ट्रांसपोर्ट बिजनेस 2021 : आसानी से शुरू करें ट्रांसपोर्ट व्यापार

News Date 02 Jul 2021

ट्रांसपोर्ट बिजनेस 2021 : आसानी से शुरू करें ट्रांसपोर्ट व्यापार

ट्रांसपोर्ट व्यापार  : इन बातों का रखेंगे ध्यान तो सफलता जरूर मिलेगी

भारत दुनिया दूसरा सबसे बड़ी आबादी वाला देश है और विश्व के विकसित देशों की निगाह भारतीय बाजारों पर बनी हुई है। भारतीयों की क्रय शक्ति को देखते हुए वे अपने उत्पाद भारत में बेचना चाहते हैं। इसके अलावा भारत में व्यापार-व्यवसाय लगातार बढ़ रहा है। कृषि सेक्टर, ट्रैक्टर इंडस्ट्री, ट्रक इंडस्ट्री, ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री सहित सैकड़ों तरह की इंडस्ट्री बिक्री के नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। सभी प्रकार के व्यवसायों में माल (goods) को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजने के लिए ट्रांसपोर्ट के साधनों की जरुरत होती है। ट्रांसपोर्ट बिजनेस से जुड़े लोग अच्छा खासा मुनाफा कमा रहे हैं और अपने ट्रांसपोर्ट व्यापार को लगातार आगे बढ़ा रहे हैं। कोरोना महामारी के समय में जब लोग नए बिजनेस के विकल्प तलाश रहे हैं तो उनके सामने ट्रांसपोर्ट व्यापार एक बेहतरीन विकल्प है। देश के सबसे तेजी से बढ़ते ऑनलाइन प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर आपको ट्रांसपोर्ट बिजनेस 2021 के बारे में उपयोगी जानकारी देने का प्रयास किया जा रहा है।


ट्रासंपोर्ट बिजनेस शुरू करने के लिए सबसे जरूरी बातें

अगर आप ट्रांसपोर्ट बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आपको कड़ी मेहनत के लिए तैयार रहना होगा। इसके अलावा आपको ज्यादा अच्छी खास रकम का भी इंतजाम करना होगा। साथ ही आपको अपनॉ ऑफिस और गोदाम के लिए जगह देखनी होगी। अगर आप शहर के बाजारों व इंडस्ट्री एरिया में अपना ऑफिस बनाते हैं तो आपको ग्राहकों का ज्यादा रेस्पांस मिलेगा। आपको ट्रांसपोर्ट गोदाम से माल पहुंचाने के लिए छोटे वाहनों जैसे थ्री व्हीलर, पिकअप, रिक्शा आदि की व्यवस्था करनी होगी और अच्छे सहयोगी रखने होंगे। साथ ही सभी सरकारी नियमों का पालन करना होगा। 


जानें, ट्रांसपोर्ट बिजनेस रजिस्ट्रेशन कैसे कराएं

नया ट्रांसपोर्ट बिजनेस शुरू करने से पहले आपको कुछ सरकारी प्रक्रियाओं की पूर्ति करनी होगी। आपको अपनी फर्म का रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन केंद्र सरकार द्वारा होता है। इसके अंतर्गत आपको शॉप एक्ट लाइसेंस, उद्योग आधार तथा जीएसटी नंबर की आवश्यकता होती है। इसके अलावा आप जिसे वाहन का उपयोग ट्रांसपोर्ट बिजनेस में करेंगे उसके रजिस्ट्रेशन सहित अन्य सभी कागजी कार्रवाई पूरी करनी होगी, जिससे वाहन को सडक़ पर चलते समय किसी प्रकार की कानूनी परेशान नहीं हो। 


ट्रांसपोर्ट बिजनेस फाइनेंस प्लानिंग

अगर आपको सफल ट्रांसपोर्ट बिजनेसमैन बनना है तो आपको अपनी फाइनेंस प्लानिंग भी करनी होगी। कोई भी ट्रांसपोर्ट कंपनी खोलने से पहले आपको यातायात के साधनों की जरूरत होगी। ट्रांसपोर्ट के प्रमुख वाहन ट्रक, पिकअप, थ्री व्हीलर, मिनी ट्रक, टिपर, ट्रांजिट मिक्सर, ट्रैक्टर हैं। आप अपने क्षेत्र की जरुरत के हिसाब से वाहन खरीद सकते हैं। वाहन खरीदने के लिए आपको सरकार से भी मदद मिल सकती है। क्योंकि ट्रांसपोर्ट बिजनेस के लिए लोन की सुविधा भी उपलब्ध है। ट्रांसपोर्ट बिजनेस शुरू करने के लिए आपको 80 फीसदी तक लोन सरकार से मिल जाता है। लेकिन यहां आपको एक निर्धारित सीमा में ही रहना पड़ता है जैसे कि आप ज्यादा से ज्यादा 10 वाहन ही खरीद सकते हैं।


भारत में ट्रांसपोर्ट व्यापार के प्रकार (Type of Transport Bussiness in India)

भारत में ट्रांसपोर्ट बिजनेस शुरू करने के लिए आप पार्शियल सर्विस और फुल लोड टाइप से अपना काम शुरू कर सकते हैं।

1. पार्शियल सर्विस

ट्रांसपोर्ट बिजनेस का यह मॉडल बहुत आसान है। आप महज 10 हजार रुपए की लागत से यह काम आरंभ कर सकते हैं, जिसकी प्रक्रिया नीचे उल्लेखित की गई है। 

  • जस्ट डायर डॉट कॉम : जस्ट डायल डॉटकॉम एक लोकप्रिय लोकल सर्च इंजन है। यहां आपको फोन करके शहर के लोग विभिन्न तरह के सर्विस आदि के विषय में जानकारी प्राप्त करते रहते हैं। इस डिजिटल प्लेटफार्म पर आपको अपनी ट्रांसपोर्ट फर्म के पंजीकरण कराने की आवश्यकता होती है और पंजीकरण के लिए आपको कुछ शुल्क भी चुकाना होता है। आप जस्ट डायल डॉटकॉम की सहायता से लीड्स अथवा अन्य जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।
  • ट्रांसपोर्ट कोड : इस मोड में ट्रांसपोर्ट बिजनेस करने के लिए आपको अपने शहर की विभिन्न लॉजिस्टिक्स कंपनियों से ट्रांसपोर्ट कोड प्राप्त करने की आवश्यकता होगी। उदाहरण के तौर पर आपको 500 किलो कोई सामान ट्रांसपोर्ट करना है, तो आपको अन्य लॉजिस्टिक्स कंपनियों से बात करने की आवश्यकता होगी। उनका ट्रांसपोर्ट किराया जानकर आप उसमें अपना कमीशन जोडक़र सीधे ग्राहक को कुल खर्च बता सकते हैं। इस प्रकार ग्राहक और लॉजिस्टिक कंपनी के बीच का लाभ आपका होगा। 

2. फुल लोड ट्रांसपोर्ट

  • आप अपने ट्रक को फुल लोड ट्रांसपोर्ट मोड में भी चला सकते हैं। यह काफी लाभ देने वाला व्यापार है। 
  • इस नए व्यापार को स्थापित करने के लिए शुरूआती 2-3 महीनों तक कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है। यह व्यापार शुरू करने के बाद सबसे पहले आपको अपने शहर के बड़े व्यापारियों, कार्पोरेट घरानों, मंडियों, औद्योगिक इकाइयों आदि जगह पर अपने विजिटिंग कार्ड देकर मिलना चाहिए और उन्हें ट्रांसपोर्ट के लिए माल भेजने का आग्रह करना चाहिए।  
  • साथ ही आपको ट्रांसपोर्ट संबंधित डायरेक्टरी प्राप्त करनी चाहिए। इस किताब में विभिन्न ट्रांसपोर्ट कंपनियों का ब्योरा होता है। जिसकी सहायता से आप आसानी से इन कंपनियों से संबंध स्थापित कर सकते हैं। 
  • इसके उपरांत आप जिस भी स्थान का सामान उठाते हैं, उस स्थान के ट्रांसपोर्ट कंपनियों का ब्योरा इस किताब से देखकर अपने व्यापार को अंजाम दे सकते हैं। बुकिंग के लिए आपको कमीशन एजेंट से बात करनी चाहिए। जिस भी ट्रांसपोर्ट कंपनी के साथ व्यापार करते हैं उनके साथ कमीशन की बात सबसे पहले स्पष्ट कर लेनी चाहिए। 
  • आपको सामान के लोडिंग व अनलोडिंग से संबंधित सभी बातें अपने ग्राहकों से पता करनी चाहिए। यदि ग्राहक लोडिंग अनलोडिंग का कार्य आपको देता है, तो यहां भी आपको पैसे कमाने का मौका प्राप्त हो सकता है।

 

ट्रांसपोर्ट सर्विस प्रोवाइडर बिजनेस से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण उद्योग 

  • एप्लीकेशन बेस्ड टैक्सी सर्विस : टेक्नोलॉजी के इस युग में एप्लीकेशन बेस्ट टैक्सी सर्विस की मांग सबसे ज्यादा है। आजकल लोग कहीं भी जाने से पहले अपने मोबाइल फोन से ओला अथवा उबर की टैक्सी बुक करते हैं, जो बहुत जल्द उन तक पहुंच जाती है। इसके बाद वे ग्राहकों को नियत स्थान पर पहुंचाकर पैसे कमाते हैें। आप अपनी कार को इन कंपनियों से जोडक़र ट्रांसपोर्ट का व्यापार कर सकते हैं। आप चाहें तो एक से अधिक कार भी इन कंपनियों से जोड़ सकते हैं। इन कारों को ख्रीदने के लिए आसानी से कार लोन भी उपलब्ध हो जाता है। 
  • रेंट पर कार : किराए पर कार चलाने का काम देश के सभी शहरों में बहुत अधिक चलता है। लोग कार किराए पर लेकर पर्यटन स्थल अथवा शहरों में चलाकर अच्छा लाभ कमाते हैं। इस व्यापार के लिए लोन भी प्राप्त किया जा सकता है। यदि आप किसी की गाड़ी किराए पर लेकर चलाना चाहते हैं, तो आपको अपने शहर में ही कई ऐसे लोग मिल जाएंगे जो अपनी गाड़ी प्रतिदिन के निश्चित किराए पर चलाने के लिए उपलब्ध कराते हैं। इसके लिए आपके पास गाड़ी चलाने का लाइसेंस और आईडी जैसे आधार कार्ड, वोटर आईडी आदि होना चाहिए।
  • कोल्ड चैन सर्विस : आप कार्गो अथवा कोल्ड चैन ट्रांसपोर्ट व्यापार के माध्यम से भी अच्छा पैसा कमा सकते हैं। कोल्ड चैन सर्विस में ऐसे सामानों का ट्रांसपोर्ट किया जाता है, जो तापमान की वजह से जल्द खराब हो जाते हैं। इस व्यापार में अधिक  पूंजी की आवश्यता होती है, किंतु इससे कमाई भी अधिक होती है। इस व्यापार में काम आने वाले वाहन की ऐसी बनावट होती है, जिसमें तापमान को संतुलित बनाए रखा जा सके।
  • लक्जरी बस सर्विस : भारत में धार्मिक  और पर्यटन स्थलों की कोई कमी नहीं है। लोग अपने परिवार व मित्र मंडली के साथ भ्रमण करने के लिए जाते रहते हैं। अगर आपकी भी घूमने-फिरने में ज्यादा रूचि है तो आप भी लक्जरी बस सर्विस के व्यापार को अपना सकते हैं। इसमें भी खूब लाभ होता है। आप अपने शहर से देश के महत्वपूर्ण पर्यटन व धार्मिक स्थलों के लिए बस चला सकते हैं। लेकिन इस सर्विस के लिए अधिक निवेश की आवश्यकता होती है। साथ ही आप अपने व्यापार के लिए पैकेजिंग टूर की स्थापना कर सकते हैं।
  • लॉजिस्टिक कंपनी : लॉजिस्टिक कंपनी की स्थापना करके भी अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है। देश में कई लॉजिस्टिक कंपनिया अच्छा कार्य करके शानदार मुनाफा कमा रही है। आप अपनी मेहनत के दम पर इसे बड़ा बना सकते है किंतु आरंभ में एक गाड़ी से भी शुरूआत की जा सकती है। 
  • पैकर्स और मूवर्स  : पैकर्स और मूवर्स का व्यापार छोटे शहरों में छोटी पूंजी के साथ स्थापित किया जा सकता है। इसकी स्थापना करना बहुत आसान है। देश के छोटे-बड़े हजारों शहरों में पैकर्स और मूवर्स कार्य करते हैं। इसके अंतर्गत कई पेशेवर और नौकरशाह अपने स्थान परिवर्तन के समय पैकर्स और मूवर्स का सहारा लेकर एक स्थान से दूसरे स्थान पर अपने सभी सामान को ले जाते हैं।

 

क्या आप नया ट्रक खरीदना या पुराना ट्रक बेचना चाहते हैं, किफायती मालाभाड़ा से फायदा उठाना चाहते हैं, ट्रक पर लोन, फाइनेंस, इंश्योरेंस व अन्य सुविधाएं बस एक क्लिक पर चाहते हैं तो देश के सबसे तेजी से आगे बढ़ते डिजिटल प्लेटफार्म ट्रक जंक्शन पर लॉगिन करें और अपने फायदे की हर बात जानें।

समान न्यूज

टूल फॉर हेल्प

Cancel

अपना सही ट्रक ढूंढें

नए ट्रक

ब्रांड्स

पुराना ट्रक