Detect your location
Select Your location
Clear
  • Pune
  • Bangalore
  • Mumbai
  • Hyderabad
  • Chennai
Popular Cities
Pune
Bangalore
Mumbai
Hyderabad
Chennai
jaipur
Montra
नई सॉफ्टवेयर तकनीक से लैस ट्रक बनाने के लिए वोल्वो ग्रुप और डेमलर के बीच एग्रीमेंट फाडा कंबाइंड कमर्शियल व्हीकल सेल्स रिपोर्ट अप्रैल 2024 : 261,519 यूनिट्स बेचे गाड़ियों के इंश्योरेंस को लेकर सुप्रीम कोर्ट की बड़ी टिप्पणी, हो जाएं अलर्ट इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर में मिलेंगे लेटेस्ट सॉफ्टवेयर, अल्टीग्रीन यूजर्स को मिलेगा फायदा कमर्शियल वाहनों में होने चाहिए ये 5 फीचर्स, आपका काम करेंगे आसान छोटे कमर्शियल वाहनों पर नए ऑफर के साथ एंट्री लेगी मुरुगप्पा ग्रुप महिंद्रा का नया मेटल बॉडी ट्रेओ प्लस ई-ऑटो हुआ लांच, जानें कीमत सेकेंडों में चार्ज होगी ईवी की बैटरी, कोरियाई वैज्ञानिकों की बड़ी खोज
26 Jul 2021
Automobile

ट्रक बॉडी बनाने में कितना आएगा खर्चा, अलग-अलग राज्यों में ट्रक बॉडी की लागत

By News Date 26 Jul 2021

ट्रक बॉडी बनाने में कितना आएगा खर्चा, अलग-अलग राज्यों में ट्रक बॉडी की लागत

ट्रक बॉडी बनाने में कितना आएगा खर्चा जानें, अलग-अलग राज्यों में ट्रक बॉडी बनवाने की लागत

भारत में अलग-अलग कंपनियों के ट्रक मॉडल उपलब्ध हैं। किसी भी कंपनी का ट्रक खरीदने के बाद सबसे पहले उसकी बॉडी बनवानी पड़ती है। ट्रक की बाड़ी बनवाने समय बजट, व्यवसाय का प्रकार, रूट आदि का ध्यान रखना चाहिए। बॉडी ऐसी होनी चाहिए जो सभी प्रकार का मौसम सह सके और गाड़ी के अंदर बैठा व्यक्ति मौसम से ज्यादा प्रभावित नहीं हो। ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में आपको ट्रक बॉडी ( Truck Body) मेकिंग की प्रक्रिया और ट्रक बॉडी मेकिंग में आने वाले खर्च के बारे में बताया जा रहा है। ऐसी ही जानकारी के लिए हमेशा ट्रक जंक्शन के साथ बने रहें।


ट्रक के आकार के अनुसार ही बनाई जाती है बॉडी

इन ट्रकों के सबसे पहले चेचिस तैयार होते हैं। इसके बाद ट्रकों की बॉडी बनाने का काम किया जाता है। इसके लिए सर्वप्रथम चेचिस को मॉडिफाइ करने की प्रकिया पूरी की जाती है। ट्रक के आकार के अनुसार ही बॉडी बनाने के लिए आवश्यक रॉ मेटेरियल का प्रबंध करना होता है। इसी के अनुसार बॉडी पर खर्च होता है। आमतौर पर बॉडी बनाने का काम ठेकेदार के अंडर में बॉडी मेकर मिस्त्रियों से कराया जाता है।


ड्राईवर केबिन को आकर्षक लुक देने के लिए प्लाईवुड वर्क

यह भी आप जानते हैं कि ट्रक बॉडी बनाना एकदम इतना आसान भी नहीं है। इसमे स्टेप दर स्टेप काम किया जाता है। जैसे पहले दिन चेचिस पर लकड़ी के मजबूत फट्टे बिछाने का काम होता है। इसके अलावा ट्रक के सामने वाले पार्ट में भी लकड़ी का वर्क होता है। ड्राईवर के केबिन को आकर्षक लुक देने के लिए प्लाईवुड वर्क होता है। वहीं  आवश्यक नट-बोल्ट अच्छी तरह से कसे जाते हैं। 


प्लाईवुड  के अलावा स्टील वर्क भी प्रमुख

अगले चरण में जाली में बॉक्स बंपर आदि का कार्य पूरा किया जाता है। ड्राईवर खिडक़ी के अंदर वाले केबिन में प्लाईवुड  के अलावा स्टील वर्क भी किया जाता है। इसके बाद नीचे फर्श में हैवी चद्दर लगाई जाती है। फ्रंट सीसे का फ्रेम तैयार करना पड़ता है। इसके बाद छत तैयार की जाती है। 


छत और फर्श दोनों में ही अच्छी क्वालिटी की चद्दर लकड़ी के फट्टों से लगवाएं

अगले स्टेप में पायदान तैयार करने, साइड में कुंदियां लगाने, लेमिनेशन आदि वर्क करना होता है। इसके साथ ही इंडिगेडर्स और अन्य आवश्यक सभी लाइटें लगाने पर काम होता है। टूलबॉक्स में भी सनमाइका और स्टील का काम किया जाता है। इसके लिए दो इंच वाला फ्रेम उपयोग में लिया जाता है। यह सब वाटरप्रूफ करना होता है। हैंडिल, ड्राईवर सीट, साइड की दोनों खिडकियों में भी आधुनिक लुक देना रहता है। छत पर और फर्श दोनों में ही अच्छी क्वालिटी की चद्दर लकड़ी के फट्टों पर लगानी होती है। यह कार्य बहुत ही सावधानी और मजबूती के साथ करना होता है। 


जालियों की विजुलिटी सही होनी चाहिए

ट्रक बॉडी मेकर एक्सपर्ट के अनुसार बॉडी की साइड जालियां लगाते समय यह ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि जालियों की विजुलिटी सही हो। इसके अलावा इनके नट-बोल्ट अच्छी तरह से कस लें। जहां-जहां वेल्डिंग का कार्य किया जाता  है वहां विशेष सफाई का ध्यान रखा जाता है। सबसे अहम है फर्श की मजबूती और बेहतर फिनिशिंग ताकि इसमें सीमेंट आदि सामान की ढुलाई करते समय पानी का कहीं से रिसाव नहीं हो। यह वाटरप्रूफ बनाई जाती है। पीछे जो डाला लगाया जता है उसमें भी वाटरप्रूफ का काम होता है। डाले के पीछे वाले हिस्से में काम कंपलीट होने पर इसमें सीनरी बनाई जाती है। इसमें चढने के लिए भी फुट स्टेप बनाया जाता है। 


पेंटर जितना कुशल बॉडी में उतना ही निखार

ट्रक बॉडी में रंग-पेंट करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में की जाती है। रंग पेंट से पहले प्राइमर होता है। इसके लिए पेंटर आधुनिक स्प्रे मशीन यूज करते हैं। सबसे पहले साइडों में पेंट किया जाता है। इसके बाद  बॉडी के अन्य हिस्सों में पेंट किया जाता है। इसके बाद टेपिंग की जाती है। ट्रक बॉडी बनाने वाले मिस्त्रियों के अलावा इस कार्य में पेंटर की भी अहम भूमिका होती है। पेंटर जितना कुशल होगा उतना ही बॉडी में निखार आ पाएगा। 

 

जानें, ट्रक बॉडी बनाने का खर्चा

ट्रक बॉडी मेकर के विशेषज्ञों के अनुसार बॉडी बनाने में कम से कम 3 लाख 70 हजार का अनुमानित खर्चा होता है। 6 चक्के वाले ट्रक की बॉडी में यह खर्च 2 लाख 90 हजार तक हो सकता है। यदि 12 चक्के ट्रक बनवाना है तो इसकी बॉडी  पर चार लाख से कम खर्च नहीं होगा।


भारत में ट्रक बॉडी मेकर / सबसे अच्छे बॉडी मेकर कहां-कहां 

आपकों ट्रक जंक्शन पर बतातें हैं कि  बेस्ट ट्रक बॉडी भारत में कहां-कहां बनाई जाती है। बॉडी मेकिंग के लिए दिल्ली सबसे पहले शहर के रूप में जानी जाती है। यहां साउथ और वेस्ट देहली में यह काम बेहतर तरीके से किया जाता है। इसके बाद गुडगांव में भी बढिया ट्रक बॉडी मेकर हैं। यूपी के गाजियाबाद और राजस्थान के जोधपुर सिटी में भी ट्रकों की उत्तम क्वालिटी की बॉडी बनाई जाती है। इधर अलवर में भी ट्रक बॉडी मेकर पूरे देश में जाने जाते हैं। वहीं गुजरात के सूरत और तमिलनाडु के चेन्नई सिटी में ट्रक बॉडी बनाने वाली एक से एक बढ कर एक्सपर्ट हैं।

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TJFacebok
Instragram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube     -  https://bit.ly/TruckYT

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Call Back Button Call Us