टाटा मोटर्स को कमर्शियल व्हीकल की बिक्री में वृद्धि की उम्मीद

News Date 18 Nov 2021

टाटा मोटर्स को कमर्शियल व्हीकल की बिक्री में वृद्धि की उम्मीद

छोटे ट्रांसपोर्टरों की कम मांग से वाणिज्यिक वाहनों का बाजार प्रभावित

चालू वित्त वर्ष के दौरान वाणिज्यिक वाहन बाजार में वाहनों की बिक्री पिछले साल के मुकाबले अभी कम है, लेकिन टाटा मोटर्स को चालू वित्त वर्ष के शेष महीनों में कमर्शियल वाहनों की अच्छी बिक्री की उम्मीद है। टाटा मोटर्स के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि छोटे ट्रांसपोर्टरों की ओर से मांग कम निकलने के कारण कमर्शियल वाहनों की बिक्री प्रभावित हुई है। छोटे ट्रांसपोटर्स वाणिज्यिक वाहनों (Commercial Vehicles) के बाजार में 50 प्रतिशत से ज्यादा का योगदान करते हैं। इसके अलावा ऋणदाताओं ने कमर्शियल व्हीकल के लिए फाइनेंस भी कम किया। इससे भी कमर्शियल वाहनों की बिक्री प्रभावित हुई है। 

चालू वित्त वर्ष में 20-22 प्रतिशत वृद्धि की उम्मीद

टाटा मोटर्स (Tata Motors) में कमर्शियल व्हीकल्स बिजनेस यूनिट के प्रमुख गिरीश वाघ ने कहा कि उद्योग को चालू वित्त वर्ष में वित्त वर्ष 2021 के निचले स्तर पर 20-22 प्रतिशत तक वृद्धि की उम्मीद है। पिछले वित्त वर्ष में लगभग 5 लाख 69 हजार कमर्शियल व्हीकल बेचे गए थे, जो एक दशक पहले वित्त वर्ष 2011 की तुलना में कम और वित्त वर्ष 19 में एक मिलियन से अधिक इकाइयों की अधिकतम बिक्री का लगभग आधा था। कमिर्शयल व्हीकल मार्केट की कुल बिक्री में मीडियम और हैवी वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री करीब 1 लाख 61 हजार यूनिट रही है जो साल दर साल 28 प्रतिशत कम थी। इसके अलावा हल्के कमर्शियल वाहनों का हिसाब अलग है।

छोटे ट्रांसपोर्टरों को फाइनेंस सुविधा मिलने में हुई दिक्कत

कमर्शियल व्हीकल (Commercial Vehicles) की धीमी बिक्री का एक कारण फाइनेंस सुविधा का अभाव भी रहा है। फाइनेंस कंपनियों ने छोटे ट्रांसपोर्टरों को फाइनेंस करने में विशेष सावधानी बरती जिससे छोटे ट्रांसपोर्ट कारोबारियों ने कुछ समय के लिए नया वाहन खरीदने का विचार ही बदल दिया। आपको बता दें कि छोटे ट्रांसपोर्ट कारोबारियों में 10 से कम वाहनों के मालिक शामिल हैं। वाघ के अनुसार इस खंड की 95 प्रतिशत बिक्री फाइनेंस पर ही निर्भर करती है। साथ ही पिछले कुछ महीनों में अपराधों में वृद्धि होने से भी बिक्री प्रभावित हुई है। वाघ ने आगे कहा कि कोविड-19 महामारी के अनुभव के बाद छोटे ट्रांसपोर्टर फिलहाल जोखिम उठाने से बच रहे हैं।

कमर्शियल व्हीकल निर्माताओं के बोर्ड ने अप्रैल-जून तिमाही के अंत में कहा था कि बिक्री में सुधार हो रहा है, लेकिन जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान 1,66,000 यूनिट की बिक्री हुई जो वित्त वर्ष 2020 के बिक्री स्तर से अधिक नहीं हो पाई। बिक्री का यह आंकड़ा वित्त वर्ष 2019 के हाई लेवल से एक तिहाई कम है। 

लंबे मानसून से भी कमर्शियल व्हीकल की बिक्री प्रभावित

वाघ ने आगे बताया कि इस साल मानसून लंबे समय तक चला। बारिश के कारण खनन गतिविधियां लंबे समय तक बंद रही जिससे नए कमर्शियल वाहनों की बिक्री प्रभावित हुई। इसके अलावा छोटे ट्रांसपोटर पुराने वाहनों के बेड़े का विस्तार करने से बचते रहे। ट्रांसपोर्टरों की कम लाभप्रदता के कारण सीवी की बिक्री में तेजी नहीं आई।  देश के सबसे बड़े कमर्शियल व्हीकल निर्माता टाटा मोटर्स ने कहा कि ई-कॉमर्स, बुनियादी ढांचा विकास, खनन, सीमेंट, इस्पात और कृषि जैसे क्षेत्रों से बेहतर माल ढुलाई की मांग के साथ बाजार की स्थिति में सुधार हो रहा है और भविष्य में बेहतर बिक्री की उम्मीद है।

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक ट्रक या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें। 

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube    -  https://bit.ly/TruckYT

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक