कन्या सुमंगला योजना : ट्रक चालक परिवार की बेटियों को मिलेंगे 15 हजार

News Date 11 Aug 2021

कन्या सुमंगला योजना : ट्रक  चालक परिवार की बेटियों को मिलेंगे 15 हजार

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना : तीन लाख सालाना से कम आमदनी वाले परिवारों को मिलेगा योजना का लाभ

कोविड-19 के प्रभाव देश की ऑटो मोबाइल इंडस्ट्री भी प्रभावित हुई है। ऑटो मोबाइल इंडस्ट्री में शामिल ट्रक कंपनियां, ट्रैक्टर कंपनिया, ट्रांसपोर्ट कंपनियों का व्यापार खासा प्रभावित हुआ है। ट्रक इंडस्ट्री से जुड़े लोगों ने करीब डेढ़ साल तक कोविड-19 के कारण बिगड़ी अर्थव्यवस्था का सामना किया। हालांकि सरकार की ओर से ऑटो मोबाइल इंडस्ट्री को उबारने के लिए कई घोषणाएं की गई थी। जिसका लाभ ट्रक इंडस्ट्री को मिला। ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में आपको मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana) के बारे में जानकारी दी जा रही है। इस योजना के तहत ट्रक इंडस्ट्री, टांसपोर्ट इंडस्ट्री से जुड़े परिवारों की बेटियों को 15 हजार रुपए की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाती है ताकि उनकी पढ़ाई में किसी तरह की बाधा उत्पन्न नहीं हो।

जानें, क्या है कन्या सुमंगला योजना

देश की ट्रक इंडस्टी से लाखों ऐसे परिवार जुड़े हुए हैं जिनकी सालाना आय 3 लाख रुपए से कम है। इनमें ट्रक चालक, पिकअप चालक, इलेक्ट्रिक ट्रक चालक, खलासी, छोटे टांसपोर्ट कारोबारी, ट्रक मिस्त्री, ट्रक मजदूर आदि शामिल है। उत्तर प्रदेश में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की बेटियों की शिक्षा और उनके उज्जवल भविष्य के लिए मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना संचालित है। योगी सरकार की इस योजना में बेटियों की शिक्षा और स्वास्थ्य दोनों का लाभ रखा जाता है। योजना के तहत बेटी के जन्म से लेकर उसके ग्रेजुएट होने तक 15 हजार रुपए मिलेंगे। इन उत्तरप्रदेश में ग्राम पंचायत स्तर से लाभार्थियों की चयन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। विभाग की ओर से लक्ष्य भी जारी किए गए हैं। 

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana) की खास बातें 

इस योजना के तहत प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की बेटियों को मदद की जाती है। बेटियों की शिक्षा और स्वास्थ्य दोनों का ख्याल रखा जाता है। योजना बेटियों की शिक्षा पर जोर देती है।  योजना के लाभार्थियों के अकाउंट में रुपया डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर होता है। योजना का लाभ उन परिवारों को मिलेगा जिनकी सालाना आय सिर्फ 3 लाख रुपए या उससे कम है। योजना के तहत एक परिवार की दो बेटियों को इस स्कीम का लाभ मिलता है।  अगर किसी महिला को जुड़वां बच्चियां होती हैं और इसके बाद तीसरी संतान भी बेटी होती है, तो तीसरी बेटी को भी इस योजना का लाभ मिलेगा। योजना के तहत जब तक बेटी वयस्क नहीं हो जाती तब तक सहायता की राशि मां के अकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी। माता के निधन होने पर राशि को पिता के अकाउंट में ट्रांसफर किया जाएगा। यदि माता-पिता दोनों की मौत हो जाती है तो बेटी के अकाउंट में डायरेक्ट राशि ट्रांसफर की जाएगी।

कन्या सुमंगला योजना डॉक्यूमेंट

योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी परिवार का मूलरूप से उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए, साथ ही स्थाई निवास प्रमाण पत्र भी होना चाहिए। स्थाई निवास प्रमाण पत्र में राशन कार्ड, आधर कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, बिजली, टेलीफोन व पानी का बिल आदि शामिल है।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना : छह चरणों में मिलती है सहायता

ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में अब आपको बताएंगे कि कन्या सुमंगला योजना का पैसा कब तक आएगा। योजना के तहत लाभार्थी परिवार को 6 चरणों में सरकार से 15 हजार रुपए की आर्थिक सहायता मिलती है। 

  • पहला चरण : बेटी के जन्म पर लाभार्थी परिवार को 2 हजार रुपए मिलते हैं।
  • दूसरा चरण : वैक्सीनेशन के दौरान परिवार को एक हजार रुपए की मदद की जाती है।
  • तीसरा चरण : जब बेटी पहली कक्षा में आती है तो दो हजार रुपए दिए जाते हैं।
  • चौथा चरण : बेटी के छठी क्लास आने पर 2 हजार रुपए दिए जाते हैं।
  • पांचवां चरण : बेटी के 9वीं कक्षा में आने पर 3 हजार रुपए की मदद की जाती है।
  • छठां चरण : 12 वीं कक्षा पास करने के बाद स्नातक या दो साल के डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लेने पर 5 हजार रुपए की मदद दी जाती है।

कन्या सुमंगला योजना रजिस्ट्रेशन / कन्या सुमंगला योजना Online Apply

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन और ऑफ लाइन दोनों तरीकों से किया जा सकता है। योजना में आवेदन वेबसाइट https://mksy.up.gov.in/women_welfare/index.php पर ऑनलाइन किया जा सकता है। इसके अलावा जो लोग ऑनलाइन आवेदन के लिए जनसुविधा केंद्र/सीएससी सेंटर नहीं जा सकते हैं वो फॉर्म भरकर खंड विकास अधिकारी, एसडीएम, जिला परिवीक्षा अधिकारी, उपमुख्य परिवीक्षा अधिकारी कार्यालय में जमा कर सकते हैं।

केंद्र की सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) भी है संचालित 

आपको बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार ने भी साल 2015 से बालिकाओं के लिए सुकन्या समृद्धि योजना संचालित कर रखी है। इस योजना में किसी बेटी के जन्म लेने के बाद और 10 साल की उम्र से पहले कम से कम 250 रुपए जमाकर बैंक में खाता खोजा जा सकता है। योजना में एक साल में अधिकतम 1.5 लाख रुपए जमा कराए जा सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) का खाता खोलने के बाद इसे बेटी के 18 या 21 साल के होने तक चलाया जा सकता है। खाता खोलने के बाद 14 साल तक राशि जमा करानी होती है। सुकन्या समृद्धि योजना का खाता किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में खुलवाया जा सकता है।

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube     -  https://bit.ly/TruckYT

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक