Detect your location
Select Your location
Clear
  • Pune
  • Bangalore
  • Mumbai
  • Hyderabad
  • Chennai
Popular Cities
Pune
Bangalore
Mumbai
Hyderabad
Chennai
jaipur
Montra
By Saurjesh Kumar
01 Mar 2024
Automobile

NHAI ने 10 महीने में 53000 करोड़ से ज्यादा किया टोल कलेक्शन, बना रिकॉर्ड

By Saurjesh Kumar News Date 01 Mar 2024

NHAI ने 10 महीने में 53000 करोड़ से ज्यादा किया टोल कलेक्शन, बना रिकॉर्ड

टोल वाली सड़कों का हुआ विस्तार, बहुत जल्द जीपीएस आधारित होगा टोल कलेक्शन

भारत में टोल वाली सड़कों का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। टोल सड़कों के विस्तार की वजह से भारत में टोल कलेक्शन में भारी वृद्धि दर्ज की गई है। बता दें कि नेशनल हाइवे पर टोल कलेक्शन में पिछले एक वर्ष में भारी तेजी आई है। वर्तमान वित्त वर्ष में जनवरी लास्ट तक नेशनल हाइवे पर टोल कलेक्शन 53000 करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है। इस हिसाब से वित्त वर्ष के अंतिम महीने तक टोल का कलेक्शन 62,000 करोड़ रुपये के रिकॉर्ड लेवल तक पहुंचने की उम्मीद की जा रही है। भारत के सरकारी आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल से जनवरी तक पिछले 10 महीनों में एवरेज मंथली टोल कलेक्शन 5,328.9 करोड़ रुपये रहा।

आखिर क्यों बढ़ा टोल कलेक्शन?

टोल टैक्स वाली सड़कों का डेवलपमेंट और FASTag यूजर्स की लगातार बढ़ती संख्या को टोल कलेक्शन में तेजी की वजह माना जा रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, वर्तमान वित्तीय वर्ष के कुल 10 महीनों में नेशनल हाइवेज पर टोल कलेक्शन 53,000 करोड़ रुपये से पार पहुंच गया है। इसके अलावा देश में टोल वाली सड़कों की लंबाई की बात करें तो जहां नवंबर के अंत तक देश में टोल वाली सड़कों की कुल लंबाई में 75 प्रतिशत तक बढ़ोतरी हुई है।  सड़कों की कुल लंबाई 25,996 किमी से 45,428 किमी हो गई है। इसके अलावा भारत में बड़ी संख्या में fastag भी जारी हुए। जिससे टोल टैक्स में बढ़ोतरी देखी है। आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल नवंबर के लास्ट तक कुल 7.98 करोड़ से ज्यादा फास्टैग जारी हुए थे।

जल्द शुरू होंगे GPS बेस्ड Toll Plaza

टोल टैक्स का कलेक्शन बढ़ाने के उद्देश्य से सरकार लगातार इस क्षेत्र में तकनीकी एडवांसमेंट कर रही है। हाल ही में केंद्र सरकार ने टोल टैक्स कलेक्शन बढ़ाने के लिए जीपीएस बेस्ड टोल टैक्स कलेक्शन तकनीक प्रस्तुत की। GPS बेस्ड टोल प्लाजा शुरू होने से एक्सपर्ट्स का मानना है कि इससे सरकारी खजाने में काफी बढ़ोतरी की जा सकेगी। इससे ड्राइवर वैकल्पिक रास्तों के मुकाबले टोल टैक्स वाली सड़कों का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल कर पाएंगे। 

फास्टैग से रोजाना औसत टोल संग्रह

नेशनल हाईवे टोल टैक्स संग्रह में फास्टैग का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। fastag की मदद से रोजाना औसत टोल संग्रह करीब 147.31 करोड़ है। सालाना आंकड़ों की बात करें तो वित्तीय वर्ष 2018-19 में यह टोल संग्रह 25,155 करोड़ रुपए था। वित्तीय वर्ष 2019-20 में यह टोल टैक्स 27,638 करोड़ हुआ। 2020-21 में 27,924 करोड़, 2021-22 में 33,908 करोड़ और वित्तीय वर्ष 2022-23 में टोल टैक्स कलेक्शन का यह आंकड़ा 48,028 करोड़ रुपये रहा है।

भारतीय कमर्शियल व्हीकल्स मार्केट से जुड़ी सभी अपडेट ट्रक जंक्शन आप तक पहुंचाता है। भारत में नये मॉडल का ऑटो रिक्शामिनी ट्रक, पिकअप, टेंपो ट्रैवलर, ट्रक, टिपर या ट्रांजिट मिक्सर लॉन्च होते ही हम सबसे पहले आपको उसकी सभी स्पेसिफिकेशन्स, फीचर्स और कीमत समेत पूरी जानकारी उपलब्ध करवाते हैं। देश में लॉन्च होने वाले या लॉन्च हो चुके सभी कमर्शियल व्हीकल्स के मॉडल और ट्रांसपोर्ट से जुड़ी खबरें ट्रक जंक्शन पर रोजाना प्रकाशित की जाती है। ट्रक जंक्शन आप तक ट्रकों की प्रमुख कंपनियां जैसे टाटा मोटर्समहिंद्रा एंड महिंद्राअशोक लेलैंड और वोल्वो सहित कई कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट पहुंचाता है, जिसमें ट्रकों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी शामिल है। यदि आप भी हमसे जुड़ना चाहते हैं, तो हमारी इस ट्रक जंक्शन बेवसाइट के माध्यम से मासिक सदस्य के रूप में आसानी से जुड़ सकते हैं।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

Facebook - https://bit.ly/TruckFB

Instagram - https://bit.ly/TruckInsta

YouTube   - https://bit.ly/TruckYT 

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Call Back Button Call Us