स्विच मोबिलिटी अशोक लेलैंड के तालमेल से करेगी भारत संयंत्र की स्थापना

News Date 17 Jun 2022

स्विच मोबिलिटी अशोक लेलैंड के तालमेल से करेगी भारत संयंत्र  की स्थापना

पांच वर्ष में 30 करोड़ डॉलर के पूंजीगत खर्च की योजना

भारत की दूसरी सबसे बड़ी कमर्शियल वाहन निर्माता कंपनी अशोक लेलैंड की सहायक स्विच मोबिलिटी इंडिया अब मूल कंपनी यानि अशोक लेलैंड के साथ तालमेल बिठाकर काम करेगी। वह जल्द ही अपने नये स्विच इंडिया कारखाने की स्थापना करेगी। इसके लिए स्विच मोबिलिटी इंडिया अगले पांच सालों में 30 करोड़ डॉलर के पूंजीगत खर्च की योजना लेकर चल रही है। स्विच मोबिलिटी के अनुसार उसके प्रस्तावित कारखाने स्विच इंडिया के लिए अशोक लेलैंड ही स्थान का चयन करेगी। आइए, जानते हैं अशोक लेलैंड और उसकी सहायिका स्विच मोबिलिटी की यह तालमेल बिठाने की योजना क्या है, इसके क्या लाभ ऑटोमोबाइल क्षेत्र को हो सकेंगे?

योजना पर क्या कहते हैं स्विच मोबिलिटी इंडिया के सीईओ ?

अशोक लेलैंड कंपनी की सहायक स्विच मोबिलिटी द्वारा भारत संयंत्र कारखाना स्थापित करने के लिए तालमेल की योजना पर स्विच मोबिलिटी के निदेशक और सीईओ महेेश बाबू ने कहा है कि हम तालमेल को मजबूत कर रहे हैं। इसीलिए स्विच मोबिलिटी अशोक लेलैंड की सम्पत्ति या भूमि बैंक अथवा कारखानों में एक का उपयोग अपने नए भारत संयंत्र के लिए करेगा। उन्होंने कहा कि हम होसुर, एन्नोर, पंतनगर और देश भर में अन्य स्थानों पर विचार कर रहे हैं, जहां अशोक लेलैंड की संपत्ति है। हम एक-दो महीने में निर्णय लेंगे। वहीं महेश बाबू ने आगे कहा कि स्विच, जो पहले ही लगभग 150 मिलियन डॉलर खर्च कर चुका है उसने अगले 5 साल में वैश्विक स्तर पर 30 करोड़ डॉलर का पूंजीगत खर्च करने की योजना बनाई है। यह संयंत्र क्षमता बनाने, नये प्लेटफार्म विकसित करने और भारत एवं विश्व स्तर पर उत्पादों को रोल आउट करने पर खर्च किया जाएगा।

स्विच मोबिलिटी का उद्देश्य इलेक्ट्रिक उत्पादों को सुलभ बनाना

स्विच मोबिलिटी का मुख्य उद्देश्य भारत, ब्रिटेन, यूरोप और कई वैश्विक बाजारों में इलेक्ट्रिक उत्पादों को अधिक सुलभ बनाना है। इस संदर्भ में कंपनी के चेयरमैन धीरज हिन्दुजा ने कहा है कि हमारी आकांक्षा यही है। इसे देखते हुए कि यह एक स्केलेबल एवं मॉड्यूलर प्लेटफार्म है, इससे अधिक इलेक्ट्रिक बसों और जल्द ही लांच होने वाले इलेक्ट्रिक लाइट वाहनों सहित कई उत्पादों को जन्म देगा।

और भी कई वाहनों के सेगमेंट को करेगी फोकस

बता दें कि स्विच ईआईवी रेंज स्टाफ ट्रांसपोर्ट, इंट्रा सिटी और इंटर-सिटी ट्रैवल, स्कूल बसों और टरमैक वाहनों जैसे सेगमेंट को फोकस करेगी। स्विच इंडिया में फिलहाल 450 कर्मचारियों की एक टीम है और अगले पांच वर्षों में जनशक्ति के लगातार बढऩे की उम्मीद है। ऐसे में स्विच मोबिलिटी इंडिया की अशोक लेलैंड के साथ तालमेल की योजना निश्चित तौर पर सफल होती दिखाई देती है।

स्विच मोबिलिटी ने इलेक्ट्रिक बस प्लेटफार्म लांच किया

बता दें कि स्विच मोबिलिटी इंडिया ने 14 जून 2022 को भारतीय ऑटोमोबाइल बाजार के लिए अपना 12 मीटर इलेक्ट्रिक बस प्लेटफार्म SWITCH EiV 12लांच किया। यह दो प्रकारों में उपलब्ध है। ईआईवी 12 लो फ्लोर एवं ईआईवी 12मानक सहित कंपनी के पास पहले से ही 600 से अधिक बसों के ऑर्डर बुक हैं। कंपनी के अनुसार इन बसों में बंगलुरू मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन के लिए 300 इकाइयां शामिल हैं। वहीं एन्नोर में पहले ही उत्पादन शुरू हो चुका है। अब एक माह में इनकी डिलीवरी आरंभ हो जाएगी।

SWITCH EiV 12 बसों का निर्यात करने के लिए बनेगा भारत संयंत्र

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्विच मोबिलिटी इंडिया ने अपनी जिसEiV 12 EV बस का आर्किटेक्चर हाल ही लांच किया है वह यूरोपीय स्विच EiV 12 EV बस के साथ सामान्य है। इसकी सुविधाओं को भारतीय बाजारों के लिए अनुकूलित किया गया है। यह बस श्रीलंका, बांग्लादेश, इंडोनेशिया, नेपाल, अफ्रीका जैसे बाजारों में निर्यात करने के लिए स्विच मोबिलिटी द्वारा अपने भारतीय कारखाने का उपयोग किया जाएगा। इसके अलावा यूके और यूरोपीय केंद्र अधिक विकसित निर्यात बाजारों को पूरा करेंगे।

जानें, क्या है स्विच मोबिलिटी इंडिया

यहां बता दें कि स्विच मोबिलिटी अशोक लेलैंड कंपनी की सहायक एवं यूके बस निर्माता है। इसके उन्नत वाहन दुनिया के 46 से अधिक देशों में बेचे जाते हैं। यह हरित मोबिलिटी को बढ़ावा देती है। वर्ष 2014 में स्विच ने लंदन की सडक़ों पर पहली ब्रिटिश निर्मित शुद्ध इलेक्ट्रिक बसें पेश की। तभी से यह विकासशील बाजारों में 50 मिलियन से अधिक इलेक्ट्रिक किलोमीटर की दूरी तय करते हुए वर्तमान में यह 300 इलेक्ट्रिकल व्हीकल्स संचालित कर रही है। इसमें अद्वितीय वाहन निर्मित करने की क्षमता है। अपनी नेट जीरो कार्बन टेक्नॉलॉजी, डेटा एनालिटिक्स, सॉफ्टवेयर और ग्राहक सेवा प्रदर्शनकारी अनुभव आदि से स्विच मोबिलिटी को पसंद सर्वोपरि होती है। स्विच मोबिलिटी ने पिछले माह 3000 करोड़ रुपये का निवेश इलेक्ट्रिक बसों के निर्माण के लिए किया। इसके लिए स्पेन में एक संयंत्र की स्थापना की गई है।


क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रक, पेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस, अपना ट्रक चुनें व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर विजिट करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
Youtube   - https://bit.ly/TruckYT

टाटा एस गोल्ड एचटी प्लस

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक