अशोक लेलैंड मीडियम और हैवी ड्यूटी व्हीकल्स की बिक्री में 16 % की वृद्धि

News Date 03 Mar 2022

अशोक लेलैंड मीडियम और हैवी ड्यूटी व्हीकल्स की बिक्री में 16 % की वृद्धि

अशोक लेलैंड टिपर श्रेणी के ट्रकों के उत्पादन और लांचिंग को लेकर उत्साहित

कमर्शियल व्हीकल्स के निर्माण में अग्रणी अशोक लेलैंड कंपनी ने फरवरी 2022 में मध्यम और भारी वाणिज्यिक वाहनों की घरेलू बिक्री में 16 प्रतिशत की ग्रोथ हासिल की है। कोविड की तीसरी लहर के बाद वाणिज्यिक वाहन विनिर्माता कंपनियों में अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए योजनाएं बनाई जा रही हैं। यदि प्रमुख सीवी निर्माता अशोक लेलैंड की बात करें तो यह कंपनी बुनियादी ढांचे में आ रहे उछाल को भुनाने की जुस्तजू में है। इसलिए कंपनी ने सारा ध्यान टिपर्स श्रेणी पर केंद्रित कर दिया है। आइए आपको ट्रक जंक्शन पर बताते हैं कि अशोक लेलैंड कैसे टिपर श्रेणी के ट्रकों के उत्पादन और इनकी लांचिंग को लेकर उत्साहित है? 

एचसीवी स्पेस में टिपर्स सबसे तेज बढ़ता सेगमेंट 

बता दें कि अशोक लेलैंउ ने कोविड की तीसरी लहर के बाद आए ट्रक बिजनेस में उछाल के बाद हाल ही 9-स्पीड ऑटोमेटेड मैन्युअल ट्रांसमिशन के साथ नया एवीटीआर 2825 टिपर लांच किया है। इस लांच पर टिप्पणी करते हुए अशोक लेलैंड के एमएंड एचसीवी प्रमुख संजीव कुमार ने कहा है कि एमएंड एचसीवी स्पेस में टिपर्स सबसे तेजी से बढ़ते सेगमेंट हैं और वे हमारे देश की तेजी से बढ़ती बुनियादी ढांचे की जरूरतों के लिए प्रेरक शक्ति हैं। टिपर्स मोटे तौर पर लंबी अवधि के लिए उबड़-खाबड़ परिस्थितियों में संचालित होते हैं। इसलिए उन्हे अत्यधिक विश्वसीनीय एर्गोनोमिक होने की आवश्यकता होती है। 

निर्माण गतिविधियों में वृद्धि से टिपर खंड की बढ़ी मांग 

अशोक लेलैंड कंपनी टिपर श्रेणी पर क्यों ध्यान केंद्रित कर रही है इसकी मुख्य वजह बताते हुए कंपनी ने कहा है कि पूर्वोत्तर और पहाड़ी राज्यों में बुनियादी ढांचे पर ध्यान केंद्रित करने और ग्रामीण क्षेत्रों में पूरे भारत में निर्माण गतिविधियों में वृद्धि के कारण  आईसीवी टिपर रेंज की मांग बढ रही है। पिछले महीने अशोक लेलैंड ने 7 क्यूबिक मीटर टिपर लांच किया। यह दावा करते हुए कि इंटरमीडिएट कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में क्षमता की पेशकश करने वाली अशोक लेलैंड पहली कंपनी है। इसने आईसीवी टिपर रेंज को 5 क्यूबिक मीटर के साथ पूरक करने के लिए बोली लगाई है। 

वैकल्पिक ईंधन के एक समूह पर काम कर रही अशोक लेलैंड 

बता दें कि अशोक लेलैंड कंपनी वाणिज्यिक वाहनों के सेगमेंट में मांग को और अधिक मजबूत करने के लिहाज से इलेक्ट्रिक, सीएनजी, एलएनजी और एचसीएनजी जैसे वैकल्पिक ईंधन में वाहनों के एक समूह पर काम कर रहा है। अशोक लेलैंड के निदेशक और सीएफओ गोपाल महादेवन ने हाल ही मीडिया को बताया कि अर्थव्यवस्था खुलने के साथ ही एलसीवी (LCV) ओर एमएंड एचसीवी की मांग में निश्चित सुधार होगा। इनमें ट्रक और बस ये दोनो शामिल हैं। कंपनी इंफ्रास्ट्रैक्चर के साथ आईसीवी (ICV) की मांग के लिए कई मॉडल लांच कर चुकी है। वहीं बता दें कि जल्द ही अशोक लेलैंड बड़ा दोस्त का सीएनजी मॉडल भी लांच किया जाएगा। 

अशोक लेलैंड ने तीसरी तिमाही में 5,535 करोड़ की वृद्धि दर्ज की 

बता दें कि अशोक लेलैंड ने वित्त वर्ष 2022 की तीसरी तिमाही में 4,814 करोड़ रुपये की तुलना में 5,535 करोड़ रुपये की वृद्धि दर्ज कराई। इससे कंपनी के राजस्व में 15  प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। तिमाही के दौरान कंपनी ने 415 करोड़ रुपये की नकदी उत्पन्न की। वहीं इस उपलब्धि से कंपनी का शुद्ध ऋण घट कर 2,697 करोड़ रुपये रह गया है। उधर कंपनी ने तीसरी तिमाही में पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 19 करोड़ रुपये के शुद्ध नुकसान के मुकाबले 6 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया था। 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस, अपना ट्रक चुनें व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर विजिट करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   -  https://bit.ly/TruckYT

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक