिलिटी व्यवसाय के हस्तांतरण को भी स्वीकृति दे दी है। कंपनी के प्रमोटर अशोक लेलैंड ने एक नियामक फाइलिंग में यह कहा। यहां जानते हैं अशोक लेलैंड की यह नई कार्य योजना क्या है। 

ओम इंडिया को भी किया एकीकृत 

अशोक लेलैंड कंपनी ने ईवी कारोबार को स्विच इंडिया में स्थानांतरित करने का काम अशोक लेलैंड के ईवी कारोबार की क्षमताओं को एकीकृत के उद्देश्य से किया जा रहा है। इसमें भी कंपनी का ईवी कारोबार जुड़ेगा। दूसरी ओर ओम इंडिया को eMaas व्यवसाय की क्षमताओं को एकीकृत करने के उद्देश्य से किया जा रहा है। 

अशोक लेलैंड की दूसरी तिमाही का घाटा हुआ कम 

यहां कंपनी के अनुसार बता दें कि वित्त वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही में 30 सितंबर तक अशोक लेलैंड का शुद्ध घाटा 83 करोड़ कम हो गया। पहले कंपनी ने 2823 करोड़ के घाटे की सूचना दी थी। अब यह घाटा धीरे-धीरे कम हो रहा है। कंपनी इससे आशांवित है कि निकट भविष्य में यह और कम होगा। वहीं ईवी उत्पादन को लेकर भी कंपनी उत्साहित दिखाई दे रही है। 

निर्माण और प्रतिस्पर्धा रहेगी जारी 

अशोक लेलैंड कंपनी के एमडी और सीईओ विपिन सौंधी के अनुसार कंपनी ने गत वित्त वर्ष की समान अवधि में वित्त वर्ष 2022 की तिमाही में वॉल्यूम रिकवरी के संकेत देखे हैं। ये संकेत कंपनी के बेहतर विकास के लिए और भी अच्छे माने जा रहे हैं। इससे कंपनी अपने निर्माण, डिजायन एवं प्रतिस्पर्धा के लिए प्रयास जारी रखेगी। 

1948 में स्थापित हुई अशोक लेलैंड कंपनी 

वर्तमान में अशोक लेलैंड कंपनी का शानदार इतिहास है। यह सन 1948 में स्थापित हुई। आरंभ में इसका नाम अशोक मोटर्स था। इस तरह से इतने लंबे समय से इस प्रमुख वाणिज्यिक वाहनों की निर्माता कंपनी ने कई वैरायटी के हैवी ड्यूटी वाले वाहनों का निर्माण किया है। अब कंपनी इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन भी  तेजी से कर रही है।   इस कंपनी की कई देशों में भी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स हैं। वहीं भारत में तमिलनाडु के  इन्नोर, राजस्थान के अलवर, तमिलनाडु के कृष्णागिरी और सेगाडू के अलावा  महाराष्ट्र के भंडारा, उत्तराखंड के पंत नगर आदि कई राज्यों में है। 

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक ट्रक या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates

FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube    -  https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक