Detect your location
Select Your location
Clear
  • Pune
  • Bangalore
  • Mumbai
  • Hyderabad
  • Chennai
Popular Cities
Pune
Bangalore
Mumbai
Hyderabad
Chennai
jaipur
Montra
21 सितंबर 2021

ई श्रम पोर्टल रजिस्ट्रेशन : सरकारी योजनाओं सहित मिलेगा 2 लाख रुपए का लाभ

By News Date 21 Sep 2021

ई श्रम पोर्टल रजिस्ट्रेशन : सरकारी योजनाओं सहित मिलेगा 2 लाख रुपए का लाभ

ई-श्रम पोर्टल Registration : अब तक 1 करोड़ श्रमिकों ने कराया रजिस्ट्रेशन

केंद्रीय श्रम मंत्रालय की ओर से भारत के असंगठित  क्षेत्र के मजदूरों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा प्रदान करने के लिए ई श्रम पोर्टल शुरू किया गया था। इस पोर्टल पर 26 अगस्त से अब तक देश के 1 करोड़ श्रमिकों ने अपना पंजीयन करवा दिया है। यह असंगठित मजदूरों का भारत का पहला डेटाबेस है। इधर मंत्रालय ने पंजीयन से वंचित सभी श्रमिकों से एक बार फिर से अपील की है कि वे अपना पंजीकरण ई श्रम पोर्टल पर कराएं और सरकार की योजनाओं के तहत दो लाख रुपये तक के लाभ के हकदार बनें। 

यहां आपको बता दें कि श्रम मंत्रालय में पंजीकृत श्रमिकों को स्थायी विकलांगता में एक लाख और मृत्यु होने पर 2 लाख रुपये तक का लाभ प्रदान किया जाता है। श्रम पोर्टल निर्माण कार्य, कपड़ा उत्पादन, मछलीपालन, प्लेटफार्म वर्क, स्ट्रीट वेडिंग, घरेलू काम और परिवहन आदि क्षेत्रों में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक व्यापक डेटाबेस तैयार करने की ओर अब तक का सबसे बड़ा कदम है। श्रम विभाग भारत सरकार इन असंगठत क्षेत्रों में प्रवासी श्रमिकों का एक बहुत बड़ा वर्ग काम करता है। 


ई-श्रम रजिस्ट्रेशन : सरकार का लक्ष्य 38 करोड़ मजदूरों का पंजीकरण करना 

ई पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन जिस तेज गति से हुआ है उससे सरकार का 38 करोड़ श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन कराने का लक्ष्य भी जल्द पूरा हो जाएगा। आर्थिक सर्वेक्षण 2019-2020 के अनुसार देश में अनुमानित 38 करोड़ असंगठित श्रमिक हैं। इन्हे श्रम पोर्टल पर रजिस्टर्ड करने का टारगेट है। अब तक पोर्टल में 1 करोड़ 3 लाख 12 हजार, 95 श्रमिकों ने पंजीयन कराया है। इनमें से करीब 43 फीसदी लाभार्थी महिलाएं हैं और 57  फीसदी पुरूष हैं। 


ट्रक ट्रांसपोर्ट से जुड़े श्रमिक ले सकते हैं योजना का फायदा 

ई श्रम पोर्टल पर निर्माण सामग्री या अन्य कई प्रकार के सामान का लदान आदि कार्य करने वाले मजदूर और ट्रक  ट्रांसपोर्ट के अंतर्गत काम करने वाले श्रमिक भी रजिस्ट्रेशन करवा कर सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। 


ई-श्रम योजना : दुर्घटना में 1 से 2 लाख रुपये तक की सहायता 

ई श्रम पोर्टल रजिस्ट्रेशन कराने का सबसे बड़ा लाभ दुर्घटना मामलों में मिलता है। यदि किसी श्रमिक की दुर्घटना के कारण स्थायी विकलांगता हो जाती है यानि वह कोई काम करने लायक नहीं रहता तो उसे सरकार की ओर से 1 लाख रुपये सहायता प्रदान की जाएगी। इसके अलावा दुर्घटना में मृत्यु होने पर 2 लाख रुपये की सहायता दी जाएगी। 


ई-श्रम पोर्टल Registration : इन प्रदेशों के श्रमिक रहे रजिस्ट्रेशन में आगे 

श्रम मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार श्रम पोर्टल पर सबसे अधिक रजिस्ट्रेशन कराने वाले राज्यों में बिहार, ओडिसा, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल शामिल हैं। ई श्रम पोर्टल पर मजदूरों के पंजीयन का अभियान जम्मू-कश्मीर और चंडीगढ़ जैसे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में और गति पकडऩे की जरूरत है। 


ई श्रम पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेज 

जो भी मजदूर भाई अभी तक ई पोर्टल पर अपना पंजीयन नहीं करवा पाएं हैं उनके लिए बता दें कि असंगठित मजदूरों के लिए यह महत्वपूर्ण योजना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना को लांच किया था। इस योजना में जो मजदूर अपना पंजीयन कराना चाहते हैं वे सीएससी केंद्र पर आवेदन कर सकते हैं। इसके जिन महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी वे इस प्रकार हैं-: 

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक का मोबाइल नंबर जो आधार से जुड़ा हो 
  • शैक्षिक योग्यता प्रमाण पत्र और निवास प्रमाण पत्र। 
  • व्यवसाय संबंधी आवश्यक जानकारी का विवरण 
  • बैंक पासबुक की प्रतिलिपि जो आईएफएससी कोड नंबर से जुड़ी हो। 


श्रम कार्ड पर कौन-कौन सी सरकारी योजनाओं का लाभ देय 

श्रमिकों का श्रम विभाग में रजिस्टे्रशन होने के बाद उन्हे एक यूएनए नंबर दिया जाता है। इसके अलावा श्रमिक कार्ड भी बनता है। इसके आधार पर सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ संबंधित पंजीकृत श्रमिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इनमें पेंशन, उपचार के लिए चिकित्सा राशि, दुर्घटना के मामले में सहायता, मरणोत्तर देय राशि जिसमें दो लाख रुपये की सहायता दी जाती है। इनके अलावा महिला श्रमिक को मातृत्व लाभ, मकान निर्माण के लिए ऋण राशि, बच्चों की शिक्षा में सहायता, कौशल उन्नयन के लिए वित्तीय सहायता, काम करने वाले उपकरणों की खरीद पर सहायता, बेटी की शादी के लिए आर्थिक सहायता और बिजली कनेक्शन में सब्सिडी आदि योजनाओं में लाभ दिया जाता है। 


ई श्रम पोर्टल पर कौन करवा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

यहां बता दें कि श्रम विभाग की विभिन्न योजनाओं के अलाव अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए श्रमिकों को अपना रजिस्ट्रेशन कराना सबसे जरूरी है। इसी आधार पर योजनाओं का फायदा उठाया जा सकता है। श्रम विभाग में पंजीयन करवाने के लिए असंगठित श्रमिकों की श्रेणी वाले वे सभी लोग हकदार हैं जो किसी ना किसी रूप में मजदूरी करते हैं।  इनमें बेलदार, मिस्त्री, पेंटर, रोड पर काम करने वाले मजदूर आदि शामिल हैं।  


श्रमिक कार्ड से मिलता है छात्रवृत्ति का लाभ 

श्रम विभाग में पंजीयन कराने के बाद श्रमिकों के कार्ड बनाए जाते हैं। इन श्रमिक कार्डों के आधार पर अपने बच्चों को छात्रवृत्ति दिलाने के लिए आवेदन किया जा सकता है। यहां बता दें कि श्रमिक कार्ड पर 8,000 से लेकर 35000 रुपये तक की स्कॉलरशिप मिलती है। इससे बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने आसान रहता है। 


श्रमिक कार्ड से इस तरह मिलती है छात्रवृत्ति 

आपको बता दें कि श्रमिक कार्ड के आधार पर कौन सी कक्षा से छात्रवृत्ति मिलना शुरू होती है और कितनी मिलती है? यहां मिलने वाली छात्रवृत्ति के बारे में जानकारी दी जा रही है जो इस प्रकार है-: 

  • कक्षा 6 से 8वी तक के छात्र वर्ग के लिए 8000 रुपये और छात्रा वर्ग को 9000 रुपये वार्षिक छात्रवृत्ति दी जाती है। 
  • कक्षा 9 से 12 वीं तक  छात्र के लिए 9000 रुपये एवं छात्रा के लिए 10,000 रुपये छात्रवृत्ति दी जाती है। 
  • आईटीआई में अध्ययनरत छात्र के लिए 9000 रुपये एवं छात्रा और विशेष योग्यजन के लिए 10000 रुपये स्कारलशिप दी जाती है। 
  • डिप्लोमाप्राप्त छात्र के लिए 1000 रुपये और डिप्लोमाप्राप्त छात्रा को 11,000 रुपये छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। 
  • स्नातक छात्र को 13,000 रुपये, स्नातक छात्रा को 15,000 रुपये छात्रवृत्ति मिलती है। 
  • स्नातक प्रोफेशनल छात्र को 18000 रुपये और छात्रा को 20,000 रुपये स्कॉलरशिप मिलती है। 
  • स्नातकोत्तर सामान्य छात्र को 15,000 एवं छात्रा को 17,000रुपये स्कॉलरशिप मिलती है। 
  • इसी तरह से स्नातकोत्तर प्रोफेशनल छात्र को 23 हजार एवं छात्रा को 25 हजार रुपये छात्रवृत्ति मिलती है। कुल मिला कर श्रम विभाग में रजिस्टे्रशन करवाना और श्रमिक कार्ड बनवाना काफी लाभदायक है। 


ई श्रम पोर्टल योजना से संबंधित प्रश्न और उत्तर

प्रश्न. ई श्रम पोर्टल पर कौन रजिस्टे्रशन करवा सकते हैं? 

उत्तर. ई श्रम पोर्टल पर रजिस्टे्रशन कराने के लिए निर्माण कार्य, कपड़ा उत्पादन, मछलीपालन, प्लेटफार्म वर्क, स्ट्रीट वेडिंग, घरेलू काम और परिवहन आदि से जुड़े श्रमिक अपना रजिस्टे्रशन करवा सकते हैं। 

प्रश्न. ई श्रम पोर्टल क्या है? 

उत्तर. केंद्रीय श्रम मंत्रालय की ओर से भारत के असंगठित  क्षेत्र के मजदूरों को ऑनलाइन रजिस्टे्रशन की सुविधा 
प्रदान करने के लिए ई श्रम पोर्टल शुरू किया गया था। यह एक वेबसाइट है। इसमें श्रमिकों का रजिस्टे्रशन होने के बाद उन्हे एक यूएनए नंबर दिया जाता है। इसके आधार पर उन्हे सरकारी योजनाओं का लाभ मिलता है। 

प्रश्न. क्या श्रम कार्ड से श्रमिकों के बच्चों को पढाई के दौरान छात्रवृत्ति मिलती है? 

उत्तर. हां, यह सही है, श्रमिक कार्ड के आधार पर कक्षा छह से स्नातकोत्तर शिक्षा तक स्कॉलरशिप मिलती है। 

प्रश्न. ई श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने का सबसे बड़ा लाभ क्या है? 

उत्तर. यदि किसी श्रमिक की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो उसके आश्रितों को 2 लाख रुपये की सहायता मिलती है जो बीमा लाभ होता है। इसके अलावा स्थायी विकलांगता में 1 लाख रुपये की सहायता देय है।

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक ट्रक या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube    -  https://bit.ly/TruckYT
  

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Call Back Button Call Us