ई-अश्व ऑटोमोटिव ने लिथियम बैटरी का उत्पादन वृद्धि के लिए टेक्सर एनर्जी के साथ किया समझौता

News Date 01 Oct 2022

ई-अश्व ऑटोमोटिव ने लिथियम बैटरी का उत्पादन वृद्धि के लिए टेक्सर एनर्जी के साथ किया समझौता

लिथियम बैटरी का उत्पादन वृद्धि के लिए ई-अश्व ऑटोमोटिव ने टेक्सर एनर्जी के साथ के साथ हाथ मिलाएं

वर्तमान में इलेक्ट्रिक वाहनों का इस्तेमाल लगातार बढ़ता जा रहा है, ऐसे में इन वाहनों के अधिक उत्पादन के साथ ही इनकी बैटरी की बेहतर गुणवत्ता होना बहुत जरूरी है। यदि बैटरी उत्तम क्वालिटी की होगी तो इलेक्ट्रिक वाहनों का संचालन कुशल तरीके से होगा। वहीं बैटरी की लाइफ बढऩे से इन वाहनों की लागत में कमी आएगी। इलेक्ट्रिक वाहनों के साथ इनकी बैटरी एक तरह से इनकी जान मानी जाती है। भारत में लिथियम ऑयन बैटरियों का चलन अधिक है। बैटरी उत्पादन में कई कंपनियां कार्यरत हैं, इन्ही में एक प्रमुख है टेक्सर एनर्जी। इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं में अग्रणी ई-अश्व ऑटोमोटिव कंपनी ने अब लिथियम बैटरी उत्पादन के लिए टेक्सर एनर्जी के साथ हाथ मिलाया है। इससे ई- अश्व ऑटोमोटिव का आधुनिक बैटरी की विश्वसनीय आपूर्ति के साथ उत्पादन में तेजी लाने का उद्देश्य पूरा होगा। दोनो के बीच हुई इस साझेदारी के कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की लंबी श्रृंखला को ब्रांडेड लिथियम बैटरी आसानी से मिल जाएगी। ई- अश्व ऑटोमोटिव और टेक्सर एनर्जी की इस नई दोस्ती को लेकर पूरी ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में आपको पूरी जानकारी दी जा रही है। हमारे साथ बने रहें और इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें। 

क्या कहते हैं ई-अश्व ऑटोमोटिव के संस्थापक ? 

इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं में प्रमुख ई- अश्व ऑटोमोटिव कंपनी के संस्थापक और सीईओ, विकास गुप्ता ने कंपनी की ओर से की गई इस नई साझेदारी के बारे में कहा है कि बैटरी इलेक्ट्रिक वाहनों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है और भारतीय बाजार की जरूरतों को पूरा करने के लिए स्थानीय स्तर पर मैन्यूफैक्चरिंग की अधिक आवश्यकता है। टेक्सर एनर्जी के साथ साझेदारी करके ई- अश्व ने बैटरी निर्माण के क्षेत्र में प्रवेश किया है। इससे टेक्सर एनर्जी को इसकी पेशकशों का विस्तार करने का अवसर मिलेगा और ई- अश्व ऑटोमोटिव को कंपनी के स्वामित्व वाली लिथियम ऑयन बैटरी प्रदान करने में मदद मिलेगी। इस साझेदारी के कारण दोनो ही कंपनियां अपने ग्राहकों को गुणवत्तापूर्ण बैटरी पैक प्रदान करके देश भर में अपना नेटवर्क बढ़ाएंगी। 

ई-अश्व ऑटोमोटिव ने पहले भी की है साझेदारी 

आपको बता दें कि ई- अश्व ऑटोमोटिव कंपनी लिथियम ऑयन बैटरी में अपनी क्षमताओं को लगातार मजबूत बनाने में लगी हुई है। इसी वर्ष इसने अगस्त माह में लिथियम ऑयन और लीड एसिड बैटरी निर्माता न्यूरॉन एनर्जी कंपनी के साथ भागीदारी की। इससे हर महीने इसे 600 ईवी बैटरी का पैक मिलता है। वहीं प्रति वर्ष 10,000 बैटरी पैक सोर्सिंग के लिए है। ई- अश्व ऑटोमोटिव ने हाल ही यह भी घोषणा की है कि वह जल्द ही गाजियाबाद में अपना नया ईवी डिजायन और इंजीनियरिंग केंद्र शुरू करने जा रही है। 

लास्ट माइल डिलीवरी में सहायक 

बता दें कि ई- अश्व ऑटोमोटिव कंपनी दोपहिया इलेक्ट्रिक वाहनों के अलावा लोडिंग वाले थ्री व्हीलर का भी उत्पादन तेजी से करने लगी है। इसके थ्री व्हीलर्स में ई- कार्गो, ई कचरा, ई-स्कूल वैन और अन्य तिपहिया वाहन शामिल हैं। इनके अलावा ई रिक्शा, ई- लोडर और इलेक्ट्रिक ऑटो भी यह कंपनी बनाती है। इलेक्ट्रिक वाहन उत्पादन में यह पिछले चार वर्षों से कार्यरत है। अब तक देश के 26 क्षेत्रों में इसकी असेंबली यूनिट्स स्थापित की जा चुकी हैं। 

ई- अश्व ऑटोमोटिव : देश भर में हैं 1000 से अधिक डीलरों का बड़ा नेटवर्क 

इलेक्ट्रिक व्हीकल्स निर्माता ई- अश्व ऑटोमोटिव बहुत तेज गति से आगे बढऩे वाली कंपनी है। अब इसने विभिन्न श्रेणी के 18,000 से अधिक ईवी उत्पादों की बिक्री की है। देश में इसके 1,000 से अधिक डीलर हैं। वहीं 16 राज्यों में असेंबली इकाइयां स्थापित हैं। 

जानें, क्या है लिथियम-ऑयन बैटरी की तकनीक ? 

इलेक्ट्रिक वाहनों में इस्तेमाल की जाने वाली लिथियम-ऑयन बैटरी क्या है, यह कैसे काम करती है? इसके बारे में आपको बता दें कि यह एक उन्नत बैटरी तकनीक है जो लिथियम ऑयनों को अपने इलेक्ट्रो कैमिस्ट्री के मुख्य घटकों के रूप में उपयोग करती है। जब इनका डिस्चार्ज चक्र शुरू होता है तो एनोड में लिथियम परमाणु आयन में बदलने लगते हैं और उनके इलेक्ट्रॉन से अलग हो जाते हैं। लिथियम ऑयन एनोड से चलते हैं और इलेक्ट्रालाइट से तब तक गुजरते हैं जब तक वे कैथोड तक नहीं पहुुंच पाते। यहां अपने इलेक्ट्रॉनों के साथ दोबार मिलन होता है और विद्युत रूप से बेअसर हो जाते हैं। लिथियम ऑयन एनोड और कैथोड के बीच एक सूक्ष्म पारदर्शी विभाजक के जरिए इन्हे ट्रांसफर करने में सक्षम बनाना पड़ता है।  

कहां-कहां हो सकता है इस्तेमाल ? 

लिथियम-ऑयन बैटरी का इस्तेमाल इलेक्ट्रक ऑटोमोबाइल आयरन फॉस्फेट के मिश्रण से होता है वही ली-ऑयन बैटरी आम तौर पर इलेक्ट्रालाइट के रूप में ईथर का उपयोग करती हैं। इसके अलावा सेलफोन और लैपटॉप में लिथियम कोबाल्ट ऑक्साइड और ग्रेफाइट होता है। लिथियम के छोटे आकार के कारण ली ऑयन बैटरी अधिक वोल्टेज और चार्ज स्टोरेज रख पाने में सक्षम होती है।

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

Follow us for Latest Truck Industry Updates-
FaceBook  - https://bit.ly/TruckFB
Instagram -  https://bit.ly/TruckInsta
Youtube     -  https://bit.ly/TruckYT

Tata Yodha Pickup

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Tata Signa 1918K
Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक