टाटा मोटर्स ने कमर्शियल व्हीकल के लिए 5W30 सिंथेटिक इंजन ऑयल किया लांच

News Date 21 Sep 2022

टाटा मोटर्स ने कमर्शियल व्हीकल के लिए 5W30 सिंथेटिक इंजन ऑयल किया लांच

5W30 सिंथेटिक इंजन ऑयल से BS6 सीवी के एमिशन में आएगा सुधार

इंजन किसी भी वाहन का हार्ट होता है। यदि यह सही तरह से काम करेगा तो गाडी दौड़ेगी ,वरना हांफेगी। वर्तमान में कमर्शियल वाहनों की उपयोगिता लगातार बढ़ रही है। वाणिज्यिक वाहनों के समूहों की बहुत बड़ी जरूरत है- इन वाहनों की अच्छी माइलेज की। यह सब तभी संभव है जब इंजन की क्षमता बरकरार रहे। इंजन की एफिसिएंसी ऑयल पर डिपेंड करती है। देश की सबसे बड़ी वाणिज्यिक वाहन निर्माता कंपनी टाटा मोटर्स मोटर्स ने ट्रकों की लागत को कम करने और ट्रक बिजनेस में प्रतिस्पर्धा के बीच लाभप्रदता हासिल करने के लिए नये इंजन ऑयल के लांच की घोषणा की है। ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में आपको टाटा मोटर्स के इस नये इंजन ऑयल की विशेषताओं और इससे इंजन को मिलने वाले बेनिफिट्स के बारे में पूरी जानकारी दी जा रही है। इसे अवश्य पढ़े और शेयर करें।

5W30 सिंथेटिक इंजन ऑयल का 35,000 घंटे परीक्षण

आपको बता दें कि टाटा मोटर्स ने 5डब्ल्यू30 इंजन ऑयल का 35000 घंटों से अधिक समय तक परीक्षण किया। कंपनी के अनुसार यह ऑयल इंजन के जीवन को बढ़ाता है और उसके घर्षण को कम करके स्टेबिलिटी को बरकरार रखता है। वहीं इंजन के एमिशन के कार्य में भी सुधार लाता है। इससे 5डब्ल्यू30 सिंथेटिक इंजन ऑयल की विश्वसनीयता बढ़ती है। ट्रांसपोर्टर के लिए अधिक राजस्व और लाभ हासिल करने के लिए सडक़ पर वाहन का अपटाइम बढ़ जाता है। इस नये इंजन ऑयल का तीन वर्षों से अधिक समय तक कठोर परिस्थितियों में बड़े पैमाने पर परीक्षण किया गया। इसे कठिन इलाकों में दस लाख किलोमीटर से अधिक चलाया गया है।

क्या कहते हैं टाटा मोटर्स के प्रेसिडेंट और सीटीओ?

टाटा मोटर्स के नये इंजन ऑयल के लांच की घोषणा के मौके पर कंपनी के प्रेसिडेंट और सीटीओ राजेंद्र पेटकर ने कहा कि एक प्रभावी और कुशल इंजन ऑयल वाहन के कार्बन उत्सर्जन को कम करने के सबसे सुविधाजनक एवं कम लागत वाले तरीकों में से एक है। सडक़ों पर चलने वाले सभी वाणिज्यिक वाहनों पर विवेकपूर्ण तरीके से किए गए सरल उपायों के एक साथ प्रभाव के कारण कार्बन फुटप्रिंट में तेजी से सुधार होगा। उन्होंने यह भी कहा कि इंजीनियरिंग रिसर्च सेंटर में हमारी टीम एडिटिव मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र से साझेदारों के साथ मिल कर काम करते हुए इन हाउस लुब्रिकेंट फार्मलेशन का सह- इंजीनियरिंग और विकास कर रही है। यही कारण है कि कई नये खोजे गए रास्तों को पार करने में टाटा मोटर्स को आसानी रहती है।

2030 तक कार्बन की तीव्रता 45 फीसदी कम होगी

बता दें कि परीक्षण के दौरान टाटा मोटर्स के सिंथेटिक इंजन ऑयल के इस्तेमाल से कार्बन फुटप्रिंट में कमी आई है, इससे कंपनी का मानना है कि आगामी 2030 तक यह कमी 45 प्रतिशत तक आ जाएगी। इससे बेहतर ईंधन अर्थव्यवस्था, लंबे समय तक नाली अंतराल और उन्नत इंजन की सुरक्षा प्रदान करने में मदद मिलेगी। टाटा मोटर्स  कुशलता में सुधार, नये वैकल्पिक ऊर्जा संसाधनों की खोज,सुरक्षा, डिजीटलीकरण और इन केबिन अनुभवों के क्षेत्रों में कनेक्टेड वाहन टेक्नॉलॉजी एवं मूल्य वृद्धि के माध्यम से नेतृत्व कर रहा है।

सिंथेटिक ऑयल से BS6 इंजन की बढ़ेगी एफिसिएंसी

टाटा मोटर्स ने नई जनरेशन के BS6 डीजल इंजनों के बेहतर प्रदर्शन के लिए 5 डब्ल्यू 30 सिंथेटिक इंजन ऑयल पेश किया है। इसे विशेष रूप से विकसित किया गया है। कंपनी के अनुसार इस तेल से बीएस 6 डीजल इंजन की एफिसिएंसी बढ़ेगी। वहीं वाणिज्यिक वाहनों के एमिशन में सुधार आएगा। सडक़ों पर वाहन अपटाइम को ट्रांसपोर्टर के लिए अधिक राजस्व और लाभ पहुंचाता है।
 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram -  https://bit.ly/TruckInsta
Youtube     -  https://bit.ly/TruckYT

Tata Yodha Pickup

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Tata -v-Youdha
Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक