मारुति सुजुकी ने ग्रामीण भारत में 50 लाख वाहन बेचने का बनाया रिकॉर्ड

News Date 21 Jul 2021

मारुति सुजुकी ने ग्रामीण भारत में 50 लाख वाहन बेचने का बनाया रिकॉर्ड

मारुति सुजुकी : ग्रामीण बाजारों से आता है कंपनी की कुल बिक्री का 40 प्रतिशत शेयर

मारुति सुजुकी इंडिया देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी के रूप में जानी जाती है। साथ ही मारुति सुजुकी ट्रक और मारुति सुजुकी मिनी ट्रक बहुत पसंद किए जाते हैं। कंपनी ने सेल्स के मामले में एक और मील का पत्थर पार किया है। मारुति सुजुकी इंडिया ने बुधवार को जानकारी दी कि कंपनी ने भारत के ग्रामीण बाजारों में कुल बिक्री का 50 लाख यूनिट का आंकड़ा पार कर लिया है। मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड (एमएसआईएल) ने एक बयान जारी कर कहा कि ग्रामीण भारत में कंपनी के 1,700 से अधिक कस्टमाइज्ड आउटलेट हैं। इस मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर के चलते कंपनी की कुल ब्रिकी का 40 प्रतिशत आज ग्रामीण बाजारों से आता है।


वित्त वर्ष 2020-21 में घटी थी कंपनी की बिक्री

कोविड-19 की प्रथम लहर के कारण मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड की वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान बिक्री में गिरावट आई थी। कंपनी द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनी ने कुल 14 लाख 57 हजार 861 यूनिट बेची थी जो 2019-20 में बेची गई 15 लाख 63 हजार 297 यूनिट से कम थीं। अब कंपनी ने वित्त वर्ष 2021-22 में अप्रैल-जून अवधि में 3 लाख 53 हजार 614 यूनिट की बिक्री की है।


ग्रामीण भारत की जरुरत के अनुसार उत्पाद उपलब्ध कराने के लिए कंपनी प्रतिबद्ध

ग्रामीण भारत में 50 लाख यूनिट वाहन बेचने की उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए, एमएसआईएल के वरिष्ठ कार्यकारी निदेशक (विपणन और बिक्री) शशांक श्रीवास्तव ने कहा, "हमें यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि हमारे ग्राहकों और स्थानीय डीलर भागीदारों की मदद से, हमने ग्रामीण भारत में कुल 50 लाख बिक्री का कीर्तिमान हासिल किया है।" उन्होंने कहा कि ग्रामीण बाजारों का कंपनी के कारोबार में एक विशेष स्थान है। हमने इस सेगमेंट की जरूरतों का ध्यानपूर्वक अध्ययन किया है। हम ग्रामीण भारत में ग्राहकों की जरूरतों से मेल खाने वाले उत्पादों और सेवाओं को उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि देश के बड़े ग्राहकों की आकांक्षाएं महानगरों के समान ही होती हैं, लेकिन वे अधिक ध्यान और देखभाल की मांग करते हैं।


ग्रामीण इलाकों पर 2008 से किया फोकस

शशांक श्रीवास्तव ने बताया कि कंपनी को शुरू से ही देश के बाजारों की क्षमता में विश्वास था। 2008 में मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने ग्रामीण इलाकों की ओर एक केंद्रित और संरचित दृष्टिकोण के साथ अपनी रणनीति को मजबूत किया, जो उस समय वैश्विक वित्तीय संकट से कम प्रभावित था। उन्होंने कहा कि ग्रामीण भारत में अपार संभावनाओं का दोहन करने के लिए 'घर घर में मारुति' (हर घर में मारुति) के उद्देश्य के साथ नेटवर्क बनाने पर काम शुरू हुआ। कंपनी ने ग्रामीण ग्राहकों के साथ गहराई से जुडऩे के लिए स्थानीय स्तर की विभिन्न पहलों पर काम करना शुरू किया था।

 

मारुति सुजुकी कंपनी के टप पाइंट 4 हजार से अधिक

मारुति सुजुकी कंपनी के 40 हजार से अधिक टच पाइंट है। कंपनी ने हाल ही में ग्रामीण ग्राहकों की बदलती आकांक्षाओं के अनुरूप प्रीमियम कारों के लिए अपना रिटेल आउटलेट, नेक्सा को देश के बाजारों में पेश किया है। विस्तृत ग्रामीण बिक्री नेटवर्क के अलावा कंपनी ने 4,000 से अधिक सर्विस टच पॉइंट भी स्थापित किए हैं, जिसमें ग्रामीण ग्राहकों को बिक्री के बाद सहायता प्रदान करने के लिए 235 'सर्विस-ऑन-व्हील्स' शामिल हैं।


मारुति सुजुटी ट्रक बीएस-4 उत्सर्जन मानक के अनुसार निर्मित

आपको बता दें कि मारुति सुजुकी ने ने बीएस-4 उत्सर्जन मानकों के अनुसार ट्रक और मिनी ट्रक का निर्माण किया है। कंपनी का सबसे कम कीमत वाला ट्रक मारुती सुजुकी इको कार्गो ट्रक है जिसकी कीमत 3.81 लाख* रुपए से शुरू होती है। मारुति सुजुकी कमर्शियल वाहनों को सीएनजी और पेट्रोल वेरिएंट में उपलब्ध कराता है। सबसे लोकप्रिय मारुति सुजुकी ट्रक मारुति सुजुकी सुपर कैरी मिनी ट्रक, मारुति सुजुकी ईको कार्गो ट्रक सहित कई अन्य हैं। ट्रक जंक्शन पर मारुति सुजुकी के लोकप्रिय मॉडल्स की अधिक जानकारी उपलब्ध है।

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक