थ्री व्हीलर सेगमेंट में इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी 46 प्रतिशत तक पहुंची

News Date 22 Jun 2022

थ्री व्हीलर सेगमेंट में इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी 46 प्रतिशत तक पहुंची

आईसीई मॉडल को पीछे छोड़ा, तीन वर्षों से लगातार बढ़ रही मांग, अप्रेल-मई में तोड़ा रिकार्ड

भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने के लिए चलाई जा रही ईवी क्रांति रंग ला रही है। कुल खुदरा बिक्री के आंकड़ों में इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेंट ने आईसीई वेरिएंट को कई कदम पीछे छोड़ दिया है। वित्त वर्ष 2022 के अप्रैल और मई माह की बात करें तो इलेक्ट्रिक वाहनों में ई थ्री व्हीलर की बिक्री आईसीई मॉडल से अधिक हुई। इससे वित्त वर्ष 2022 में तिपहिया खंड में इलेक्ट्रिक मॉडल की बाजार हिस्सेदारी 46 प्रतिशत तक पहुंच गई। वहीं पिछले तीन वर्षों से इलेक्ट्रिक वाहनों की यह हिस्सेदारी आईसीई वेरिएंट के मुकाबले लगातार बढ़ रही है। आइए, ट्रक जंक्शन की इस पोस्ट में आपको इसकी पूरी जानकारी उपलब्ध कराते हैं?

2020 से 2022 मई तक यूं बढ़ी ई- थ्री व्हीलर की हिस्सेदारी

बता दें कि तिपहिया इलेक्ट्रिक वाहन खंड की बाजार हिस्सेदारी में पिछले तीन वर्षों से लगातार इजाफा हो रहा है। वित्त वर्ष 2020 में यह 20 प्रतिशत थी जो 2021 में 34 प्रतिशत हो गई। इसके बाद वर्ष 2022 में इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर की बाजार हिस्सेदारी 46 प्रतिशत हो गई। ई- कॉमर्स फर्मों और इंट्रा सिटी लॉजिस्टिक्स खिलाडिय़ों की बढ़ती मांग के कारण इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर्स की बिक्री ने अप्रैल और मई में आंतरित दहन मॉडल को पीछे छोड़ दिया। इन दो महीनों में खुदरा बिक्री 83,904 मार्केट इंटेलिजेंस पीजीए लैब्स के आंकड़ों के मुुताबिक आईसीई वेरिएंट की 40,927 यूनिट्स के मुकाबले इलेक्ट्रिक मॉडल में 42,977 यूनिट्स की हिस्सेदारी है। सरकार का लक्ष्य है कि आगामी 2030 तक ई तिपहिया वाहनों की खुदरा बिक्री 80 प्रतिशत तक पहुंच जाए।

थ्री व्हीलर्स की मांग में वृद्धि का कारण कम परिचलन लागत

यहां बता दें कि इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहनों की मांग क्यों बढ़ रही है? इसका मुख्य कारण इन वाहनों की कम परिचलन लागत होना है। डीजल मॉडल के लिए 4 रुपये प्रति किमी के मुकाबले एक इलेक्ट्रिक मॉडल जो एक समान पेलोड की लागत लगभग एक रुपये प्रति किलोमीटर ले सकता है। इस संबंध में महिंद्रा इलेक्ट्रिक के सीईओ सुमन मिश्रा ने कहा कि इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर्स आईसीई की तुलना में बेहतर परिचलन लागत प्रदान करते हैं। उधर पिछले कुछ दिनों ईंधन की कीमतों में लगातार वृद्धि हुई जिससे लोगों का ज्यादा झुकाव इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर होने लगा है।

महिंद्रा ने कई इलेक्ट्रिक मॉडल किए पेश

यहां बता दें कि इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर सेगमेंट में महिंद्रा कंपनी ट्रेओ जोर और ई अल्फा कार्गो मॉडल एवं ट्रेओ, यारी और ई अल्फा मिनी जैसे यात्री मॉडल पेश करता है। कंपनी के इलेक्ट्रिक वाहन व्यवसाय एवं निर्यात के ईवीपी सुधांशु अग्रवाल और पियाजियो इंडिया ने कहा कि इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर्स की बढ़ती स्वीकार्यता के पीछे केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा किए गए निरंतर प्रयास हैं जिन्होंने नागरिकों को ईवी की ओर बढऩे के लिए प्रोत्साहित किया है। इसी तरह सब्सिडी ने बाजार में उपलब्ध आईसीई मॉडल की तुलना में मूल्य समानता लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि गुड्स कैरियर स्पेस में कंपनी के तीन इलेक्ट्रिक मॉडल और दो पैसेंजर कैरियर हैं। फेम स्कीम 5 लाख रुपये से कम लागत वाले वाहनों को प्राथमिकता देती है। वाहन की लागत के 20 प्रतिशत की सीमा के साथ जो भी कम हो। इसके अलावा कुछ राज्य रजिस्ट्रेशन शुल्क और रोड टैक्स की छूट के रूप में भी प्रोत्साहन प्रदान करते हैं। वहीं ओमेगा सेकी मोबिलिटी के संस्थापक एवं अध्यक्ष उदय नारंग ने कहा है कि जब से महामारी शुरू हुई तो दुनिया भर के उपभोक्ता निश्चित तौर पर भारत में ऑनलाइन खरीदारी कर रहे हैं। इससे इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर्स की बिक्री में इजाफा हो रहा है।

इन कंपनियों ने लांच किए ईवी के ये नये मॉडल

आपको बता दें कि कई कंपनियों ने यात्री और कार्गो ई थ्री व्हीलर्स के जो नये मॉडल पेश किए हैं वे खासे लोकप्रिय हो रहे हैं। कंपनी रेज +, रेज + रैपिड ,रेज+स्वैप और रेज + फ्रॉस्ट जैसे इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर कार्गो मॉडल पेश करती है। इसने हाल ही में पैसेंजर सेगमेंंट के  लिए इलेक्ट्रिक  थ्री व्हीलर लांच किया है। हालांकि बजाज ऑटो यात्री और कार्गो दोनो सेगमेंट में अग्रणी है, जब आईसीई संचालित थ्री व्हीलर्स की बात आती है तो मौजूदा दौर में इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर नहीं है, यह अभी 2022 सितंबर में लांच करने की योजना है। कंपनी पहले पैसेंजर सेगमेंट के लिए इलेक्ट्रिक मॉडल पेश करेगी उसके बाद कार्गो सेगमेंट में यह तिपहिया वाहन लाएगी।

अप्रैल 2022 में थ्री व्हीलर की हुई जोरदार बिक्री

बता दें कि इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेंट में जिस तरह से थ्री व्हीलर आगे बढ़ रहा है वैसी मांग किसी वाहन की नहीं है। थ्री व्हीलर सेगमेंट की सालाना आधार पर ग्रोथ की बात की जाए तो यह 95.91 प्रतिशत रही। इसी खुदरा बिक्री पिछले दो सालों के मुकाबले इस साल सबसे बेहतर रही है। अप्रैल 2022 में इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहन की बिक्री 42,396 यूनिट रही। इससे पहले अप्रैल 2021 में थ्री व्हीलर्स की बिक्री 21,640 यूनिट हुई। इसी तरह अप्रैल 2020 में इन वाहनों की खुदरा बिक्री 10,567 यूनिट थी। अप्रैल 2022 और अप्रैल 2021 की तुलना में थ्री व्हीलर्स की बिक्री में बजाज ऑटो लिमिटेड ने पहले स्थान पर रह कर बाजी मारी। इसने अप्रैल 2022 में 13,377 यूनिट थ्री व्हीलर्स बेचे। इस अवधि में बेचे गए इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहनों की खुदरा बिक्री के हिसाब से पियाजियो दूसरे और महिंद्रा एंड महिंद्रा तीसरे स्थान पर रहे थे।

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस, अपना ट्रक चुनें व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर विजिट करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   - https://bit.ly/TruckYT

टाटा योद्धा पिकअप

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक