वाणिज्यिक वाहन : टाटा मोटर्स के कमर्शियल व्हीकल 1 अक्टूबर से होंगे महंगे 

News Date 22 Sep 2021

वाणिज्यिक वाहन : टाटा मोटर्स के कमर्शियल व्हीकल 1 अक्टूबर से होंगे महंगे 

ऑटो सेक्टर : 1 अक्टूबर से वाणिज्यिक वाहनों की कीमत में 2 प्रतिशत होगी बढ़ोतरी 

स्टील समेत कई अन्य चीजों के महंगे होने की वजह से ऑटो  कंपनियों की लागत बढ़ गई है। टाटा मोटर्स ने सभी श्रेणी के  वाणिज्यिक  वाहन भी महंगे करने की घोषणा कर दी है। कंपनी ने  स्पष्ट संकेत दिए हैं कि बढ़ते लागत के प्रभाव को कम करने के 1 अक्टूबर से अपने वाणिज्यिक वाहनों की कीमतों में 2 प्रतिशत की वृद्धि  की जाएगी। कंपनी प्रमुख ने एक बयान में कहा है कि प्रभावी मूल्य वृद्धि 2 प्रतिशत की सीमा में मॉडल और वाहनों के संस्करण के आधार पर लागू की जाएगी। वहीं इसमें यह भी कहा गया कि स्टील और कीमती धातुओं जैसी वस्तुओं की लागत में लगातार बढ़ोतरी के चलते कंपनी को उत्पादों की कीमत में वृद्धि के माध्यम से इसका एक हिस्सा देना पड़ता है। जानते हैं और क्या कारण हैं जिनके चलते टाटा मोटर्स को वाणिज्यिक वाहनों की कीमतों में करनी पड़ रही है बढ़ोतरी। 


इनपुट लागत में वृद्धि मुख्य कारण 

टाटा मोटर्स कंपनी सहित अन्य वाहन निर्माता कंपनियों के सामने कीमतें कम करने की चुनौतियां आ रही हैं लेकिन विभिन्न स्तरों पर कुल लागत में बढोतरी और इनपुट लागत में वृद्धि को रोक पाना मुश्किल हो रहा है। कंपनी के मुताबिक यहां बता दें कि पिछले एक साल में स्टील और कीमती धातुओं जैसी वाहन निर्माण वस्तुओं की कीमतों में क्रमिक रूप से बढ़ोतरी होती रही है। ऐसे में वाहनों की कीमतें बढ़ाना जरूरी हो गया है। 


मारूति सुजुकी साल में तीन बार बढ़ा चुकी कीमतें 

टाटा मोटर्स कंपनी की ओर से 1 अक्टूबर से वाणिज्यिक वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी के अलावा यदि दूसरी कंपनियों की बात की जाए तो मारुति सुजुकी कंपनी इस वर्ष तीन बार कीमतें बढ़ा चुकी है। कंपनी ने कहा है कि यात्री वाहनों की एक्स-शो रूम कीमतें औसत रूप से 1.9 फीसदी की बढ़ोतरी की। कंपनी ने सितंबर माह में इस साल तीसरी बार कीमतों में इजाफा किया है। इससे पहले कंपनी ने जनवरी और अप्रैल में कीमतों में कुल 3.5 प्रतिशत की वृद्धि की थी। 


इधर ये रहे बिक्री के प्लस प्वाइंट्स

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि टाटा कंपनी वाणिज्यिक वाहना निर्माता कंपनियों में अपनी विशेष पहचान रखती है। इस कंपनी ने अगस्त 2021 में कुल बिक्री 53 फीसदी बढ़ी है। कंपनी ने अगस्त 2021 में कुल 54,190 वाहन बेचे हैं। इनमें अगस्त 2020 में 35,420 वाहनों की बिक्री हुई थी। कंपनी का कहना है कि घरेलू वाहनों में उसकी यात्री वाहनों की बिक्री अगस्त महीने 28,018 इकाई रही जबकि पिछले साल के अगस्त में यह 18,583 यूनिट ही थी। इस तरह से एक साल के अंदर कंपनी की बिक्री में 51 प्रतिशत का इजाफा हुआ है जो अप्रत्याशित ही कहा जाएगा। 


ऑटो सेक्टर के लिए सरकार ने दिए बड़े पैकेज 

ऑटो सेक्टर के लिए सरकार की ओर से कई बड़े पैकेज की घोषणा की जा चुकी है। सितंबर के पहले सप्ताह में ही सरकार ने ऑटो, ऑटो कंपोनेंट इंडस्ट्री के लिए पीएलआई स्कीम को मंजूरी दी है। इसके लिए सरकार ने 26,058 करोड़ रुपये का ऐलान किया है। इससे 7.6 लाख से ज्यादा लोगों को नौकरियां मिलने की संभावना है। इसके अलावा  एडवांस्ड ऑटोमोटिव टेक्नॉलॉजी प्रोडक्ट्स को लेकर स्वदेशी वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला डेवलम करने में मदद मिलेेगी। इसका फायदा उन कंपनियों को भी मिलेगा जो ऑटोमोबाइल या ऑटो कंपोनेंट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में नहीं है। 


पीएलआई स्कीम में ऑटो को दोहरा लाभ

ऑटो सेक्टर को बड़ी राहत प्रदान करने वाली पीएलआई स्कीम के दो अलग-अलग भाग हैं। इनमें पहला है चैम्पियन ओईएम इंसेटिव स्कीम जो सेलिंग वेल्यू से जुड़ी है। यह स्कीम बैटरी इलेक्ट्रिक व्हीकल और हाइड्रोजन फ्यूल सेल व्हीकल्स के लिए है। इसके अलावा दूसरा हिस्सा कंपोनेंट चैम्पियन इंसेंटिव स्कीम है जो बिक्री-मूल्य आधारित है। इसमें 2 व्हीलर, एग्रीग्रेटर, थ्री व्हीलर, ट्रैक्टर आदि शामिल हैं। 

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक ट्रक या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube    -  https://bit.ly/TruckYT

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक