Detect your location

Select Your location

Popular City

  • Pune
  • Bangalore North
  • Mumbai
  • Hyderabad
  • Chennai
Detect your location Detect your location
Popular City
Pune
Bangalore
Mumbai
Hyderabad
Chennai
jaipur
गुरुग्राम में अल्टिग्रीन के शोरूम का उद्घाटन, दिल्ली-एनसीआर को मिलेगा फायदा महिंद्रा जायो Vs आयशर प्रो 2049 : जानें कौनसा है अधिक शक्तिशाली ट्रक अल्टिग्रीन थ्री व्हीलर : कमर्शियल थ्री व्हीलर सेगमेंट में लोकप्रिय इलेक्ट्रिक वाहन इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर कंपनी अल्टिग्रीन की जयपुर में डीलरशिप शुरू 1 अप्रैल से टाटा मोटर्स के कमर्शियल वाहनों की कीमत में 5 प्रतिशत की वृद्धि टाटा मैजिक एक्सप्रेस वैन : आत्मनिर्भरता के लक्ष्य में सफर और व्यापार का मैजिक टॉप 5 मिनी ट्रक : 10 लाख की कीमत में सबसे ज्यादा बिकने वाले मिनी ट्रक मुंबई में अल्टिग्रीन की दूसरी डीलरशिप खुली, ईवी कमर्शियल वाहनों की मिलेगी बड़ी रेंज

लॉजिसि्टक्स सेक्टर को मजबूत बनाएंगे ऑटोनॉमस ट्रक

News Date 28 Dec 2022

लॉजिसि्टक्स सेक्टर को मजबूत बनाएंगे ऑटोनॉमस ट्रक

जानें, रसद ट्रांसपोर्टेशन में ऑटोनॉमस ट्रकों की भूमिका

भारत एक ऐसा देश है जहां सबसे ज्यादा ट्रक्  (Truck) ट्रांसपोर्ट होता है। यहां एक राज्य से दूसरे राज्य और एक जिले से दूसरे जिले से लेकर छोटे कस्बों और गांव देहात तक ट्रकों से ही रोजमर्रा की जरूरतों सहित निर्माण सामग्री और अन्य वस्तुओं की डिलीवरी होती है। इन ट्रकों में ऑटोनॉमस ट्रकों की प्रभावशाली भूमिका हो सकती है। एक सर्वे के अनुसार दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी इकोनॉमी के रूप में भारत में लॉजिसि्टक्स के क्षेत्र में इंवेस्टमेंट किया जाता है। ऑटोनॉमस ट्रक इस तरह की अर्थव्यवस्था को अधिक मजबूत बना सकते हैं। वहीं केंद्र सरकार ने हाल ही राष्ट्रीय रसद नीति भी शुरू की है। इसका उद्देश्य रसद पहुंचाने की लागत को कम करना और लॉजिसि्टक्स क्षेत्र में ज्यादा रोजगार के अवसर पैदा करना है। यहां ट्रक जंक्शन पर इस आर्टिकल में आपको रसद क्षेत्र में ऑटोनॉमस ट्रकों की उपयोगिता की पूरी जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। इसे ध्यान से पढें और शेयर करें।

स्वायत्त वाहनों के उपयोग से हुए ये सुधार

देश में एक स्थान से दूसरे स्थान पर माल की सप्लाई और ढुलाई करने में ऑटोनॉमस ट्रकों की बढ़ती संख्या से जो फायदे हो रहे हैं उनमें कंटेनर डिपो एवं वेयर हाउसिंग सेवाओं में सुधार सबसे महत्वपूर्ण है। वहीं इससे प्रोसेसिंग माल का संचालन आसान होता है। भारत को वर्ल्ड क्लास मैन्युफैक्चरिंग सेंटर बनाने में मदद मिल रही है। एक अध्ययन के अनुसार ऑटोनॉमस ट्रक बाजार का आकार  2027 तक 12.6 प्रतिशत दर से बढ़ कर 20,13. 34 मिलियन अमरीकी डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है।

26 ग्रीन एक्सप्रेस वे बनाए जाएंगे

भारत सरकार अगले तीन वर्षों मेंदेश में 26 ग्रीन एक्सप्रेस वे बनाने जा रही है। इसका खुलासा हाल ही केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने किया है। इससे स्वायत्त ट्रकों का नेटवर्क और तेजी से बढ़ेगा। वहीं शिपिंग बंदरगाहों पर भीड़ कम होगी।

देश में 2.2 मिलियन ट्रक ड्राइवरों की कमी

सेल्फ ड्राइविंग ट्रक देश की लॉजिसि्टक्स इनोनॉमी में अहम रोल सकते हैं वहीं इसे और अधिक प्रोत्साहित करने के लिए प्रशिक्षित ट्रक ड्राइवरों की संख्या बढ़ाना जरूरी है। वर्तमान में भारत में 2.2 मिलियन कुशल ट्रक ड्राइवरों की कमी चल रही है। इससे माल ढुलाई की कुल लागत पर भी असर पड़ रहा है।  

लोकेशन इंटेलीजेंस के साथ सुरक्षा भी महत्वपूर्ण

स्वायत्त ट्रकों को रसद सामग्री परिवहन का सबसे बेस्ट साधन माना जा रहा है लेकिन देखा जाए तो लोकेश इंटेलीजेंस के साथ पहले सुरक्षा को ज्यादा प्राथमिकता मिलनी चाहिए जो नहीं है। यदि सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली दुर्घटनाओं के आंकड़ों पर गौर करें तो 2020 में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़े बताते हैं कि नेशनल हाइवेज पर 116,000 से अधिक सड़क दुर्घटनाएं हुईं। इनमें 48,000 मौतें हुईं। मंत्रालय ने इन दुर्घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि ट्रैफिक मैनेजमेंट को आधुनिक प्रणालियों से  लैस किया जाएगा।

स्वचालित ड्राइविंग कितनी सुरक्षित

भारत सरकार ट्रकों से होने वाले लॉजिसि्टक्स कारोबार के लिए स्वचालित ड्राइविंग की भी बड़ी प्लानिंग कर रही है लेकिन इसके लिए सुरक्षा का मुद्दा सबसे ज्यादा चिंताजनक है। वहीं सरकार का यह भी मानना है कि ऐसे ट्रकों के लिए रूटिंग और नेविगेशन टूल आदि महत्वपूर्ण है। इस टैकनीक को ऑटोनॉमस ट्रकों पर प्रयोग करने में अभी समय लगेगा। इसके लिए ले आउट प्लान और कनेकि्टविटी की जानकारी, मौसम संबंधी डेटा आदि जरूरी हैं। वाहनों के वास्तविक सड़कों पर आने से पहले सभी हालातों में ड्राइव करने के लिए आवश्यक प्रशिक्षण आवश्यक है। ऑटोनॉमस ट्रकों के डिजायन पर भी अधिक फोकस करने की जरूरत है।

कैसे होगा लॉजिस्टक्स सेक्टर ज्यादा मजबूत ?

यह सच है कि वर्तमान में भारत में रसद क्षेत्र में सबसे ज्यादा रोल ऑटोनॉमस ट्रकों का ही है। लेकिन इसे और ज्यादा प्रभावशाली बनाने के लिए जरूरी हैं कि स्वायत्त ट्रकों के ड्राइवरों को और अधिक एक्सपर्ट बनाया जाए और नये ड्राइवरों के लिए नौकरी के अवसर खोले जाएं। लॉजिसि्टक्स कंपनियां मौजूदा ड्राइवरों को अधिक कुशल बनाने के लिए ट्रेनिंग सेंटर्स खोलने के क्षेत्र में इंवेस्टमेंट कर सकती हैं।

ऑटोनॉमस ट्रकों में ड्राइवर की क्या भूमिका

बता दें कि ऑटोनॉमस ट्रकों में सेल्फ ड्राइव होती है। इन ट्रकों में ड्राइवर को स्टीयरिंग कंट्रोल नहीं करना पड़ता। हाल ही में यूएस बेस्ड TuSimple ने  अपने ऑटोनॉमस ट्रक का पहला नो ह्ययूमन रोड टेस्ट पूरा किया है। यूएस-बेस्ड TuSimple ने इस टेस्ट में दावा किया है कि ये ट्रक 130 केएम की दूरी पर खुद चलने में कामयाब रहा। वहीं रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि सड़क पर मुशि्कलों को स्केन करने के लिए सबसे पहले एक लीड को व्हीकल को तैनात किया गया था। इससे हर 8 किलोमीअर की दूारी पर यह वाहन किसी भी तरह की दिक्कत के बारे में रिपोर्ट कर सकता था। ऑटोनॉमस ट्रक के इस ट्रॉयल में यह भी बात सामने आई कि दूसरे मोटर ड्राइवर के साथ यह सड़क पर बेहतर तरीके से चल सकता था। कंपनी का मानना है कि ऑटोनॉमस वाहनों में अन्य वाहनों की तुलना में 10 प्रतिशत कम ईंधन की खपत होती है।

आपको बता दें ट्रक जंक्शन हमेशा ही भारत में कमर्शियल व्हीकल्स से जुड़ी सभी अपडेट आप तक पहुंचाता है। भारत में नये मॉडल का पिकअप या ट्रक लॉन्च होते ही हम सबसे पहले आपके पास उसकी सभी स्पेसिफिकेशन्स और फीचर्स अपनी बेवसाइट के माध्यम से पहुंचाते है। भारत में लॉन्च होने वाले या लॉन्च हो चुके सभी ट्रकों के मॉडल और ट्रांसपोट से जुड़ी सभी खबरें ट्रक जंक्शन बेवसाइट पर रोजाना पोस्ट की जाती है। ट्रक जंक्शन आप तक ट्रकों की प्रमुख कंपनियां जैसे टाटा मोटर्स, महिंद्रा, अशोक लेलैंड और वोल्वो सहित कई कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट जिसमें ट्रकों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी आप तक पहुंचाता है। यदि आपने भी हमसे जुड़ने का मन बना लिया है तो आप हमसे हमारी इस ट्रक जंक्शन बेवसाइट के माध्यम से मासिक सदस्य के रूप में जुड़ सकते हैं।

क्या आप नया ट्रक खरीदना, डीज़ल ट्रकपेट्रोल ट्रक, इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस, अपना ट्रक चुनें व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर विजिट करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

ट्रक इंडस्टी से संबंधित नवीनतम अपडेट के लिए हमसे जुड़ें -

FaceBook - https://bit.ly/TruckFB
Instagram - https://bit.ly/TruckInsta
YouTube   - https://bit.ly/TruckYT

Tata Yodha 2.0

अन्य समाचार

टूल फॉर हेल्प

Tata Signa 1918K
Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक