Detect your location
Select Your location
Clear
  • Pune
  • Bangalore
  • Mumbai
  • Hyderabad
  • Chennai
Popular Cities
Pune
Bangalore
Mumbai
Hyderabad
Chennai
jaipur
Montra
1 जून से ट्रैफिक रूल तोड़ने पर होगा 25,000 रुपए तक का चालान, देखें चालान लिस्ट वोल्वो लांच करेगा हाइड्रोजन ट्रक, किफायती होगा कमर्शियल ट्रांसपोर्ट भारत में जल्द खुलेगा इलेक्ट्रिक एक्सप्रेसवे, बिजली से चलेंगे बस और ट्रक जेवो एंड जेन मोबिलिटी ने किया समझौता, पेश करेगी 3000 किफायती माइक्रोपॉड डेमलर इंडिया हेवी ड्यूटी ट्रकों में आएगा ऑटोमेटेड मैनुअल फीचर्स, मिलेगी ज्यादा सेफ्टी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर किन वाहनों को कितना देना पड़ेगा टोल, देखें लिस्ट यूपी में कमर्शियल वाहनों पर बढ़ेगा रोड टैक्स, नया टैक्स सिस्टम लाएगी सरकार भारत में ड्राइविंग लाइसेंस नियमों में हुआ बदलाव, 1 जून से होंगे लागू
Saurjesh Kumar
23 अप्रैल 2024

ईवी उद्योग बिना सब्सिडी के बनें प्रतिस्पर्धी, एक्सपोनेंट एनर्जी के सीईओ का बड़ा बयान

By Saurjesh Kumar News Date 23 Apr 2024

ईवी उद्योग बिना सब्सिडी के बनें प्रतिस्पर्धी, एक्सपोनेंट एनर्जी के सीईओ का बड़ा बयान

क्या बिना सब्सिडी भी इलेक्ट्रिक वाहन होगी सस्ती? जानें एक्सपर्ट्स की राय

देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को तेजी से बढ़ावा दिया जा रहा है। इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए सरकार लगातार जहां कंज्यूमर स्तर पर सब्सिडी का लाभ दे रही है वहीं कंपनियों को भी पीएलआई स्कीम यानी प्रोडक्शन लिंक्ड स्कीम के तहत निर्माण किए जाने पर लाभ दिया जा रहा है। लेकिन हाल ही में एक्सपोनेंट एनर्जी के सीईओ और को-फाउंडर अरुण विनायक ने ET को बताया कि फेम और पीएलआई प्रोत्साहन के बिना भी अब इलेक्ट्रिक वाहन उद्योगों को सर्वाइव करना सीखना होगा। यह आवश्यक है कि हम अपने इलेक्ट्रिक मोबिलिटी इको सिस्टम को इस तरह मजबूत बनाएं कि हम बिना सब्सिडी भी सर्वाइव कर सकें।

फेम 2 सब्सिडी हुई वापस

विनायक की टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब सरकार ने फेम 2 सब्सिडी वापस ले ली है। हालांकि सरकार ने emps यानी इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्रमोशन स्कीम 2024 के तहत अभी भी सब्सिडी प्रदान कर रही है। लेकिन अब सब्सिडी की राशि पहले की तुलना में आधी है। इलेक्ट्रिक मोबिलिटी और वाहन निर्माता कंपनियों के लिए यह इस बात का संकेत है कि भविष्य में सब्सिडी की राशि और कम हो सकती है और आगे चलकर इसे बंद भी किया जा सकता है। अतः कंपनियों को बिना सब्सिडी के भी काम करना सीखना होगा।

EV इंफ्रा पर दिया जा रहा है जोर

EV इको सिस्टम को बढ़ाने के लिए इलेक्ट्रिक मोबिलिटी इंफ्रास्ट्रक्चर को लगातार बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। अब 15 मिनट में इलेक्ट्रिक वाहनों को फुल चार्ज करने की तकनीक भी लगाई जा रही है। देश में चार्जिंग नेटवर्क को भी लगातार बढ़ाया जा रहा है।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

Facebook - https://bit.ly/TruckFB

Instagram - https://bit.ly/TruckInsta

YouTube   - https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Call Back Button Call Us