ट्रक के खर्च में इस तरह करें 40 प्रतिशत तक बचत

News Date 06 Sep 2021

ट्रक के खर्च में इस तरह करें 40 प्रतिशत तक बचत

जानें, ट्रक एवं पिकअप के रखरखाव का सही तरीका


आप यदि ट्रक व्यवसायी हैं और आपके पास एक या इससे अधिक ट्रक हैं तो अपने ट्रक की समय-समय पर देखभाल करने  रखनें की आदत डालें। इससे आपको करीब 40 प्रतिशत कुल मेंटेनेंज खर्च में बचत हो सकती है। आज के दौर में ट्रक खरीदने में कम से कम दस लाख से लेकर 40-50 लाख तक का खर्च होता है। जरूरी नहीं है कि इतना पैसा हर ट्रक व्यवसायी अपने स्तर पर जुटा लेता हो। इसके लिए फाइनेंस कंपनियों या बैंक से लोन की भी व्यवस्था करनी होती है। आपका ट्रक किसी भी श्रेणी का हो समय-समय पर उसकी देखभाल करनी  बहुत जरूरी है। यहां ट्रक जंक्शन पर जानकारी के लिए बता दें कि ट्रक के कौन-कौन से ऐसे उपकरण और पार्ट्स हैं जिनकी मेंटेंनेंस पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है। इसके अलावा यहां आपको  पिकअप ट्रक के रखरखाव के बारे में भी बताया जा रह है। 

अनुबंध आधार पर रखरखाव  है  बचत का सौदा 

ट्रक की देखभाल के लिए कई ऐसे पार्ट्स हैं जिनकी वर्ष में कम से कम एक बार आवश्यक तौर पर मेंटेंनेंस करनी होती है। इनके बेहतर  रखरखाव के लिए वार्षिक अनुबंध भी किया जा सकता है। इससे आपके पैसे बचेंगे क्योंकि किसी एक कंपनी से रखरखाव के कॉन्टेक्ट से आपको निश्चित राशि ही देनी होगी। वार्षिक अनुबंध के आधार पर रखरखाव की बात की जाए तो आज भी देश के 50 प्रतिशत ट्रक मालिकों के पास इस तरह का अनुबंध नही होता लेकिन इस पर ध्यान देने की बात है। यह एक बचत का सौदा है। 

इन  पार्ट्स का रखेंगे ध्यान तो व्यवसाय में बचेगा  पैसा 

ट्रक, पिकअप ट्रक थ्री व्हीलर, मिनी ट्रक, लॉरी, कंटनेर ट्रक या किसी भी मॉडल के ट्रक हों इनकी उचित देखभाल के साथ ही कुछ खास उपकरणों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है। यहां आपको ट्रक के महत्वपूर्ण पार्ट्स के रखरखाव की उपयोगी जानकारी दी जा रही है। यदि रखरखाव के इन तरीको को ट्रक मालिक अपना शिड्यूल में शामिल कर लें तो रखरखाव के कुल खर्चे में  करीब 40 प्रतिशत तक की बचत हो सकती है।  

बैटरी- : 

बैटरी की देखभाल के लिए यह भी ध्यान रखना जरूरी है कि लंबे समय तक वाहन यदि बंद रहा है तो ट्रक को फ्लैट बैटरी का सामना करना पड़ सकता है। इससे बचने के लिए बैटरी निकाल सकते हैं। गाडी की चेचिस से बैटरी डिस्कनेक्ट करने के लिए बैटरी का नेगेटिव टर्मिनल खोल दें। इसके अलावा बैटरी की उम्र बढाने के लिए हर 7 से 14 दिन में इंजन को चालू करें। 

ब्रेक्स- 

 ट्रक के बेतहर संचालन के लिए ब्रेक्स की भी समय-समय पर देखभाल जरूरी है। ब्रेक स्ट्रॉक भी जांचे। टायर में दरार नहीं आ सके इसके लिए एयर डिस्क ब्रेक रोटर्स, ड्रम ब्रेक, टेपेट बूट और गाइड पिन बूट का निरीक्षण बेहद आवश्यक होता होता है। 

स्टीयरिंग सिस्टम- 

ट्रक का स्टियरिंग सबसे महत्वपूर्ण होता है। यदि स्टियरिंग में जरा सी भी तकनीकी गड़बड़ हो तो दुर्घटना का अंदेशा रहता है। इसके लिए स्टियरिंग की ग्रीसिंग कराएं और इसकी  जांच करना जरूरी है। 

मिरर और लाइट - 

ट्रकों के शीशे और लाइट्स को भी समय-समय पर साफ करते रहना चाहिए। मिरर से वाहनों की स्थिति पता चलती है। इसके अलावा लाइट्स से सामने सडक़ के गड्ढे, स्पीड ब्रेकर्स एवं अन्य सभी वाहनों की आवाजाही का पता लगता है। कई बार मौसम के अनुकूल भी लाइट्स का उपयोग किया जाता है जैसे अधिक कोहरे में येलो लाइट काम  ली जाती है। 

ऐसे करें ट्रकों की देखभाल, टायरों की बढ़ेगी उम्र्र

  • आउट आफ बेलेंस टायर ड्राइवर के स्वास्थ्य के लिए भी समस्या पैदा कर सकते हैं। ऐसे में खराब या अनबेलेंस वाले टायरों को बदलवा सकते हैं।
  • जब ट्रकों में माल लोड किया हुआ हो तब टायरों में उचित वायु का दबाव बनाए रखें। 
  • टायर की कंडीशन, इनमें हवा की मात्रा हर यात्रा से पहले और साप्ताहिक जांच करते रहना चाहिए। इसके अलावा टायर एलाइनमेंट को भी नियमित जांचने की जरूरत होती है। 
  • टायर्स की गहराई की नियमित अंतराल पर जांच करनी चाहिए। ऐसा करने से टायर की आयु कम से कम 2.5 गुना बढ सकती है। 
     

ट्रक के पार्ट्स की ग्रीसिंग कराने से होंगे कई फायदे 

ट्रक के लगभग सभी पाटर््स में खास तौर पर किंगपिन एवं यू जोड़े की उचित ग्रीसिंग कराएं। स्टार्टिंग और चार्जिंग सिस्टम के लिए बैटरी, स्टार्टर परिवर्तन, केबल और कनेक्शन काम कर रहे हैं तो यह सुनिश्चित कर लें कि आप लागत को कैसे बचा सकते हैं। प्रत्येक रखरखाव के दौरान बैटरी को निकाल कर उसे साफ करें। इसके बाद उसे लोड करें। 

निकास सिस्टम और शीतलक की जांच 

ट्रक की संपूर्ण देखभाल के तहत डीज पार्टिकुलेट फिल्टर की नियमित सफाई होनी चाहिए वहीं नियमित रूप से शीतलक की स्थिति की जांच करने से इंजन ज्यादा गर्म होने से बचाव में मदद मिलती है। 

ट्रक ड्राइवर इन बातों का रखें ध्यान 

ट्रक की देखभाल के बारे में ड्राइवर की बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है। ट्रक में क्या हो रहा है? यह ड्राइवर से ज्यादा बेहतर कोई नहीं जानता। एक ट्रक ड्राइवर को क्या व्यवहार अपने ट्रक के बारे में अपनाना चाहिए यह आपको यहां बताते हैं- 

  • ट्रक ड्राइवर ऑन रोड ब्रेक निरीक्षण करें। 
  • ड्राइविंग करते समय ब्रेक या खुरदरे ईलिंग इंजन के टूटने से झटके लग सकते हैं, इसका ड्राइवरों को समय रहते पता कर लेना चाहिए। 
  • ट्रक ड्राइवर को चाहिए कि टायरों के बीच अनावश्यक गैप और टायरों के दबाव की नियमित जांच करें। 

जानें, पिकअप ट्रक के रखरखाव की ये दस बातें 

ट्रक समुदाय में पिकअप ट्रक भी खासा लोकप्रिय वाहन है। इसका उपयोग माल वाहक के तौर पर अधिक किया जाता है। पिकअप ट्रक की दक्षता और इसके लंबे समय तक चलने के लिए आवश्यक रखरखाव बहुत जरूरी है। यहां पिकअप ट्रक के रखरखाव संबंधी 10 बातें इस प्रकार हैं- : 

1.  पिकअप ट्रक के सभी हिस्सों की नियमित सफाई  करें

पिकअप ट्रक के आंतरिक और बाहरी हिस्सों की नियमित रूप से सफाई करना जरूरी है। इसके लिए कार शैम्पू, कारनौबा वैक्स, पॉलिश, क्ले बार और पेंट, सीलेंट जैसे उत्पाद काम लिए जा सकते हैं। 

2. टायरों की जांच करें 

पिकअप के टायरों की जांच भी आवश्यक है। इसके तहत अनुशंसित वायु का दाब रखें। यदि आवश्यक हो तो खराब हो चुके टायरों को समय रहते बदल दें। 

 3. इंजन ऑयल और तरल पदार्थों को नियमित रूप से बदलें

पिकअप ट्रक के इंजन के ऑयल और तरल पदार्थों की नियमित तरीके से जांच की जानी चाहिए। यह इंजन के कुशल संचालन के लिए जरूरी है। इसके अलावा शीतलक, ब्रेक, ट्रांसमिशन, पावर स्टीयरिंग और विंडशील्ड वॉशर आदि तरल पदार्थों को जांचते रहना चाहिए। 

4. अल्टरनेटर  की जांच करें 

पिकअप ट्रक अल्टीनेटर के बारे में आपको बता दें कि इलेक्ट्रिकल मशीन होती है जो मशीनरी की क्षमता को अल्टरनेटिंग इलेक्ट्रिक एनर्जी मे बदलता है। इसलिए  समय पर इसकी देखभाल  जरूरी है।  अगर आपकी बैटरी रिचार्ज नहीं हो रही हो तो वह अल्टीनेटर की सहायता से आसानी से भर जाएगी। 

 5. बैटरी की जांच करना है भी बहुत जरूरी 

पिकअप ट्रक में बैटरी का काफी इस्तेमाल होता है। यदि ट्रक को बिजली खोने से बचाना है तो बैटरी समय रहते रिचार्ज करना जरूरी है। इसके लिए बैटरी को भी जांचे। 

6. बेल्ट, होसेस, ब्रेक पैड, टाइमिंग बेल्ट आदि समायोजित हों

आपके पिकअप ट्रक में बेल्ट, होसेस, ब्रेक पैड, ड्राइव बेल्ट और टाइमिंग बेल्ट आदि को नियमित रूप से समायोजित करते रहें। आवश्यकता पडऩे पर इनको बदला जा सकता है। ब्रेक प्रणाली मजबूत हो। इसके अलावा ब्रेक पैड यदि खराब हैं तो इनको चेंज करें। 

7. तेल और वायु फिल्टर बदलें

पिकअप ट्रक के इंजन की क्षमता बनाए रखने के लिए जरूरी है कि एयर फिल्टर को समय रहते बदलें। इससे इंजन को ठीक से सांस लेने में सुविधा रहती है। इसके अलावा तेल फिल्टर को भी नियमित रूप से बदला जाना चाहिए। यह ईंधन प्रणाली को दुरूस्त रखता है। 

8.  स्पार्क प्लग बदलना 

पिकअप ट्रक में स्पार्क प्लग नियमित तरीके से बदलना होता है। इससे ट्रक लंबे समय तक बेहतर चलते हैं। वहीं ट्रक का इंजन सही तरीके से कार्य करता है। 

9. हुड के नीचे के फ्यूज की जांच करें

पिकअप ट्रक में हुड के नीचे के फ्यूज की जांच करना आवश्यक है। कई बार फ्यूज के फटने से विंडो, डैश लाइट, रेडियो और पावर विंडो में खराबी आ सकती है। 

10.  रिवर्स लाइट्स का निरीक्षण जरूरी 

पिकअप ट्रक के रखरखाव की महत्वपूर्ण बातों में बता दें कि रिवर्स लाइट्स, ब्रेक लाइट्स, टर्न सिग्नल्स और रिवर्स लाइट्स का निरीक्षण  करना जरूरी है। यदि बल्व जल गए हैं तो इन्हे तुरंत बदलें। 
 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

 

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube     -  https://bit.ly/TruckYT

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक