भारत पेट्रोलियम ने शुरू किया फास्ट चार्जिंग कॉरिडोर

News Date 19 Feb 2022

भारत पेट्रोलियम ने शुरू किया फास्ट चार्जिंग कॉरिडोर

देश के 10 यूल पंपों पर चार्जिंग स्टेशन बनाए 

इंडियन हाइवेज को ईको फ्रेंडली बनाने के लिए ईवी इंफ्रास्ट्रैक्चर के क्षेत्र में रुचि रखने वाली कंपनियां आगे आ रही हैं। बता दें कि भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने देश में पहला ई- वाहन फ्रेंडली हाइवे स्ट्रेच पर, 10 फास्ट चार्जिंग स्टेशन उपलब्ध करवाए हैं। बीपीसीएल ने चेन्नई- त्रिची- मदुरै के 900 किलोमीटर राजमार्ग पर इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए फास्ट चार्जिंग कॉरिडोर को शुरू किया है। वहीं कंपनी ने सीसीएस-2 डीसी फास्ट चार्जर्स स्ट्रेच पर तैनात किया है। आइए, बताते हैं बीपीसीएल के इस फास्ट चार्जिंग कोरिडोर की पूरी जानकारी। 

बीपीसीएल के फास्ट चार्जिंग स्टेशनों से रेंज होगी आसान 

यहां बता दें कि बीपीसीएल ने चेन्नई-त्रिची मदुरै हाइवे पर मौजूद अधिक ट्रैफिक वाले स्ट्रैच पर चार्जिंग स्टेशनों को स्थापित किया है। कंपनी 7,000 पारंपरिक रिटेल पेट्रोल पंप को ऊर्जा स्टेशनों में परिवर्तित कर रही है। कंपनी ग्राहकों को ईवी चार्जिंग सुविधा सहित कई ईंधन विकल्पों की सुविधा प्रदान करती है। बीपीसीएल के फास्ट चार्जिंग स्टेशनों से इस हाइवे पर वाहन चालकों को रेंज की चिंता नहीं रहेगी। वहीं इससे इलेक्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल पर पहले से ज्यादा भरोसा किया जा सकेगा। भारत पेट्रोलियम की योजना इलेक्ट्रिक वाहनों से अंतर-शहर यात्रा को बढ़ावा देने की है।  

9,000 से अधिक पेट्रोल पंपों पर लगेंगे ईवी चार्जिंग प्वाइंटस

आपको बता दें कि बीपीसीएल देश के प्रमुख शहरों और आर्थिक केंद्रों को जोडऩे वाले सभी प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्गों पर सीसीएस 2 इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन के निर्माण की योजना तैयार कर रहा है। कंपनी ने पिछले साल यह भी घोषणा की थी कि वह 9,000 से अधिक पेट्रोल पंपों पर ईवी चार्जिंग स्टेशनों के लिए जगह उपलब्ध कराएगा। वैसे कंपनी के देश भर में 19,000 से अधिक रिटेल आउटलेट्स हैं। कंपनी की ईवी इंफ्रास्ट्रैक्चर के तहत कई बड़ी योजनाएं हैं। इनको साकार करने के लिए कंपनी तेजी से काम कर रही है। 

1 लाख करोड़ रुपये के निवेश की योजना 

बता दें कि भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड कंपनी भारत के इलेक्ट्रिक बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने के लिए निवेश की बड़ी प्लानिंग कर रही है। आने वाले वर्षों में बीपीसीएल ने व्यापक निवेश करने का मानस बनाया है। कंपनी समूह स्तरपर 1 लाख करोड़ से अधिक का निवेश करेगी। इसमें मुय रूप  से पेट्रोकेमिकल क्षमता बढ़ाने और रिफाइनरी क्षमता में सुधार के लिए 30,000 करोड़, गैसे सप्लाई में 20,000 करोड़ और गैस की खोज एवं उत्पादन के लिए 18,000 करोड़ रुपये खर्च करना प्रस्तावित है। यहां बता दें कि देश में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार नई नीतियां बना रही है। 

जानें, बीपीसीएल कंपनी के बारे में 

भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड एक फारच्यून कंपनी है। यह भारत सरकार की तीसरी सबसे बड़ी एकीकृत तेल शोधन और विपणन करने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी है। भारत पेट्रोलियम को सरकार द्वारा नवरत्न का दर्जा प्राप्त है। इसका मुख्यालय मुंबई में है। 
 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस, अपना ट्रक चुनें व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर विजिट करें और अपने फायदे की हर बात जानें। 

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   -  https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक