जानें, चक्कों से कैसे पता चलेगी ट्रक की लोडिंग क्षमता

News Date 19 Sep 2021

जानें, चक्कों से कैसे पता चलेगी ट्रक की लोडिंग क्षमता

कितने चक्का ट्रक में कितना टन माल होगा लोड

अगर आप ट्रक ट्रांसपोर्ट व्यवसाय करना चाहते हैं तो आपको ट्रकों की लोडिंग क्षमता की पूरी जानकारी होनी चाहिए। किस ट्रक में कितना माला लोड किया जा सकता है, माल की लोडिंग कैसे करनी है, माल कहां से कहां पहुंचाना है? आदि, इन सभी ट्रक बिजनेस की खास बातों को ध्यान में रखते हुए यदि आप व्यापार करते हैं तो निश्चित रूप से आपके कारोबार में बढ़ोतरी होगी। 

आपको बता दें कि ट्रकों की अलग-अलग केटेगिरी के अनुसार इनमें भारवहन की क्षमता होती है। माल की ढुलाई में अक्सर कमर्शियल ट्रक ही उपयोग में लिए जाते हैं। इनमें साधारण  ट्रक, मिनी ट्रक, थ्री व्हीलर, पिकअप और चार पहियों से अधिक पहियों वाले यानि 6, 10, 12 ,16 व अन्य चक्का वाले ट्रक शामिल हैं।  जानकारी के अनुसार ट्रकों की भार वहन क्षमता 1 टन से लेकर 40 टन से अधिक वजन ढोने तक की होती है।

ट्रकों में लोड क्षमता की सूची 

यहाँ हम आपको ट्रको के चक्को के अनुसार उनके भार ढोने की क्षमता के बारे में बता रहे हैं। आइये जानते हैं कि कितने चक्का ट्रक मे कितना माल आता है। 

1. 1 से 2.5 टन भार ढोने वाले ये हैं ट्रक 

यहां आपको बता दें कि ट्रकों की 3 व्हीलर तथा 4 व्हीलर  केटेगिरी में 1 से 2.5 टन भार ढोने वाले ट्रकों के मॉडल हैं। इनमें मारुति सुजुकी सुपर कैरी, महिंद्रा जीतो, टाटा ऐस गोल्ड और अतुल शक्ति कार्गो थ्री व्हीलर उच्च प्रदर्शन करने वाले वाहन है। इनमे से अतुल शक्ति कार्गो थ्री व्हीलर 9.38 एचपी का है। इसकी जीवीडब्ल्यू 1020 किलोग्राम है। इसके अलावा भारत में 1 टन से 2.5 टन वजन ढोने वाले अन्य लोकप्रिय ट्रक मॉडल भी शामिल हैं। 

2. 2.5 से 5 टन भार ढोने वाले ट्रक

यहां आपको बता दें कि भारत में 2.5 टन से 5 टन भार क्षमता वाले अलग-अलग कंपनियों के बिभिन्न मॉडल उपलब्ध है। 2.5 से 5 टन भार क्षमता वाले ट्रक मॉडल में टाटा 407 गोल्ड एसएफसी, अशोक लेलैंड दोस्त प्लस और अशोक लेलैंड बडा दोस्त शामिल हैं। इनके अलावा अशोक लेलैंड दोस्त स्ट्रांग और अन्य कई वाहन हैं। इनकी कीमत और अन्य विशेषताएं जानने  के लिए आप ट्रक जंक्शन की विजिट कर सकते हैं। भारत में 5 टन पिकअप ट्रक के कई मॉडल हैं। ये लंबे समय तक कार्य करने में पूरी क्षमता रखते हैं। वहीं आयशर, फोर्स, महिंद्रा आदि कंपनियां भी 2.5 से 5 टन ट्रकों की पेशकश करती हैं। 

3. 5 से 10 टन भार ढोने वाले ट्रक 

ट्रकों में भार ले जाने की क्षमता के बारे में यदि सर्वाधिक लोकप्रिय ट्रक मॉडलों की बात की जाए तो इस रेंज में कई बढिया वाहन जैसे टिपर, मिनी ट्रक, और ट्रक के मॉडल आपको उपलब्ध हो जाएंगे। ये मॉडल अशोक लेलैंड पार्टनर 6 टायर, अशोक लेलैंड पार्टनर 4 टायर, टाटा टी 10. अल्ट्रा, टाटा अल्ट्रा टी 7 इलेक्ट्रिक ट्रक, टाटा 710 एसएफसी, आयशर प्रो 2059 आदि हैं।  इन सभी श्रेणी के वाहनों में उन्नत तकनीक प्रयोग की गई है। ये सभी उच्च माइलेज की क्षमता रखते हैं। यदि आप ट्रक जंक्शन पर आएंगे तो यहां आपको 5 से 10 टन वजन क्षमता वाले 48 ट्रक मॉडल उपलब्ध होंगे। इनमें 4  पहियों वाले 16 और 6  पहियों वाले 32 ट्रक मॉडल विभिन्न कंपनियों के अलग-अलग वेरिएंट में भी मिलेंगे। 

4. 10 से 20 टन भार वाहन वाले ट्रक 

ट्रकों की भार क्षमता की बात की जाए तो 10 से 20 टन भार ले जाने वाले ट्रकों में टिपर, मिनी ट्रक और ट्रक अलग-अलग ब्रांड में मिलते हैं। इनमें आयशर, फोर्स, टाटा, अशोक लेलैंड आदि कंपनियां भी आकर्षक फीचर्स  और उन्नत तकनीक के साथ 10 से 20 टन वाले ट्रकों की पेशकश करते हैं। भारत में 10 से 20 टन वाले ट्रकों में वाणिज्यिक ट्रकों की लंबी श्रृंखला है। ट्रक जंक्शन पर 15 से 20 टन भार ढोने वाले ट्रकों के भी कई उत्कृष्ट मॉडल उपलब्ध हैं। इसके अलावा 20 टन लॉरी के भी कई बढिया मॉडल हैं।  10 से 20 टन भार ढोने वाले ट्रक मॉडलों की कुल संख्या 68 है। ये सभी छह टायर वाले ट्रक हैं। मुख्य ट्रक मॉडलों में टाटा के 18, आयशर के 16, अशोक लेलैंड 14,भारत बेंज के 10, महिंद्रा एंड महिंद्रा के 6, एसएमएल इसुजु के 2, मॉन का  और एसएमडब्ल्यू का 1 मॉडल उपलब्ध है। यहां बता दें कि 10 से 20 टन भार ढोने वाले ट्रकों की इंजन क्षमता तकरीबन 150 एचपी की होती है। 

5. 20 से 40 टन भार ढ़ोने वाले ट्रक 

यदि हम 20 से 40 टन भार क्षमता वाले ट्रकों की बात करें तो इनमें भारत के सबसे बढिया  ट्रक भारत बेंज 2823 सी, भारत बेंज 3528 सी, और भारत बेंज 3523 आर हैं।  इनके अलावा  आयशर, महिंद्रा, अशोक लेलैंड, एएमडब्ल्यू, वोल्वो आदि के भी मॉडल उत्तम क्वालिटी के आते हैं। 20 से 40 टन भार वाले ट्रकों की श्रेणी में टिपर, ट्रांजिट मिक्सर और अन्य ट्रक मॉडल आते हैं। 40 टन वाहन मॉडल का उपयोग निर्माण और परिवहन के भारी कार्यों के लिए अधिक किया जाता है। इस श्रेणी के ट्रकों के टायरों की संख्या 10 या 12 तक होती है। 

6. 40 टन से अधिक भार वहन वाले ट्रक 

यहां बता दें कि 40 टन से अधिक भार ढोने वाले ट्रकों में भारत में वोल्वो एफएच 520 पुलर, भारत बेंज 5528 टीटी और भारत बेंज 4228 आर प्रमुख मॉडल हैं। इनके अलावा स्कैनिया, टाटा, अशोक लेलैंड कंपनियां ग्राहकों के लिए 40 टन से लेकर 300 टन भार क्षमता वाले ट्रक मॉडल पेश करती हैं।  इनकी माइलेज शानदार होती है। इनमें भी टिपर, टै्रक्टर और ट्रक के अलग-अलग रेंज के मॉडल होते हैं।  आपको ट्रक जंक्शन की विजिट करने पर यहां 140 टन, 240 टन, 45 टन, 120 टन, 170 टन 110 टन,  80 टन, 200 टन और 300 टन भार क्षमता वाले ट्रक मॉडल और इनकी कीमत आदि जानकारी उपलब्ध हो जाएगी। 

अब चक्कों के आधार पर पहले से ज्यादा मिलेगा लोड 

अब ट्रक मालिकों के लिए एक खुशखबर यह भी है कि आपका वाहन कितने टन माल की ढुलाई करेगा, यह ट्रक का चक्का तय करेगा। टिपर, थ्री व्हीलर, मिनी ट्रक, लॉरी या कोई भी कमर्शियल वाहन हो केंद्र सरकार के आदेश पर उसमें भार क्षमता बढाने का काम कई प्रांतों में शुरू हो चुका है। बता दें कि बिहार के धनबाद परिवहन विभाग ने केंद्र के आदेश की पालना मेंं चक्के के आधार पर लोडिंग क्षमता बढ़ाने के आदेश दे दिए हैं। इसके लिए भार वहन सीमा बढ़ाने और माल ढुलाई के लिए फिटनेस सर्टिफिकेट अनिवार्य होगा। लोडिंग क्षमता बढ़ाने का लाभ नए और पुराने दोनों श्रेणी के वाहनों पर लागू होगा। 

20 से 25 प्रतिशत तक बढ़ी लोडिंग क्षमता 

ट्रक मालिकों की जानकारी के लिए बता दें कि केंद्रीय परिवहन विभाग  के नए आदेश के बाद प्रदेश के परिवहन विभाग पहले की अपेक्षा वाणिज्यिक वाहन मालिकों को अपने वाहनों में चक्के के आधार पर 20 से 25 प्रतिशत ज्यादा माल लदान की मंजूरी दे सकते हैं। चक्कों का मापदंड यह रहेगा कि सामने के धुरी में दो पहियों और पीछे के चार पहियों का वजन मौजूदा 16.2 टन से बढ़ा कर 19 टन कर दिया गया है। इसी तरह से 10 चक्का ट्रक के लिए वजन क्षमता 25 टन से बढ़ा कर 28.5 टन कर दी है। 12 चक्का ट्रक के लिए 31 टन से बढ़ा कर 36 टन, 14 चक्का ट्रक के लिए वाहन वजन 37 टन से बढ़ा कर 43.5 टन कर दिया है।  इसके अलावा 18 चक्का वाले ट्रक के लिए 42.2 से बढ़ाकर वजन क्षमता 47.5 टन कर दिया गया है। 22 चक्का ट्रेलरों के लिए वजन ढोने की क्षमता 49 टन से बढ़ा कर 55 टन कर दी गई है। 

लदान क्षमता बढऩे से होगा ज्यादा फायदा 

वाणिज्यिक वाहनों में माल लदान की क्षमता में वृद्धि करने से इन वाहन मालिकों को कई फायदे होंगे। एक तो ओवरलोडिंग भ्रष्टाचार मामलों पर रोक लग सकेगी। वहीं लॉजिस्टिक लागत में कमी होगी। नए मापदंडों में  चक्के के आधार पर जो माल लदान बढ़ाने की छूट प्रदान की गई है उससे छोटे, मझौले और बड़े तीनों श्रेणी के ट्रकों के मालिकों को लाभ मिलेगा। इनमें पहले से 3 से 6 टन ज्यादा माल ले जाया जा सकेगा।  

ट्रक मालिकोंं के लिए ध्यान देने योग्य बातें 

हालांकि केंद्र सरकार के निर्देश पर राज्य सरकारों ने ट्रकों में माल लदान की क्षमता को बढ़ाने की अनुमति प्रदान करना शुरू कर दिया है लेकिन इसके लिए परिवहन विभाग ने कुछ नियम तय किए हैं। इनमें विभाग की निबंधन पुस्तिका में विभाग द्वारा एंट्री करवाना सबसे जरूरी है। इसके अलावा ट्रकों के वार्षिक फिटनेस प्रमाण पत्र व्यवस्था को भी समाप्त कर दिया गया है। अब इसकी जगह ऐसे प्रमाण पत्रों का दो साल में नवीनीकरण कराने की जरूरत पड़ेगी। परिवहन विभाग के नियमानुसार लदान क्षमता बढ़ाने के बाद वाहन मालिकों के लिए यह भी जरूरी होगा कि वे ऑनर बुक में प्रविष्टि अवश्य करा लें। 

समझें, लोडिंग क्षमता में क्या हो सकते हैं बदलाव

केंद्र सरकार की ओर से जारी नए आदेशों के तहत ट्रकों में लोडिंग क्षमता बढ़ाने के इस नए नियम को इस तरह से समझा जा सकता है। जैसे पहले जो ट्रक  9 टन भार ले जा रहे थे वे अब 12 टन ले जा सकेंगे। इसी प्रकार जो ट्रक 15 टन माल ले जा रहे थे वे अब 18 टन ले जा सकते हैं। जो ट्रक 21 टन माल ले जा रहे हैं वे 27 टन तक वजन का माल ले जा सकते हैं। 25 टन वाले ट्रक 31.5 टन माल ले जा सकेंगे। वहीं 34 टन वाले ट्रक 40 टन तक माल की ढुलाई कर सकते हैं। यहां भी बता दें कि नए नियम के अनुसार ट्रकों में नई भार लिमिट से भी 1 टन ज्यादा और बड़े ट्रोलों में 2.5 टन अतिरिक्त भार भी अंडर लिमिट ही माना जाएगा। 
 

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रकपेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक ट्रक या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube    -  https://bit.ly/TruckYT
  

 

 

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक