कमर्शियल व्हीकल : हैवी ट्रक सहित वाणिज्यिक वाहनों की जोरदार बिक्री की उम्मीद

News Date 05 Jul 2021

कमर्शियल व्हीकल : हैवी ट्रक सहित वाणिज्यिक वाहनों की जोरदार बिक्री की उम्मीद

कमर्शियल व्हीकल: आगामी छह माह होंगे महत्वपूर्ण, लॉकडाउन में ढील और प्रतिस्थापन मांग के कारण वृद्धि की उम्मीद

कोविड-19 के प्रकोप के कारण करीब डेढ़ साल से कमर्शियल वाहनों की बिक्री में गिरावट देखी गई है। लेकिन कोरोना वैक्सीनेशन के कारण कोरोना महामारी का प्रकोप कम हो रहा है। ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के दिग्गजों के अनुसार आगामी छह माह के दौरान हैवी ट्रक सहित अन्य कमर्शियल वाहनों की बिक्री में तेजी से उठाव होगा। उद्योग के अधिकारियों का कहना है कि कमर्शियल वाहनों की बिक्री आर्थिक गतिविधि का एक बैरोमीटर है। साल 2021 की दूसरी छमाही में प्रतिस्थापन मांग और स्थानीय लॉकडाउन में ढील के बीच निर्माण गतिविधि में तेजी के कारण मांग में मजबूत वृद्धि दर की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि 18.5 टन और उससे अधिक क्षमता वाले हैवी ट्रकों से बिक्री में तेजी की उम्मीद है।


मीडियम और हैवी कमर्शियल व्हीकल्स की बिक्री बढऩे की उम्मीद

वीई कमर्शियल व्हीकल्स के प्रबंध निदेशक विनोद अग्रवाल के अनुसार पिछले दो वर्षों के दौरान हैवी ड्यूटी ट्रकों की बिक्री बड़े पैमाने पर प्रभावित हुई थी। अब जब रिकवरी शुरू होगी तो यह भारी शुल्क वाले ट्रकों से शुरू होगा और सेल्स का अच्छा वॉल्यूम देखने को मिलेगा। उद्योग के अधिकारियों का कहना है कि भले ही वाणिज्यिक वाहन निर्माता कोरोनो वायरस महामारी की दूसरी लहर से प्रभावित होने के कारण खोए हुए वॉल्यूम को पूरी तरह से प्राप्त करने में सक्षम न हो, लेकिन इस वित्तीय वर्ष में मध्यम और भारी वाणिज्यिक वाहनों (3.5 टन से अधिक की क्षमता वाले) की बिक्री पिछले वित्तीय वर्ष में पंजीकृत 3 लाख 34 हजार यूनिट्स से अधिक बढऩे की उम्मीद है।


कमर्शियल व्हीकल सेक्टर : कंस्ट्रक्शन और माइनिंग सेगमेंट से ज्यादा उम्मीद

ईटी से बातचीत में अग्रवाल ने बताया कि जीडीपी आउटलुक अच्छा है। मानसून के अनुकूल रहने की उम्मीद है और इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट लाइन में है, इसलिए कंस्ट्रक्शन और माइनिंग सेगमेंट बहुत अच्छा करेंगे। व्यापार में सुधार के साथ ढुलाई बढ़ेगी। इसलिए हम आशान्वित हैं कि वर्ष के शेष भाग में, जहां तक वाणिज्यिक वाहन उद्योग का संबंध है, स्थिति काफी बेहतर होनी चाहिए। महामारी की दूसरी लहर में उद्योग वित्त वर्ष 20२2 में इस सेगमेंट में 400,000 इकाइयों की बिक्री की उम्मीद कर रहा है।


हैवी ड्यूटी ट्रकों की बिक्री 3 लाख यूनिट पार करने की उम्मीद

पिछले दो वित्तीय वर्षों के दौरान आर्थिक मंदी और एक्सल-लोड मानदंडों में संशोधन के कारण हैवी ड्यूटी ट्रकों की मांग सबसे कठिन थी, जिसने मौजूदा ट्रकों में अतिरिक्त पेलोड की ढुलाई की अनुमति दी थी। उद्योग के हितधारकों का कहना है कि ऐसे ट्रकों की बिक्री 24 महीनों के भीतर 3 लाख यूनिट के आंकड़े को पार करने की उम्मीद है, जो 2018-19 में 2 लाख 95 हजार इकाइयों की चरम मात्रा को पार कर गई थी। उन्होंने कहा कि भले ही भारत स्टेज-6 उत्सर्जन मानदंडों के लागू होने से ट्रकों की शुरुआती अधिग्रहण लागत बढ़ गई है, लेकिन बेहतर तकनीक ने इन वाहनों के स्वामित्व की कुल लागत को कम कर दिया है। वीईसीवी के अग्रवाल ने कहा कि वित्त वर्ष 19 में हैवी ट्रकों की बिक्री रिकॉर्ड स्तर 2 लाख 95 हजार पर पहुंच गई थी जो बाद में घटकर 1 लाख 11 हजार-1 लाख 12 हजार  ईकाई रह गई थी। उन्होंने कहा कि हमारे बुनियादी ढांचे, व्यापार और प्रतिस्थापन चक्रों के आधार पर हैवी ट्रकों की बिक्री अगले 1-2 वर्षो में 3 लाख इकाई से अधिक होगी जो कि वित्त वर्ष 2019 से अधिक है। उन्होंने कहा कि ऐसा कोई कारण नहीं है कि इंडस्ट्री इस शिखर को पार नहीं कर सके। 


चालू वित्त वर्ष में 400 करोड़ रुपये का पूंजीगत व्यय निर्धारित

वीईसीई ने बाजार में सुधार के साथ बढ़ती उपभोक्ता मांग को पूरा करने की उत्पादन क्षमता का विस्तार किया है। दिसंबर में कंपनी ने भोपाल में 350 करोड़ रुपए के निवेश से स्थापित एक नई विनिर्माण सुविधा का उद्घाटन किया था। साथ ही बीएस-6 मानकों को अपनाते हुए अपने संपूर्ण उत्पाद पोर्टफोलियो का नवीनीकरण किया है। इसने बीएस-6 मानदंडों के दूसरे चरण की तैयारी के लिए चालू वित्त वर्ष में 400 करोड़ रुपए का पूंजीगत व्यय निर्धारित किया है, जो दो साल में शुरू होने वाला है। 

 

पूंजीगत खर्च के एक हिस्से का इस्तेमाल कलपुर्जा विभाग के विस्तार में होगा

वीई कमर्शियल व्हीकल्स के प्रबंध निदेशक विनोद अग्रवाल के अनुसार पूंजीगत खर्च के एक हिस्से का इस्तेमाल कलपुर्जा विभाग के विस्तार में किया जाएगा, जिसे कलपुर्जों के लिए अच्छे ऑर्डर मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें गियर्स डिवीजन के लिए अमेरिका से बहुत सारे निर्यात ऑर्डर मिल रहे हैं। हमारे पास अन्य ओईएम, कृषि-ट्रैक्टर उद्योग, दोपहिया निर्माताओं से बहुत मजबूत मांग है। इसके अलावा, 1 अप्रैल, 2023 से अनिवार्य बीएस-6 (2) पर निवेश शुरू हो रहे हैं। हमारे उत्पाद पहले से अधिक होंगे। लेफ्ट-हैंड ड्राइव बाजारों के लिए अधिक निर्यात विशिष्ट उत्पाद, भारत के लिए अधिक वेरिएंट, नियमित अंतराल पर लॉंच किए जाएंगे। अग्रवाल ने कहा कि अगर वॉल्यूम में सुधार होता है तो वीईसीवी वर्ष की दूसरी छमाही में भोपाल में अपनी एक पेंट शॉप पर अतिरिक्त 150 करोड़ रुपए का निवेश करने का फैसला करेगा।

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

 

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक