मार्च 2022 में वाणिज्यिक वाहनों की खुदरा बिक्री में 15% की वृद्धि

News Date 14 Apr 2022

मार्च 2022 में  वाणिज्यिक वाहनों की खुदरा बिक्री में 15% की वृद्धि

टाटा मोटर्स अव्वल, अशोक लेलैंड, महिंद्रा और वीईसीवी ने भी हासिल की बढ़त 

ऑटोमोबाइल्स के क्षेत्र में कमर्शियल व्हीकल्स की खुदरा बिक्री का ग्राफ मार्च 2022 में बढ़त पर रहा। फैडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशंस इंडिया की हाल ही जारी की गई कमर्शियल व्हीकल्स सेल्स रिपोर्ट में यह दर्शाया गया है। इस रिपोर्ट के अनुसार मार्च 2022 में वाणिज्यिक वाहनों की खुदरा बिक्री में टाटा मोटर्स सबसे अग्रणी रहा जबकि महिंद्रा, अशोक लेलैंड और वीई कमर्शियल व्हीकल्स लिमिटेड कंपनी ने भी खुदरा बिक्री में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज कराने में कामयाबी हासिल की है। खास बात इस सेल्स रिपोर्ट में यह रही कि भारत की शीर्ष वाणिज्यिक वाहन निर्माता कंपनी टाटा मोटर्स की 43.50 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ वाहनों की बिक्री में सालाना आधार पर 14. 91 प्रतिशत की वृद्धि रही। यहां ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में आपको बताते हैं किस कंपनी ने सालाना वृद्धि के हिसाब से मार्च 2022 में वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री में कितनी-कितनी वृद्धि की है और इस बिक्री के बढऩे से इनकी बाजार हिस्सेदारी में कितना इजाफा हुआ है। 

मार्च 2022 में वाणिज्यिक वाहन बिक्री 14.91 प्रतिशत बढ़ी 

यहां बता दें कि वाणिज्यिक वाहनों की खुदरा बिक्री में जिस तरह से साल दर साल अप्रत्याशित वृद्धि हुई है उससे मार्च 2021 की तुलना में मार्च 2022 में 14.91 प्रतिशत अधिक वाहन बेचे गए। यदि यूनिट्स के हिसाब से इसे आंका जाए जाए तो मार्च 2021 में 67,828 इकाई बिक्री हुई और मार्च 2022 में 77,938 इकाइयों का बेचान हुआ। हालांकि यह मार्च 2020 में बेची गई 1, 16, 817 इकाइयों की तुलना में 33.28 प्रतिशत की गिरावट थी। वाणिज्यिक वाहन निर्माता कंपनियों में टाटा मोटर्स ने सबसे अधिक वाहन बेचे। 

टाटा मोटर्स ने मार्च 2022 में 33,900 इकाइयों की बिक्री की 

यहां बता दें कि वाणिज्यिक वाहनों की साल दर साल बिक्री में टाटा मोटर्स अग्रणी रहा है। टाटा मोटर्स मार्च 2022 में 33,900 कमर्शियल वाहन बेचकर पहले पायदान पर आ गया है। इस तरह से वाणिज्यिक खंड का नेतृत्व करते हुए टाटा मोटर्स ने बिक्रीदर बढ़ा 43.50 प्रतिशत कर ली। अब टाटा मोटर्स एसीई इलेक्ट्रिक लांच करने के लिए तैयार हो रही है। 

महिंद्रा ने बेची 17,349 इकाइयां

बता दें कि फैडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन इंडिया की ओर से जारी वाणिज्यिक वाहनों की खुदरा बिक्री रिपोर्ट के अनुसार टाटा मोटर्स के बाद दूसरे नंबर पर महिंद्रा ने मार्च 2022 में 17,349 इकाइयों की खुदरा बिक्री कर दूसरा नंबर पाया है। इसकी यह वृद्धि मार्च 2021 में बेची गई 11,901 से अधिक इकाइयों की रही। वहीं मार्च 2021 में बाजार हिस्सेदारी 17.55 प्रतिशत से बढ़ कर 22.26 प्रतिशत हो गई। 

अशोक लेलैंड और वीईसीवी की बिक्री में रहा उछाल 

वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री में मार्च 2022 में गत वर्ष की तुलना में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। यहां बता दें कि अशोक लेलैंड की खुदरा बिक्री मार्च 2022 में 10,563 इकाइयों से बढ़कर 11,676 इकाई हो गई। वहीं इसकी बाजार हिस्सेदारी में इजाफा नहीं हुआ। यह 15.57 प्रतिशत से घटकर 14.98 प्रतिशत सालाना रह गयी। इसके अलावा अशोक लेलैंड ने हाल ही में सीएनजी सीवी माल वाहक-ई कॉमेट स्टार आईसीवी सीएनजी ट्रक रेंज लांच की थी। इन ट्रकों को 3 सीएनजी सिलेंडर विकल्पों के साथ 16.1 टन और 14.25 टन के दो सकल वजन में पेश किया जा रहा है। वीईसीवी, मारुति सीवी बिक्री मार्च 2022 में वीई वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री जो मार्च 2021 में 4,224 इकाई थी, वह हिस्सेदारी 6.23 प्रतिशत के साथ मार्च 2022 में बढ़ कर 4,566 इकाई हो गई। इनके अलावा मारुति सुजुकी के लिए मार्च 2022 खास उपलब्धि का नहीं रहा। मारुति सुजुकी की खुदरा बिक्री 2022 में 3803 रह गई जो मार्च 2021 में 3828 इकाई थी।

डेमलर, इसुजू, फोर्स मोटर की बिक्री पर एक नजर 

यहां बता दें कि टाटा, महिंद्रा, अशोक लेलैंड, वीईसीवी आदि कंपनियों ने जहां मार्च 2022 में अपनी खुदरा बिक्री में इजाफा किया वहीं यदि डेमलर, इसुजू और फोर्स मोटर्स के कमर्शियल वाहनों की बिक्री पर एक नजर डाली जाए तो पिछले महीने यानि मार्च में इनकी कुल बिक्री 1548 यूनिट रही जबकि मार्च 2021 में यह 1,442 इकाई थी। हालांकि इनकी बाजार हिस्सेदारी 2.13 प्रतिशत से घटकर 1.99 प्रतिशत रह गई। एएमएल इसुजू ने मार्च 2021 में 589 इकाइयों से खुदरा बिक्री में 662 इकाइयों की वृद्धि देखी जबकि फोर्स मोटर्स लिमिटेड की खुदरा बिक्री मार्च 2021 में बेची गई 405 इकाइयों से बढ़ कर मार्च 2022 में 631 इकाई हो गई। 

वाणिज्यिक वाहनों की वित्त वर्ष 2022 में कुल बिक्री के आंकड़े 

वित्त वर्ष 2022 में गत वर्ष तुलना में जिस तरह से वाणिज्यिक वाहनों की खुदरा बिक्री खासी उत्साहजनक रही है उसी तरह यदि इनकी कुल बिक्री के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो इसमें भी टाटा मोटर्स ने सर्वाधिक वाहन बेच कर बाजी मारी है। बता दें कि टाटा मोटर्स ने वित्त वर्ष 2022 में 2 लाख 75,380 कमर्शियल वाहन बेचे जबकि इसी समान अवधि 2021 में 1 लाख 63,171 वाहन बेचे थे। इस तरह 42.23 प्रतिशत की वृद्धि हुई। वहीं महिंद्रा एंड महिंद्रा ने वित्त वर्ष 2022 में 1,41,950 वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री की वहीं एक साल पहले इसी अवधि में 1,29,011 वाहन बेचे। अशोक लेलैंड ने वित्त वर्ष 2022 में 92,585 वाहन बेचे जो 14.20 प्रतिशत अधिक थे। इसके अलावा वीईसीवी की वित्त वर्ष 2022 में 40,214 वाहनों की बिक्री हुई जो 2021 के मुकाबले 6.17 प्रतिशत अधिक थी। 

मारुति सुजुकी सुपर कैरी एस- सीएनजी एकमात्र मिनी सीवी 

यहां बता दें कि मारुति सुजुकी सुपर कैरी सेगमेंट में सबसे पसंदीदा मॉडल है। यह 54 केडब्ल्यू की शक्ति और 98 एनएम का टार्क देता है। भारत में 5 लीटर पेट्रोल टैंक के साथ दोहरे ईंधन एस.सीएनजी संस्करण प्राप्त करने वाला एकमात्र मिनी सीवी है। यह 740 किलोग्राम पेलोड ले जाने की क्षमता के साथ 2,183 मिमी लंबाई और 1,488 मिमी चौड़ाई का डेक क्षेत्र प्रदान करता है। सुपर कैरी 237 से अधिक शहरों में फैले कंपनी के 335 वाणिज्यिक आउटलेट के माध्यम से बेचा जाता है। मारुति ने हाल ही में उत्पादन बढ़ाया है ताकि बढ़ी हुई मांग को पूरा किया जा सके। 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस, अपना ट्रक चुनें व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर विजिट करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   - https://bit.ly/TruckYT

टाटा एस गोल्ड सीएनजी

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक