कमर्शियल वाहनों की बिक्री में 50 फीसदी की गिरावट

News Date 06 May 2021

कमर्शियल वाहनों की बिक्री में 50 फीसदी की गिरावट

टाटा मोटर्स, महिंद्रा, अशोक लेलैंड और वोल्वो-आयशर की बिक्री घटी

कोरोना के बढ़ते प्रकोप से ऑटोमोबाइल सेक्टर भी अछूता नहीं है। कोरोना संक्रमण के कारण देशभर में लागू सख्त पाबंदियों के बीच कमर्शियल वाहनों की बिक्री में भारी गिरावट आई। मार्च माह की तुलना में अप्रैल माह में करीब 50 फीसदी कम वाहन बिके हैं। देश की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी टाटा मोटर्स, महिंद्रा, अशोक लेलैंड और वोल्वो-आयशर के बिक्री आंकड़ों में कमर्शियल वाहनों की कम बिक्री सामने आई है। सामने आए आंकड़ों की बात करें तो अप्रैल 2021 में सभी कमर्शियल वाहन निर्माता कंपनियों ने कुल मिलाकर 38 हजार 104 यूनिट वाहनों की बिक्री की है। जबकि मार्च 2021 में कुल 76 हजार 53 यूनिट वाहन बेचे गए थे। बीते माह कमर्शियल वाहनों की बिक्री में 49.90 प्रतिशत की गिरावट आई है।


जानें, किस कंपनी ने कितने वाहन बेचे

टाटा मोटर्स : सबसे पहले हम आपको देश की सबसे बड़ी कमर्शियल वाहन निर्माता कंपनी टाटा मोटर्स के आंकड़े बताते हैं। टाटा मोटर्स ने अप्रैल 2021 में 14 हजार 435 यूनिट कमर्शियल वाहनों की बिक्री है। वहीं कंपनी ने मार्च 2021 में 36 हजार 955 यूनिट वाहनों की बिक्री की थी। इस प्रकार अप्रैल माह में कंपनी की बिक्री में 60.94 फीसदी की गिरावट आई है।

महिंद्रा एंड महिंद्रा : महिंद्रा एंड महिंद्रा देश की दूसरी सबसे बड़ी स्वदेशी कमर्शियल वाहन निर्माता कंपनी है। कंपनी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार महिंद्रा ने अप्रैल 2021 में कुल 14 हजार 104 यूनिट कमर्शियल वाहन बेचे गए हैं जबकि मार्च 2021 में यह आंकड़ा 17 हजार 116 यूनिट्स का था। महिंद्रा की बिक्री में 17.60 प्रतिशत की कमी आई है। 

अशोक लेलैंड : अब बात करते हैं अशोक लेलैंड की। अशोक लेलैंड के कमर्शियल वाहनों की बिक्री में अप्रैल 2021 के दौरान 49.49 प्रतिशत की गिरावट आई है। जहां अप्रैल 2021 में कंपनी ने 7 हजार 961 यूनिट वाहन बेचे हैं, वहीं मार्च 2021 में 15 हजार 761 यूनिट वाहन बेचे थे।

वीईसीवी : वीईसीवी यानी वोल्वो-आयशर कमर्शियल व्हीकल कंपनी ने अप्रैल 2021 में कुल 1604 यूनिट वाहनों की बिक्री की है, जबकि मार्च 2021 में कंपनी ने 6 हजार 221 यूनिट वाहनों की बिक्री की थी। कंपनी की बिक्री में 74.22 प्रतिशत की कमी आई है।


मासिक आधार पर दर्ज की गई है गिरावट

यह गिरावट मासिक पर देखी गई है और अप्रैल 2021 की बिक्री की तुलना मार्च 2021 में हुई बिक्री से की गई है। ऐसा इसलिए क्योंकि बीते साल अप्रैल माह कोरोना वायरस के चलते लगाए गए लॉकडाउन में किसी भी कंपनी ने एक भी वाहन नहीं बेचे थे।

कई कंपनियों के प्लांट में उत्पादन बंद

उल्लेखनीय है कि कोरोना की दूसरी लहर से पूरा देश महामारी का शिकार हो गया है। उद्योग और व्यापार जगत के सभी सेक्टर बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। जहां एक ओर कार और दोपहिया वाहनों की बिक्री में गिरावट देखी गई है वहीं कमर्शियल वाहनों की बिक्री में भी भारी कमी आई है। कई दिग्गज कंपनियों ने अपने प्लांट में उत्पादन बंद कर दिया है। सभी कंपनियों का ध्यान फिलहाल कोरोना के संकट को टालने पर सबसे ज्यादा है। 

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक